Dr. Zeel Gandhi, BAMS
Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

हर किसी का सपना होता है कि वो खूबसूरत और जवां दिखे, लेकिन शरीर में असमय आए कुछ बदलाव सुंदरता को बिगाड़ देते हैं। उम्र से पहले बालों का सफेद होना भी ऐसी ही एक समस्या है। आधुनिक और खराब जीवनशैली के कारण बालों की यह सफेदी कम उम्र में दिखने लगती है। इस सफेदी को छुपाने के लिए लोग बालों पर कलर लगाते हैं, जिसके कारण कई बार एलर्जी व अन्य नुकसान का खतरा बना रहता है। इसी वजह से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार के बारे में बता रहे हैं। लेख में मौजूद सारी जानकारी वैज्ञानिक अध्ययनों पर आधारित है।

शुरू करते हैं लेख

सफेद बालों के लिए घरेलू उपाय बताने से पहले हम बाल सफेद होने के कारण बता रहे हैं।

सफेद बाल होने के कारण – What Causes White Hair in Hindi

उम्र के साथ-साथ बालों का पिगमेंट यानी रंग फीका पड़ता जाता है, जिसके कारण बाल सफेद होने लगते हैं (1)। इसके कुछ अन्य कारण के बारे में नीचे जानते हैं।

  • आनुवंशिकता: असमय बाल सफेद होने का एक कारण आनुवंशिकता भी है। यह कारक निर्धारित करता है कि उम्र के किस पड़ाव में आकर बालों में पिगमेंट की कमी होनी शुरू होगी।
  • पोषक तत्व की कमी- बालों के सफेद होने का एक कारण पोषक तत्वों की कमी भी हो सकता है। खासकर विटामिन की कमी से बाल सफेद हो सकते हैं। इसके अलावा, क्लोरोक्वीन 8-1 जैसी दवाएं भी सफेद बालों के लिए जिम्मेदार हैं (2)
  • चिकित्सीय स्थिति : थायराइड, ऑटोइम्यून डिसऑर्डर और विटिलिगो (सफेद दाग) के कारण भी बालों के सफेद होने के आसार बढ़ जाते हैं  (2)
  • तनाव : बाल सफेद होने का एक कारण तनाव भी है। तनाव से शरीर बुरी तरह प्रभावित होता है, जिसका एक नकारात्मक प्रभाव बालों का सफेद होना भी है (3)
  • रसायन : रसायन युक्त शैम्पू, साबुन व हेयर डाई आदि का उपयोग बाल सफेद होने का कारण बन सकते हैं। यह समस्या एलर्जी की वजह से भी हो सकती है (2)

पढ़ते रहें

आगे हम जानेंगे उन घरेलू उपायों के बारे में, जो बालों को असमय सफेद होने से रोक सकते हैं।

सफेद बालों का घरेलू उपाय– Home Remedies for White Hair in Hindi

बालों को सफेद होने से बचाने के लिए कई लोग डाई और दवाओं का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इनके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। ऐसे में इससे बचाव के लिए घर में मौजूद सामग्रियों से बाल काले करने का तरीका अपनाया जा सकता हैं :

1. आंवला

सामग्री:

  • तीन से चार आंवला
  • एक कप नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • आवंलों को धोकर छोटा-छोटा काट लें।
  • अब नारियल के तेल के साथ कटे हुए आंवलों को 10 मिनट तक उबालें।
  • 10 मिनट बाद किसी जार में इस मिश्रण को रख दें।
  • रोजाना दो चम्मच इस मिश्रण से स्कैल्प की मसाज करें।
  • लगभग एक-दो घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें।
  • हफ्ते में दो-चार बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है लाभदायक:

सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार के तौर पर आंवला का उपयोग किया जा सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी एंड इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर पब्लिश वैज्ञानिक रिसर्च में भी इस बात का जिक्र है। रिसर्च के मुताबिक, आंवला को सालों से ट्रेडिशनल मेडिसीन के रूप में बालों के पिगमेंटेशन यानी प्राकृतिक रंग को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है (4)

दूसरे वैज्ञानिक शोध के अनुसार, आंवला में विटामिन-सी की भरपूर मात्रा होती है। इस विटामिन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट असमय बालों के सफेद होने की परेशानी को कम कर सकता है। इसके अलावा, आंवला का तेल भी बालों को सफेद होने से बचा सकता है (5)। इसी वजह से माना जाता है कि बालों के कुदरती रंग को बनाए रखने में आंवला सहायक है

2. करी पत्ता

सामग्री:

कैसे करें इस्तेमाल

  • नारियल तेल के साथ करी पत्तों को 10 मिनट तक उबालें।
  • अब तेल को छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  • फिर तेल से स्कैल्प की अच्छी तरह मसाज करें।
  • एक से दो घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें।
  • हफ्ते में दो से चार बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

कैसे है लाभदायक:

सफेद बालों के घरेलू इलाज के तौर पर करी पत्तियों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस संबंध में पब्लिश एक मेडिकल रिसर्च में दिया हुआ है कि करी पत्ते बालों के रंग को बरकरार रखने व बालों को असमय सफेद होने से रोकने में मदद कर सकते हैं (6)। इतना ही नहीं, करी पत्ता हेयर कलरिंग एजेंट की तरह भी कार्य कर सकता है। करी पत्ता पाउडर से बालों को भूरा रंग मिल सकता है (7)

3. मेंहदी और कॉफी

सामग्री:

  • पांच चम्मच मेंहदी पाउडर
  • एक चम्मच कॉफी पाउडर
  • एक कप पानी

कैसे करें इस्तेमाल:

  • कॉफी पाउडर को पानी में अच्छी तरह मिला लें।
  • अब घुली हुई कॉफी को हिना पाउडर में मिलाएं।
  • अब यह मिश्रण स्कैल्प और बालों पर लगा लें
  • तीन-चार घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • इस मिश्रण को तीन हफ्तों में एक बार लगाएं।

कैसे है लाभदायक:

सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए हिना (मेंहदी) और कॉफी का मिश्रण प्रभावी साबित हो सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, मेंहदी और कॉफी में हेयर कलरिंग एक्शन यानी बालों को रंगने वाला प्रभाव होता है। इन दोनों को मिक्स करके सफेद बालों को डाई करने में मदद मिल सकती है (8)। ऐसे में केमिकल युक्त कलर की जगह मेंहदी और कॉफी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

4. नारियल का तेल और नींबू का रस

सामग्री:

  • दो चम्मच नारियल का तेल
  • दो चम्मच नींबू का रस

कैसे करें इस्तेमाल:

  • नारियल के तेल को नींबू के रस के साथ हल्का गर्म कर लें।
  • अब इस मिश्रण को स्कैप्ल और बालों पर लगाएं।
  • 30 मिनट बाद बालों को शैंपू से धो लें।
  • हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

कैस है लाभदायक:

एक रिसर्च के मुताबिक, नारियल तेल की मालिश करने से स्कैल्प के रक्त संचार में सुधार होता है। इससे बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने और बालों के सफेद होने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद मिल सकती है (9)। वहीं, नींबू का रस रूसी की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है, जिससे बाल और स्कैल्प दोनों स्वस्थ रहते हैं(10)

5. काली चाय (ब्लैक टी)

सामग्री:

  • दो चम्मच ब्लैक टी
  • एक कप पानी

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक कप पानी में ब्लैक टी को 10 मिनट तक उबालें।
  • इसके बाद ब्लैक टी को ठंडा होने के लिए रख दें।
  • अब इसे अपने स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह लगाएं और कुछ मिनट तक मसाज करें।
  • लगभग एक घंटे तक ब्लैक टी को बालों पर लगा रहने दें।
  • एक घंटे बाद बालों को शैंपू से धोकर कंडीशनर लगा लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो से तीन बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक:

असमय सफेद होने वाले बालों की समस्या से निजात पाने के लिए ब्लैक टी का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल, ब्लैक टी में फेनॉल्स, फ्लेवोनॉइड्स, गैलिक एसिड, कैफिन और कैटेचिन जैसे कई तत्व होते हैं। ये सब मिलकर बालों को गहरा रंग देने के साथ ही स्कैल्प इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकते हैं (11)। इसमें मौजूद गैलिक एसिड को खास बालों को काला करने के लिए जाना जाता है, जिस वजह से हेयर डाई बनाते समय भी इस्तेमाल किया जाता है (12)

6. अरंडी का तेल और नारियल तेल

सामग्री: 

  • एक चम्मच अरंडी का तेल
  • दो चम्मच नारियल तेल

उपयोग की विधि:

  • अरंडी के तेल में नारियल तेल को मिलाए और इस मिश्रण को हल्का गर्म करें।
  • अब इस मिश्रण को स्कैल्प और बालों पर लगाकर 5 मिनट तक मालिश करें।
  • फिर इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद बालों को शैम्पू करें और फिर कंडीशनर लगा लें।
  • इसे हफ्ते में दो से तीन बार लगा सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार के तौर पर अरंडी और नारियल तेल का उपयोग किया जा सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च में दिया हुआ है कि अरंडी का तेल रक्त संचार में सुधार करने का काम कर सकता है (13)।  वहीं, नारियल तेल भी स्कैल्प के रक्त संचार में सुधार करता है, जिससे बालों को सफेद होने से बचाने में मदद मिल सकता है (9)

7. मेथी के बीज

सामग्री:

  • दो चम्मच मेथी के बीज
  • एक चौथाई कप पानी

कैसे करें इस्तेमाल:

  • मेथी के बीजों को रातभर के लिए पानी में रहने दें।
  • सुबह पानी के साथ ही बीजों को ग्राइंडर में डालकर पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट बनाने के लिए थोड़े और पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अब पेस्ट को स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • लगभग 45 मिनट बाद बालों को शैम्पू से धोकर कंडीशनर लगाएं।
  • यह प्रक्रिया हफ्ते में एक से दो बार करें।

कैसे है लाभदायक:

सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए मेथी के बीज प्रभावी हो सकते हैं। दरअसल, मेथी के बीज में लेसिथिन फैट और एसेंशियल अमीनो एसिड होते हैं, जो समय से पहले बालों को सफेद होने से रोकने का काम कर सकते हैं (11)। ऐसे में कहा जा सकता है कि सफेद बालों से बचाव करने में मेथी के बीज मदद कर सकते हैं।

8. प्याज का रस और जैतून का तेल

सामग्री:

  • एक मध्यम आकार का प्याज
  • एक चम्मच जैतून का तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • प्याज को बारीक काट लें और जैतून के तेल के साथ मिला लें।
  • अब सूती कपड़े से मिश्रण को निचोड़ें और रस निकाल लें।
  • इस रस से करीब 10 मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।
  • फिर आधे घंटे के लिए छोड़ दें।
  • आधे घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें।
  • यह प्रक्रिया हफ्ते में दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक:

सफेद बालों के घरेलू उपचार में प्याज के रस और जैतून के तेल का मिश्रण को भी शामिल किया जा सकता है। प्याज के रस में केटालेज (Catalase) एंजाइम होता है, जो सफेद बाल को फिर से काला करने का काम कर सकता है। वहीं, जैतून के तेल में ओलिक एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, फ्लेवोनॉइड्स, ट्राइटरपेन और विटामिन-ई होते हैं, जो बालों को सफेद होने से बचाने का काम कर सकता है (11)

9. सेज पत्ता

सामग्री: 

  • मुट्ठी भर सेज पत्ता
  • एक कप पानी

उपयोग की विधि:

  • सेज के पत्ते को पानी में डालकर लगभग 10 मिनट तक उबालें।
  • फिर पानी को ठंडा होने दें और पानी को छानकर सेज पत्तों को अलग कर लें।
  • अब इस पानी से बालों और स्कैल्प की 5 मिनट तक मसाज करें।
  • इसके बाद बालों को लगभग 2 घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • फिर बालों को अच्छी तरह शैम्पू से धोकर कंडीशनर लगा लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो से तीन बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

सफेद बालों का घरेलू इलाज करने के लिए सेज की पत्तियों का उपयोग किया जा सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध में दिया हुआ है कि यह सफेद बालों के लिए प्रभावी हर्बल उपचार है। यह बालों के प्राकृतिक रंग बनाए रखने में मदद कर सकता है। बताया जाता है कि यह सफेद बालों को दोबारा काला बनाने में भी सहायक हो सकता है (11)। फिलहाल, इसका कौन-सा गुण बालों को काला कर सकता है यह स्पष्ट नहीं है।

10. तुरई और नारियल तेल

सामग्री:

  • सूखी कटी हुई तुरई
  • एक कप नारियल का तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक एयर टाइट कंटेनर में नारियल का तेल और सूखी कटी हुई तुरई डालें।
  • कंटेनर को बंद करके चार दिन के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद दो चम्मच तेल कंटेनर से निकालें और हल्का गर्म करें।
  • अब तेल से स्कैल्प और बालों की 15 मिनट तक मसाज करें।
  • 30 मिनट तक बालों में तेल लगा रहने दें।
  • अब शैंपू और कंडीशनर से बालों को धो लें।
  • यह प्रक्रिया हफ्ते में दो-तीन बार करें।

कैसे है लाभदायक:

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध में दिया हुआ है कि सूखे तुरई के पाउडर की मदद से बालों के असमय सफेद होने की समस्या को कम किया जा सकता है (14)। इसमें मौजूद नारियल तेल भी बालों को सफेद होने से रोक सकता है, जिसके बारे में हमने पहले भी लेख में बताया हैं। इसी वजह से बाल काले करने का नेचुरल तरीके में तुरई को भी शामिल किया जा सकता है।

11. तिल का तेल और नारियल का तेल

सामग्री: 

उपयोग की विधि:

  • तिल और नारियल तेल को मिलकर हल्का गर्म करें।
  • इस मिश्रण को कुछ देर ठंडा होने दें। उसके बाद स्कैल्प और बालों में लगाकर 5 मिनट तक मसाज करें।
  • अब इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। उसके बाद शैम्पू से अच्छी तरह बाल धों लें और कंडीशनर लगा लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो से तीन बार उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए तिल और नारियल तेल के मिश्रण का भी उपयोग कर सकते हैं। बताया जाता है कि तिल का तेल समय से पहले बालों के सफेद होने से रोक सकता है, लेकिन इसका कौन-सा गुण इसमें मदद करता है यह स्पष्ट नहीं है (15)। इसके अलावा, नारियल तेल स्कैल्प में ब्लड सर्कूलेशन को बेहतर करके बालों को काला कर सकता है (9)। इसी वजह से तिल और नारियल तेल के मिश्रण को बाल काले करने का तरीका माना जाता है।

स्क्रॉल करें

चलिए, आगे जानते हैं कि सफेद बालों के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए।

सफेद बालों के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

कई बार सफेद बालों के साथ ही कुछ अन्य समस्याएं उत्पन्न हो जाती है। ऐसे में बिना समय व्यर्थ किए डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए। इन समस्याओं के बारे में हम नीचे बता रहे हैं (16):

  • बालों के सफेद होने के साथ ही स्कैल्प में जलन महसूस हो, तो डॉक्टर से इस बारे में सलाह लें।
  • अगर स्कैल्प में एलर्जिक रिएक्शन होता है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • बाल सफेद होने के साथ ही उनमें डैमेज दिखाई देना शुरू हो जाएं, तो विशेषज्ञ से इस बारे में बात करें।
  • अचानक बालों के सफेद होने और झड़ने पर भी डॉक्टर की मदद ले सकते हैं।
  • बहुत कम उम्र में बाल सफेद होने लग जाएं, तो भी विशेषज्ञ से संपर्क करें।

आगे और जानकारी है

इस लेख के अगले हिस्से में हम सफेद बालों का इलाज बता रहे हैं।

सफेद बालों का इलाज – White Hair Treatments in Hindi

सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार के अलावा डॉक्टरी इलाज का भी सहारा लिया जा सकता है। इसके लिए नीचे बताए जा रहे इलाज मददगार हो सकते हैं (16):

  • एंटीइंफ्लेमेटरी मेडिकेशन- इस उपचार से प्रोइंफ्लेमेटरी साइटोकिन गतिविधि को रोकने में मदद मिल सकती है। इससे 2 से 24 महीने तक उपचार करके बालों के रिपिगमेंटेशन यानी उसके रंग को लौटाने में सहायता मिल सकती है।
  • मेलेनिन को बढ़ाकर- इसके उपयोग से भी सफेद बालों को दूर किया जा सकता है। डॉक्टर मेलेनिन की मात्रा को बढ़ाने के लिए किसी थेरेपी या फिर दवा लेने की सलाह दे सकते हैं, जिससे बालों को सफेद होने से रोका जा सकता है।
  • विटामिन सप्लीमेंटेशन- सफेद बालों के इलाज में विटामिन सप्लीमेंटेशन की भी अहम भूमिका हो सकती है। इसके लिए विटामिन-बी के साथ कैल्शियम पेंटोथेनेट और पोटैशियम दिया जा सकता है। इससे बालों को उनके प्राकृतिक रंग में लाने में मदद मिल सकती है।

बने रहें हमारे साथ

चलिए, अब पढ़ते हैं सफेद बालों से बचने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

सफेद बालों के लिए क्या खाना चाहिए? – Diet for White Hair in Hindi

सही खानपान भी बाल काले करने का तरीका साबित हो सकता है। दरअसल, पोषक तत्वों की कमी के कारण बाल सफेद हो सकते हैं, जिसे खाद्य पदार्थ की मदद से पूरा किया जा सकता है। इससे बालों को सफेद होने से रोकने में मदद मिल सकता है। साथ ही बालों को पुनः उसके प्राकृतिक रंग प्रदान करने में मदद कर सकता है। नीचे हम सफेद बालों के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं बता रहे हैं (17):

सफेद बालों के लिए आहार:

  • प्रोटीन – सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए प्रोटीन युक्त आहार का सेवन कर सकते हैं, जिनमें चिकन,मछली, डेयरी उत्पाद, अंडे, दलिया और नट शामिल है।
  • आयरन- सफेद बालों से निजात पाने के लिए आयरन का सेवन अच्छा होता है। इसके लिए चिकन, मछली, दाल, पालक, ब्रोकोली और हरी सलाद का सेवन कर सकते हैं।
  • विटामिन सी- बालों के लिए विटामिन सी की पूर्ति करने के लिए ब्लैककरंट्स, ब्लूबेरी, ब्रोकोली, अमरूद, कीवी फल, संतरा, पपीता, स्ट्रॉबेरीज शकरकंद खा सकते हैं।
  • ओमेगा 3 – सफेद बालों को काला करने के लिए ओमेगा 3 युक्त आहार का सेवन कर सकते हैं, जिनमें सलामन, मैकेरल मछली, एवोकैडो, कद्दू के बीज और अखरोट शामिल है।
  • विटामिन-ए- विटामिन ए की पूर्ति करने के लिए गाजर, कद्दू और शकरकंद खा सकते हैं।
  • जिंक और सेलेनियम- बालों को काला करने में जिंक और सेलेनियम की भी अहम भुमका हो सकती है। इसके लिए अनाज और अंडे का सेवन कर सकते हैं।

बाल सफेद होने पर परहेज करने वाले आहार:

  • बालों को सफेद होने पर फास्ट फूड का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जिन खाद्य पदार्थ में कम मात्रा में पोषक तत्व होते हैं, उनका सेवन करने से बचे।
  • शराब और सिगरेट का सेवन न करें।

पढ़ना जारी रखें

इस लेख के आगे भाग में हम सफेद बालों को काला करने के लिए कुछ और उपाय बता रहे हैं।

सफेद बालों को काला करने के लिए कुछ और उपाय – Other Tips For White Hair Solution in Hindi

सफेद बालों के लिए घरेलू उपचार और इलाज के बाद बालों को काला करने के लिए कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। इन टिप्स को दिनचर्या में शामिल करने पर बालों को काला करने में मदद मिल सकती है।

  • ऑयल मसाज- बालों को काला करने के लिए ऊपर बताए गए किसी भी तेल से मालिश कर सकते हैं। इससे सफेद बालों से छुटकारा मिल सकता है।
  • धूम्रपान से रहे दूर : धूम्रपान भी बालों को काफी ज्यादा प्रभावित करता है। यह असमय बालों की सफेदी का कारण बना सकता है। शोध में यह बात सामने आई है कि 30 की उम्र से पहले महिला और पुरूष में बालों की सफेदी का एक कारण धूम्रपान बन सकता है (18)। इसलिए, बालों में प्राकृतिक रंग बनाए रखने के लिए धूम्रपान से दूर रहें।
  • विटामिन-बी12 : शरीर में विटामिन-बी12 की कमी के कारण भी बाल समय से पहले सफेद हो सकते हैं (19)। ऐसे में उन खाद्य पदार्थों को अपने दैनिक भोजन में शामिल करें, जिनमें अन्य पोषक तत्वों के साथ विटामिन-बी12 भी मौजूद होता है।
  • खानपान : गलत खानपान की वजह से शरीर को ठीक प्रकार से पोषण नहीं मिल पाता। इसका गलत प्रभाव बालों पर भी पड़ता है। इसी वजह से बालों के लिए सही पोषण जरूरी है।

स्क्रॉल करके पढ़ें

अब जानते हैं कि सफेद बाल फिर से काला हो सकता है या नहीं।

क्या सफेद बाल फिर से काले हो सकते है?

हां, कुछ रिसर्च पेपर जिनका जिक्र हम ऊपर कर चुके हैं उनके मुताबिक कुछ घरेलू उपचार और ट्रीटमेंट की मदद से बालों को फिर से काला किया जा सकता है। यह भी ध्यान रखें कि सफेद बालों को दोबारा से काला होने में काफी समय लग सकता है। ऐसे में सही निदान और उपचार के साथ ही सब्र भी जरूरी है।

बालों में पिगमेंटेशन की कमी के कारण बाल असमय सफेद हो सकते हैं, लेकिन सही उपचार और संतुलित खानपान के द्वारा इसे नियंत्रित किया जा सकता है। इस लेख में बताए गए सभी घरेलू उपचार पिगमेंटेशन को बढ़ावा देने का काम कर सकते हैं, लेकिन इनसे किसी चमत्कार की उम्मीद न करें। यह अपना असर दिखाने में समय लेते हैं। अगर किसी भी नुस्खे को अपनाने के बाद बाल अधिक झड़ने लगे, तो उस उपचार को बंद कर दें। साथ ही इन नुस्खों का इस्तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्ट जरूर कर लें, क्योंकि संवेदनशील लोगों को कुछ सामग्रियों से एलर्जी हो सकती है।

इस लेख के अंतिम भाग में हम सफेद बालों से संबंधित कुछ सवाल के जवाब जानेंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या सफेद बालों से छुटकारा पा सकते हैं?

जी हां, ऊपर बताए गए  घरेलू उपचार के मदद से सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता  है।

क्या तनाव के कारण बाल सफेद होते हैं?

हां, तनाव के कारण बाल सफेद हो सकते हैं (3)

यदि कोई सफेद बालों के साथ पैदा हुए हैं, तो इसका क्या मतलब है?

यदि कोई सफेद बाल के साथ पैदा होता है, तो उसका कारण आनुवंशिकता हो सकती है। कई बार यह किसी अन्य समस्या के कारण भी हो सकता है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से सलाह ली जानी चाहिए।

यदि मैं सफेद बाल खींचता हूं तो क्या होगा?

अगर आप सफेद बाल खींचते हैं, तो कुछ समय बाद वहां दोबारा से सफेद बाल उग जाता है। ऐसी धारणा बिल्कुल गलत है कि सफेद बालों को खींचने से उनसे छुटकारा मिल सकता है।

कौन सा खाद्य पदार्थ सफेद बालों को काला बनाता है?

पोषक तत्वों से समृद्ध खाद्य पदार्थ का सेवन करके बालों का रंगद्रव्य यानी पिगमेंट को बरकरार रखा जा सकता है। हमने ऐसे खाद्य पदार्थों की सूची ऊपर दी है। आप उसे पढ़ सकते हैं।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Premature Graying of Hair: Review with Updates
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6290285/
  2. Three Streams for the Mechanism of Hair Graying
    https://www.researchgate.net/publication/326122085_Three_Streams_for_the_Mechanism_of_Hair_Graying
  3. How stress causes gray hair
    https://www.nih.gov/news-events/nih-research-matters/how-stress-causes-gray-hair
  4. Preclinical and Clinical Studies Demonstrate That the Proprietary Herbal Extract DA-5512 Effectively Stimulates Hair Growth and Promotes Hair Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5429933/
  5. Recent Trends in Potential Traditional Indian Herbs Emblica officinalis and Its Medicinal Importance
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1008.1346&rep=rep1&type=pdf
  6. Murraya koenigii (curry leave)- A review on its potential
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1071.4635&rep=rep1&type=pdf
  7. Formulation and evaluation of polyherbal formulation as hair colorant
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.676.7375&rep=rep1&type=pdf
  8. Study of colouring effect of herbal hair formulations on graying hair
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4471652/
  9. Premature Greying of Hair and Role of Oiling in Indian perspective
    http://ijcrims.com/pdfcopy/feb2018/ijcrims15.pdf
  10. Ethnopharmacological survey of home remedies used for treatment of hair and scalp and their methods of preparation in the West Bank-Palestine
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5499037/
  11. Management of Greying of Hairs (Sheeb) and Use of Hair Dyes (Khizaab) in Unani Medicine
    https://www.academia.edu/39102285/Management_of_Greying_of_Hairs_Sheeb_and_Use_of_Hair_Dyes_Khizaab_in_Unani_Medicine
  12. Skin testing of gallic acid-based hair dye in paraphenylenediamine/ paratoluenediamine- reactive patients
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26663148/
  13. Herbal Hair Cosmetics – An Overview
    https://www.wjpsonline.org/admin/uploads/tAax0z.pdf
  14. Therapeutic Potential of Luffa acutangula: A Review on Its Traditional Uses, Phytochemistry, Pharmacology and Toxicological Aspects
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6232903/
  15. DIETETIC AND THERAPEUTIC EFFECT OF SESAME IN AYURVEDA: A CRITICAL REVIEW
    http://jpsionline.com/admin/php/uploads/486_pdf.pdf
  16. Medication-Induced Repigmentation of Gray Hair: A Systematic Review
    https://www.karger.com/Article/Pdf/504414
  17. Holistic Approaches to Maintain Healthy Hairs of Human Being
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1048.2916&rep=rep1&type=pdf
  18. Smokers’ hair: Does smoking cause premature hair graying
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3673399/
  19. Reversible hyperpigmentation of skin and nails with white hair due to vitamin B12 deficiency
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/3740873/

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Dr. Zeel Gandhi is an Ayurvedic doctor with 7 years of experience and an expert at providing holistic solutions for health problems encompassing Internal medicine, Panchakarma, Yoga, Ayurvedic Nutrition, and formulations.

Read full bio of Dr. Zeel Gandhi