Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

धूल, मिट्टी और प्रदूषण के संपर्क में आने से चेहरे का ग्लो खोने लगता है। खासकर सेंसिटिव स्किन वाले लोग त्वचा को लेकर बेहद परेशान रहते हैं, क्योंकि सेंसिटिव स्किन अन्य स्किन के मुकाबले काफी नाजुक होती है। सेंसिटिव स्किन वाले लोग त्वचा पर किसी भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। सेंसिटिव स्किन पर एक्ने, रिंकल्स और इंफेक्शन बहुत जल्दी होता है, जिस वजह से इसकी अच्छे से देखभाल करने की जरूरत होती है। यही कारण है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम संवेदनशील त्वचा के घरेलू उपचार लेकर आए हैं, जिन्हें अपना कर सेंसिटिव स्किन की देखभाल आसानी से की जा सकती है।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले जान लेते हैं कि सेंसिटिव स्किन क्या होती है।

सेंसिटिव स्किन क्या होती है?

संवेदनशील त्वचा वो होती है, जिसमें अन्य त्वचा के मुकाबले जलन, खुजली, चुभन, झुनझुनी, रैशेज व खिंचाव अधिक महसूस होता है। यह सामान्य त्वचा वाले लोगों को भी हो सकती है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, सेंसिटिव स्किन को चेहरे के डर्मेटोज (dermatoses) जैसे कि रोसैसिया (चेहरे पर लालिमा या मवाद भरे छाले होना), एटोपिक डर्मेटाइटिस (त्वचा का लाल होना और खुजली होना) और सोरायसिस (खुजली और लाल चकत्तों के साथ त्वचा की ऊपरी परत का पपड़ीदार होना) के जरिए पहचाना जा सकता है (1)।

आगे पढ़ें

चलिए, अब संवेदनशील त्वचा के लक्षण के बारे में जानते हैं।

संवेदनशील त्वचा के लक्षण क्या हैं?- What are the symptoms of sensitive skin?

सेंसिटिव स्किन होना कोई गंभीर समस्या नहीं है। अगर सही समय पर इसकी पहचान की जाए, तो इसकी सही तरीके से केयर करके अच्छे से रखा जा सकता है। इसके लिए जरूरी है संवेदनशील त्वचा के लक्षण के बारे में जानकारी होना। आइए, जानते हैं इसके लक्षणों के बारे में (2) (1) –

  • त्वचा का लाल होना
  • स्किन पर चकत्ते या लाल धब्बे होना
  • स्किन का ड्राई होना
  • त्वचा पर खुजली होना
  • त्वचा का फूलना
  • त्वचा में झुनझुनी होना
  • रोसैसिया (चेहरे पर लालिमा या मवाद भरे छाले होना)
  • एटोपिक डर्मेटाइटिस (त्वचा का लाल होना व खुजली होना)
  • सोरायसिस (खुजली और लाल चकत्तों के साथ त्वचा की ऊपरी परत का पपड़ी बनना)

ऊपर बताए गए लक्षण कॉस्मेटिक्स के इस्तेमाल करने के कुछ देर बाद, धूप में निकलने पर या मौसम के परिवर्तन होने पर नजर आ सकते हैं।

बने रहें हमारे साथ

अब बारी है सेंसिटिव स्किन के कारणों के बारे में जानने की।

सेंसिटिव स्किन के कारण – Causes of Sensitive Skin in Hindi

संवेदनशील त्वचा के कई कारण हो सकते हैं। एनसीबीआई की ओर से उपलब्ध एक शोध के मुताबिक, एटोपिक डर्मेटाइटिस, रोसैसिया और एक्जिमा (त्वचा में खुजली और सूजन) सेंसिटिव स्किन के सामान्य कारण हैं (3)। इसके अलावा कई अन्य कारण भी होते हैं, जिनकी वजह से त्वचा सेंसिटिव हो सकती है। नीचे हम क्रमवार तरीके से सेंसिटिव स्किन के कारणों की चर्चा कर रहे हैं।

  • हॉर्मोनल बदलाव के कारण भी स्किन सेंसिटिव हो सकती है।
  • संवेदनशील त्वचा होने का एक कारण तनाव भी माना जा सकता है।
  • सूर्य की हानिकारक किरणें (यूवी किरण)।
  • त्वचा को ज्यादा देर तक स्क्रब करते रहना।
  • केमिकल युक्त पदार्थों का इस्तेमाल।
  • जेनेटिक यानी अगर माता-पिता की स्किन सेंसिटिव है, तो उनके बच्चों की त्वचा भी संवेदनशील हो सकती है।
  • मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल न करना।
  • सिंथेटिक, नायलॉन व पॉलिएस्टर जैसे कपड़ों का इस्तेमाल।

अंत तक पढ़ें लेख

अब बारी है संवेदनशील त्वचा के घरेलू उपचार के बारे में जानने की।

सेंसिटिव स्किन के लिए घरेलू उपाय – 7 Effective Home Remedies For Sensitive Skin in Hindi

अन्य त्वचा के मुकाबले संवेदनशील त्वचा का ख्याल रखना थोड़ा मुश्किल होता है। ऐसी त्वचा पर किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल तुरंत प्रभावित कर सकता है। ऐसे में घरेलू उपायों को सेंसिटिव स्किन केयर रूटीन में शामिल किया जा सकता है। जैसा कि हमने लेख की शुरुआत में ही बताया कि सेंसिटिव स्किन के कई कारण हो सकते हैं। इसलिए, लेख में बताए गए घरेलू उपायों को अपनाने से पहले एक बार पैच टेस्ट करके यह सुनिश्चित अवश्य कर लें कि कहीं आपको इससे एलर्जी तो नहीं। तो चलिए हम आपको बताते हैं सेंसिटिव स्किन की केयर कैसे करें।

1. नारियल तेल

सामग्री :

  • नारियल का तेल- 2 से 3 चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले शुद्ध नारियल के तेल को अपनी हथेलियों पर लें।
  • इसके बाद इसे अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • 20 मिनट बाद त्वचा को धो लें या फिर इसे लगाए भी रख सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

संवेदनशील त्वचा के लिए नारियल के तेल के फायदे कई सारे हो सकते हैं। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, नारियल के तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जो सूजन और बैक्टीरिया से लड़ने में त्वचा की मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, नारियल का तेल एटॉपिक डर्मेटाइटिस (त्वचा का लाल होना और खुजली होना) जैसी समस्याओं में फायदेमंद हो सकता है। यही नहीं, नारियल का तेल त्वचा की जलन को शांत करने के साथ-साथ उसमें नमी बनाए रखने में भी मदद कर सकता है (4)। ये सभी गुण संवेदनशील त्वचा के लिए लाभकारी हो सकते हैं।

2. एलोवेरा

सामग्री :

  • एलोवेरा के पत्ते – 2 से 3

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले एलोवेरा के पत्तों को काटकर उसके जेल को निकाल लें।
  • अब इस जेल को सोने से पहले त्वचा पर लगाएं और रात भर के लिए छोड़ दें।
  • फिर सुबह उठकर पानी से चेहरे को धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

त्वचा के लिए एलोवेरा के फायदे कई सारे हैं। एक शोध के मुताबिक एलोवेरा त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं जैसे- सेबोरिक डर्मेटाइटिस (स्कैल्प पर लाल खुजलीदार पैच का होना), सोरायसिस (खुजली और लाल चकत्तों के साथ त्वचा की ऊपरी परत का पपड़ीदार होना), स्किन बर्न, स्किन इंफेक्शन आदि में फायदेमंद साबित हो सकता है (5)।

सावधानी: एलोवेरा में पाया जाने वाला एलोइन (पीले या भूरे रंग का तरल पदार्थ) कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। खासकर कर सेंसिटिव स्किन वाले लोगों में यह जलन, चुभन, लालिमा और सूजन का कारण बन सकता है (5)। इसलिए एलोवेरा का उपयोग एलोइन को बाहर निकाल कर ही करें। इसके लिए जब आप एलोवेरा के पत्तों को काटे तब उसे नीचे की ओर झुका दें। इससे एलोइन नीचे गिर जाएगा।

3. केला

सामग्री :

  • केले का छिलका – एक
  • शहद- एक चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले केले के छिलके को पीस लें और फिर उसमें शहद मिलाएं।
  • जब यह मिश्रण अच्छे से मिल जाए को इसे अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • 15 मिनट तक इस पैक को त्वचा पर रखने बाद उसे अच्छे से धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

अन्य त्वचा के मुकाबले संवेदनशील त्वचा का ख्याल रखना थोड़ा कठिन माना जाता है। ऐसी त्वचा पर हल्की सी गंदगी भी किसी बड़ी समस्या का कारण बन सकती है। इसलिए इसे साफ रखना बेहद जरूरी है। ऐसे में सेंसिटिव स्किन केयर रूटीन में केले के छिलके को शामिल करना फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, केले का इस्तेमाल चेहरे पर चमक लाने के लिए किया जा सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, जो डिटॉक्सिफायर के रूप में काम करते हैं। यह त्वचा से विषाक्त पदार्थ और डेड स्किन को निकालने में मदद कर सकता है। जिससे गहराई से त्वचा की सफाई होती है (6)। इसके अलावा केला सूर्य की किरणों से होने वाले मुंहासे, जलन और बैक्टीरिया से भी त्वचा की रक्षा कर सकता है (7)। वहीं, शहद त्वचा को नमी देने के साथ-साथ इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकता है (8)।

4. ग्रीन टी

सामग्री :

  • ग्रीन टी बैग- 1 से 2
  • शहद – 1 से 2 बूंद

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले एक पैन में पानी लें फिर इसमें टी बैग डालें और दोनों को उबालें।
  • जब यह अच्छे से उबल जाए तो इसे ठंडा होने के लिए रख दें।
  • फिर इसमें दो बूंद शहद मिलाएं।
  • इसके बाद कॉटन की मदद से इसे अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • 10 मिनट तक इसे अपनी त्वचा पर रखने के बाद चेहरे को पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

संवेदनशील त्वचा से जुड़े कई लक्षणों में ग्रीन टी के फायदे देखे जा सकते हैं। एनसीबीआई में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, रोसैसिया (चेहरे पर लालिमा या मवाद भरे छाले होना), मुंहासों, एटॉपिक डर्मेटाइटिस (त्वचा का लाल होना और खुजली होना) आदि में ग्रीन टी के अर्क का इस्तेमाल प्रभावी पाया गया है (9)। वहीं, एक अन्य शोध में यह बताया गया है कि ग्रीन टी में एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन से लड़ने में त्वचा की मदद करते हैं। वहीं, अन्य त्वचा विकारों में भी ग्रीन टी का उपयोग किया जा सकता है (10)।

5. आंवला

सामग्री :

  • आंवले का रस – एक चम्मच
  • शहद- एक चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले आंवले के रस में शहद को अच्छे से मिला लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण को त्वचा पर लगाएं।
  • फिर 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

सदियों से आंवले का उपयोग त्वचा और स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के लिए किया जाता रहा है। बता दें कि आंवले में एंटी इंफ्लामेटरी (सूजन से लड़ने वाला), एंटी फंगल (फंगल से लड़ने वाला), एंटी बैक्टीरियल (बैक्टीरिया से लड़ने वाले) गुण मौजूद होते हैं (11)। ये सभी गुण संवेदनशील त्वचा की रक्षा करने में मदद कर सकते हैं। यही कारण है कि सेंसिटिव स्किन केयर रूटीन में आंवले को शामिल करना लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

6. खीरा

सामग्री :

  • खीरा (कद्दूकस किया हुआ)- एक चम्मच
  • एलोवेरा – एक चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले एक कटोरी में कद्दूकस किया हुआ खीरा और एलोवेरा जेल को अच्छे से मिला लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण को त्वचा पर लगाएं।
  • फिर 20 मिनट बाद जब यह सूख जाए तो पानी से चेहरे को साफ कर लें।

कैसे है फायदेमंद:

स्वास्थ्य के अलावा त्वचा के लिए खीरे का इस्तेमाल बेहद लाभकारी माना जा सकता है। एनसीबीआई के एक शोध के अनुसार, खीरा त्वचा से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद कर सकता है, जिससे चेहरे की सफाई होती है। इसके अलावा खीरा त्वचा की जलन और सूजन को कम करने में सहायक हो सकता है (12)। बता दें कि त्वचा में जलन और सूजन सेंसिटिव स्किन के लक्षणों में शामिल है।

7. गुलाब जल

सामग्री :

  • गुलाब जल- एक से दो चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • गुलाब जल को कॉटन की मदद से चेहरे पर लगाएं।
  • 20 मिनट बाद त्वचा को धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

सेंसिटिव स्किन वाले लोग गुलाब जल का इस्तेमाल बेझिझक कर सकते हैं। इससे जुड़े एक शोध में इस बात की पुष्टि मिलती है कि संवेदनशील त्वचा के लिए गुलाब जल एक टॉनिक के रूप में कार्य कर सकता है। यही नहीं, यह स्किन रेडनेस को भी कम करने में मदद कर सकता है (13)।

जुड़े रहें हमारे साथ

सेंसिटिव स्किन की देखभाल के लिए आइए जानते हैं, कुछ और फेस पैक के बारे में।

सेंसिटिव स्किन के लिए कुछ और फेस पैक

संवेदनशील त्वचा के घरेलू उपचार के बाद यहां हम सेंसिटिव स्किन केयर इन विंटर के लिए कुछ और फेस पैक बता रहे हैं, जिसका इस्तेमाल सेंसिटिव स्किन की देखभाल के लिए किया जा सकता है। जानें अन्य फेस पैक-

1. आलू फेस पैक

सामग्री:

  • आलू- एक
  • शहद- एक चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले आलू को उबाल कर पीस लें।
  • इसके बाद इसमें शहद मिला कर एक अच्छा मिश्रण तैयार करें।
  • अब इस पैक को चेहरे पर लगाएं।
  • 15 मिनट तक इसे त्वचा पर रखने के बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

सेंसिटिव स्किन वाले लोग फेस पैक के लिए आलू का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल, इसमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होता है, जो सूजन से लड़ने में त्वचा की मदद कर सकता है (14)। वहीं, आलू में विटामिन सी प्रचुर मात्रा पाया जाता है (15)। बता दें कि विटामिन सी सूजन और एलर्जी की समस्या से भी निजात दिलाने में मदद कर सकता है (16)

2. खीरा फेस पैक

सामग्री:

  • खीरा – आधा
  • हल्दी- एक चुटकी
  • नींबू का रस – एक चम्मच

उपयोग का तरीका:

  • सबसे पहले खीरे को मैश करके पेस्ट तैयार करें।
  • अब इसमें हल्दी और नींबू का रस डालकर अच्छे से मिला लें।
  • इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

संवेदनशील त्वचा के लिए खीरा क्या काम कर सकता है, इसकी जानकारी तो हम दे ही चुके हैं। वहीं, अगर बात करें हल्दी की तो त्वचा के लिए हल्दी के फायदे भी कई सारे हैं। दरअसल, हल्दी में करक्यूमिन नामक कंपाउंड पाया जाता है। जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन से लड़ने वाला), एंटी-बैक्टीरियल (बैक्टीरियाओं से लड़ने वाला) एंटीऑक्सीडेंट (फ्री रेडिकल्स से त्वचा की रक्षा करने वाला) गुण मौजूद होते हैं। यही नहीं, हल्दी सोरायसिस और त्वचा को संक्रमण से भी बचाने में मदद कर सकता है (17)।

3. हल्दी और शहद

सामग्री:

  • हल्दी – आधा चम्मच
  • शहद – एक चम्मच

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले हल्दी और शहद को अच्छे से मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें।
  • अब इस मिश्रण को त्वचा पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद साफ पानी से चेहरे को धो लें।

कैसे है फायदेमंद:

संवेदनशील त्वचा के लिए भी शहद के फायदे देखे जा सकते है। दरअसल, शहद में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया और सूजन से लड़ने में त्वचा की मदद कर सकते हैं। इसके अलावा शहद त्वचा में नमी भी बनाए रख सकता है, जिससे स्किन ड्राई नहीं होती है (18)। वहीं, सोरायसिस (खुजली और लाल चकत्तों के साथ त्वचा की ऊपरी परत का पपड़ीदार होना) की समस्या में भी शहद लाभकारी साबित हो सकता है (19)। वहीं, हल्दी के फायदों के बारे में हम बता ही चुके हैं।

नीचे स्क्रॉल करें

आगे जानें सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को कौन-कौन से पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए।

सेंसिटिव स्किन के लिए आहार – Diet for Sensitive Skin in Hindi

हमारे खान-पान का असर हमारी त्वचा पर भी पड़ता है। इसलिए सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, जो त्वचा के लिए नुकसानदायक साबित हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, सेंसिटिव स्किन की देखभाल के लिए क्या खाना चाहिए।

  • विटामिन सी– सेंसिटिव स्किन की देखभाल के लिए विटामिन सी बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। यह सूर्य की हानिकारक किरणों से त्वचा की रक्षा करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा विटामिन सी स्किन टोन में सुधार करने के साथ-साथ त्वचा के ढीलापन को भी कम करने में मदद कर सकता है। वहीं, विटामिन सी सूजन और एलर्जी की समस्या से भी निजात दिलाने में मदद कर सकता है (16)।
  • विटामिन ई– सेंसिटिव स्किन के लिए विटामिन ई का इस्तेमाल भी कई मायनों में लाभकारी माना जा सकता है। यह त्वचा को एटॉपिक डर्मेटाइटिस (त्वचा से जुड़ी सूजन की समस्या) जैसी समस्याओं से बचाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा विटामिन ई एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है, जो फ्री रेडिकल्स से होने वाली क्षति से त्वचा की रक्षा करने में मदद कर सकता है (20)।
  • ओमेगा 3 फैटी एसिड– सेंसिटिव स्किन वाले ओमेगा 3 फैटी एसिड को भी अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। दरअसल, ओमेगी 3 डर्मेटाइटिस (त्वचा में सूजन, खुजली, जलन और लाल चकत्ते होना) में लाभकारी साबित हो सकता है (21)।

बने रहें हमारे साथ

चलिए, अब जान लेते हैं संवेदनशील त्वचा के लिए इलाज कौन से हैं।

सेंसिटिव स्किन के लिए इलाज – Treatment For Sensitive Skin in Hindi

सेंसिटिव स्किन का इलाज उसके कारणों और लक्षणों के आधार पर किया जा सकता है। इसके लिए डॉक्टर कई प्रकार की दवाएं देते हैं, जिसकी मदद से इससे छुटकारा पाया जा सकता है। नीचे हम ऐसी ही कुछ दवाओं का जिक्र कर रहे है, जिसका इस्तेमाल संवेदनशील त्वचा के लिए किया जाता है। वहीं, यहां हम पाठकों को स्पष्ट कर देना चाहते हैं, कि किसी भी दवा का प्रयोग बिना डॉक्टरी सलाह के न करें।

  • स्टेरॉयड क्रीम– संवेदनशील त्वचा के लिए स्टेरॉयड क्रीम के इस्तेमाल की सलाह दी जा सकती है। यह सूजन और खुजली को कम करने में काफी मददगार साबित हो सकता है। इसका उपयोग तब तक किया जा सकता जब तक की लक्षण दूर न हो जाए (22)।
  • सनस्क्रीन– सेंसिटिव स्किन के लिए सनस्क्रीन एक बेहतर इलाज माना जाता है। यह हानिकारक किरणों से त्वचा की रक्षा कर सकता है। बता दें कि यूवीए और यूवीबी किरणें दोनों ही सनबर्न, एरिथेमा और सूजन का कारण बन सकते हैं (23)।
  • एंटीहिस्टामाइन – संवेदनशील त्वचा के लिए एंटीहिस्टामाइन इस्तेमाल करने की भी सलाह दी जाती है। यह खुजली और एलर्जी से त्वचा की रक्षा करने में मदद कर सकता है (24)।
  • मॉइस्चराइजर– मॉइस्चराइजर त्वचा की नमी बनाए रखने में मदद कर सकता है। इससे स्किन ड्राई यानी रूखी होने से बचाती है (2)। जैसा कि हमने लेख में बताया है कि त्वचा का रूखा होना भी सेंसिटिव स्किन के कारणों में से एक है।

पढ़ते रहें लेख

अब हम बताएंगे कि सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को डॉक्टर से कब संपर्क करना चाहिए।

सेंसिटिव स्किन के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

त्वचा का संवेदनशील होना कोई गंभीर समस्या नहीं है। इसके कई कारण हो सकते है। लेख में हमने इन कारणों की चर्चा भी की है। वहीं, हमने इसके लक्षणों के बारे में भी बताया है। अगर लक्षण सामान्य हो तो सही देखभाल से ही यह ठीक हो सकता है। वहीं, अगर दिन-प्रतिदिन लक्षणों में कोई सुधार न हो और वे गंभीर होते जाए तो डॉक्टर से सलाह लेने में देरी नहीं करनी चाहिए।

अभी बाकी है जानकारी

अब जानेंगे सेंसिटिव स्किन से बचाव के उपायों के बारे में।

सेंसिटिव स्किन से बचाव के उपाय – Prevention Tips For Sensitive Skin in Hindi

अन्य त्वचा के मुकाबले संवेदनशील त्वचा पर किसी भी चीज का अधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में उन्हें खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। इसलिए यहां हम कुछ ऐसे उपायों का जिक्र कर रहे हैं, जिनकी मदद से सेंसिटिव स्किन से बचाव किया जा सकता है।

  • सेंसिटिव स्किन वाले लोग किसी भी नए प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्ट अवश्य करें।
  • ऐसे कपड़ों को पहनने से बचें, जिससे किसी भी प्रकार की एलर्जी हो।
  • त्वचा के लिए हमेशा हर्बल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने की कोशिश करें।
  • त्वचा को रूखा न होने दें, उस पर मॉइश्चराइजर लगाते रहें।
  • अल्कोहल युक्त पदार्थों के इस्तेमाल से बचें।

स्क्रॉल करें

आगे हम कुछ और टिप्स बता रहे हैं, जो संवेदनशील त्वचा के लिए लाभकारी हो सकते हैं।

सेंसिटिव स्किन के लिए कुछ और टिप्स – Other Tips For Sensitive Skin Care in Hindi

सेंसिटिव स्किन की देखभाल करने में थोड़ी परेशानी जरूर होती है। वहीं, अगर अपने स्किन केयर रूटीन में ही कुछ बातों का ध्यान रख लिया जाए तो ये परेशानी भी हल हो सकती है। इसलिए हम कुछ ऐसे बेहतरीन टिप्स बता रहे हैं, जो सेंसिटिव स्किन के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकते हैं।

  • सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को हमेशा पानी पीते रहना चाहिए।
  • जिनकी त्वचा संवेदनशील है, उन्हें स्किन को नमी प्रदान कराते रहना चाहिए।
  • संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को केमिकल युक्त डियोडरेंट के इस्तेमाल से बचना चाहिए।
  • सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को गुनगुने पानी से नहाना चाहिए।
  • इसके अलावा ऐसे लोगों को केमिकल युक्त और डिटर्जेंट के प्रयोग से भी परहेज करना चाहिए।
  • जिनकी स्किन सेंसिटिव होती है, उन्हें अपनी त्वचा को रगड़ने से बचना चाहिए।
  • संवेदनशील त्वचा के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है, उन्हें धूप के सीधे संपर्क में आने से बचना चाहिए।

त्वचा का संवेदनशील होना कोई गंभीर समस्या नहीं है। इस प्रकार की त्वचा को बस जरूरत होती है खास देखभाल की। इस लेख में हमने सेंसिटिव स्किन की केयर कैसे करें, इसकी विस्तारपूर्वक जानकारी दी है। अगर इसके सामान्य लक्षण दिखते हैं, तो घरेलू उपचार से ही इसे ठीक किया जा सकता है। वहीं, अगर स्थिति गंभीर दिखने लगे तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए। हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

संवेदनशील त्वचा से छुटकारा कैसे पाएं?

संवेदनशील त्वचा से छुटकारा पाने के लिए लेख में बताए गए घरेलू उपायों और टिप्स को अपना सकते हैं।

मेरी त्वचा स्पर्श के प्रति संवेदनशील क्यों है?

आपकी त्वचा अगर स्पर्श के प्रति संवेदनशील हैं, तो इसके कई कारण हो सकते है। कभी-कभी इसके पीछे का कारण कोई बीमारी भी हो सकती है जैसे- हाइपरस्टीसिया (Hyperesthesia) (25)।

क्या संवेदनशील त्वचा के लिए विटामिन सी अच्छा है?

हां, संवेदनशील त्वचा के लिए विटामिन सी अच्छा है।

क्या संवेदनशील त्वचा के लिए पैराबेन खराब है?

हां, संवेदनशील त्वचा के लिए पैराबेन खराब है।

क्या संवेदनशील त्वचा के लिए चीनी का इस्तेमाल कर सकते हैं?

हां, संवेदनशील त्वचा के लिए चीनी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सेंसिटिव स्किन केयर इन विंटर के लिए क्या कर सकते हैं?

सेंसिटिव स्किन केयर इन विंटर के लिए लेख में बताए गए उपायों को अपना सकते हैं।

सेंसिटिव स्किन केयर इन समर के लिए क्या कर सकते हैं?

सेंसिटिव स्किन केयर इन समर के लिए भी लेख में बताए गए उपायों को अपना सकते हैं।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Sensitive skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26805416/
  2. Sensitive skin: review of an ascending concept
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5595600/#:~:text=INTRODUCTION,without%20a%20visible%20clinical%20manifestation.
  3. The Sensitive Skin Syndrome
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3519246/#ref28
  4. In vitro anti-inflammatory and skin protective properties of Virgin coconut oil
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6335493/#:~:text=Traditionally%2C%20coconut%20oil%20is%20used,used%20in%20treatment%20of%20xerosis.
  5. Aloe Vera: A Short Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  6. Antioxidant activity of combination banana peel (Musa paradisiaca) and watermelon rind (Citrullus vulgaris) extract in lotion dosage form
    https://www.researchgate.net/publication/315946822_Antioxidant_activity_of_combination_banana_peel_Musa_paradisiaca_and_watermelon_rind_Citrullus_vulgaris_extract_in_lotion_dosage_form
  7. Preparation and Evaluation of Poly Herbal Fruit Face Mask
    http://www.questjournals.org/jrps/papers/vol2-issue11/B2110713.pdf
  8. Honey in dermatology and skin care: a review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24305429/
  9. Green tea in dermatology
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23346663/#:~:text=Topical%20application%20of%20green%20tea,%2C%20cutaneous%20leishmaniasis%2C%20and%20candidiosis.
  10. Green tea and skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10926734/
  11. Nutritional And Health Care Benefits Of Amla
    https://bioinfopublication.org/files/articles/3_2_27_JP.pdf
  12. Phytochemical and therapeutic potential of cucumber
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23098877/#:~:text=Cucumber%20has%20a%20cleansing%20action,and%20alleviate%20the%20 sunburns%20pain.
  13. A Brief Review On Therapeutic Effects Of “Ornamental Plant” Rose
    https://ijapr.in/index.php/ijapr/article/view/816/711
  14. Anti-inflammatory properties of potato glycoalkaloids in stimulated Jurkat and Raw 264.7 mouse macrophages
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23454444/
  15. Potatoes, raw, skin
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/170032/nutrients
  16. The Roles of Vitamin C in Skin Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579659/
  17. Evidence of curcumin and curcumin analogue effects in skin diseases: A narrative review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30073647/
  18. Honey in dermatology and skin care: a review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24305429/
  19. Evidence for Clinical Use of Honey in Wound Healing as an Anti-bacterial, Anti-inflammatory Antioxidant and Antiviral Agent: A Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3941901/
  20. Vitamin E in dermatology
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4976416/#:~:text=in%20which%2096%20atopic%20dermatitis,of%20IgE%20in%20atopic%20subjects.
  21. Cosmetic and Therapeutic Applications of Fish Oil’s Fatty Acids on the Skin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6117694/
  22. Eczema: Steroids and other topical medications
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK424899/
  23. Sunscreening Agents
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3543289/
  24. Antihistamines and allergy
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5895478/
  25. A study of the effect of desensitization on hyperaesthesia in the hand and upper extremity after injury or surgery
    https://journals.sagepub.com/doi/10.1258/ht.2010.010023
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Kavita Singh

Kavita Singhब्यूटी एंड लाइफस्टाइल राइटर

कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल से अपने करियर की शुरुआत की थी। उसके बाद कविता ने ऑनलाइन मीडिया की तरफ रुख किया और विभिन्न मीडिया संस्थानों में कंटेंट राइटर के तौर पर अपनी सेवाएं देती रहीं। इन्हें अपने पसंदीदा विषय त्वचा और बालों की देखभाल...read full bio