Written by

नवजात शिशु के शरीर पर अक्सर उन्हीं के नाखूनों के निशान मिल जाते हैं। कभी हाथों पर, कभी पेट पर तो कभी उनके मुंह पर। साथ ही शिशुओं को बार-बार अपने हाथों को मुंह में लेने की आदत होती है और अगर उनके नाखून साफ न हो तो वे बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। ऐसे में उनके नाखूनों को काटना जरूरी हो जाता है। वैसे यह काम इतना आसान नहीं है और अगर सावधानी न बरती गई, तो शिशु को चोट भी लग सकती है। यही वजह है कि मॉमजंक्शन के इस लेख में हम शिशु के नाखून काटने से जुड़ी जरूरी जानकारी देने जा रहे हैं। यहां आप जान पाएंगे कि बच्चों के नाखून कब और किस तरह काटने चाहिए। साथ ही आपको उन सावधानियों के बारे में भी बताया जाएगा जिन्हें बच्चों के नाखून काटते वक्त बरतना जरूरी होता है।

सबसे पहले विस्तार से नवजात शिशु के नाखून के बारे में जानते हैं।

नवजात शिशु के नाखूनों के बारे में जानकारी

नवजात शिशु के नाखून उनके शरीर के सबसे कोमल और लचीले अंगों में से एक होते हैं। अगर उनकी देखरेख ठीक तरह से न की जाए, तो उनकी वजह से बच्चों को खरोंच लग सकती है। साथ ही नवजात शिशु का अपने हाथ-पैरों पर नियंत्रण नहीं होता, इसलिए यह जरूरी है कि बच्चों के नाखून खुरदुरे और लंबे न हो। लेख में बताई गई जानकारी की मदद से आप समय-समय पर अपने शिशु के नाखून काट सकते हैं। साथ ही इस बात पर भी गौर करना जरूरी है कि नवजात शिशु के हाथ के नाखून बहुत जल्दी बढ़ते हैं और उन्हें हर हफ्ते काटने की जरूरत पड़ सकती है (1)

इस लेख के अगले भाग में आपको शिशु के नाखून काटने के सही समय से जुड़ी जानकरी मिलेगी।

मैं अपने बच्चे के नाखून कब काटना शुरू कर सकती हूं?

माना जाता है कि जब शिशु लगभग 9 से 10 महीने का हो जाता है, तो उसके नाखून फिंगरटिप्स से आगे आने लगते हैं (2)। इस समय से उनके नाखून डॉक्टरी परामर्श पर काटे जा सकते हैं। कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि बच्चे के नाखून इस उम्र से पहले ही बड़े हो जाएं, लेकिन ऐसा दुर्लभ स्थितियों में ही होता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि बच्चे के नाखून बढ़ने की दर क्या है। वहीं, कुछ नवजात बड़े नाखूनों के साथ पैदा होते हैं। ऐसे में सावधानीपूर्वक उनके नाखूनों को काट देना चाहिए ताकि वो अपने बड़े नाखूनों से खध को चोट न पहुंचा लें। इसके लिए उनके 9-10 महीने के लिए इंतजार करने की जरूरत नहीं होती है। साथ ही नाखून काटना शुरू करने से पहले इस बात का भी ध्यान रखें कि शिशु के नाखून के सिरे, त्वचा से जुड़े न हों। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए शिशु विशेषज्ञ से सलाह ली जा सकती है।

नवजात शिशु के नाखून कैसे काटें, इस सवाल का जवाब जानिए लेख के अगले भाग में।

नवजात शिशु के नाखून कैसे काटें?

शिशु के नाखून काटते समय सावधानी बरतनी जरूरी है। उनके नाखून काटते समय आप नीचे बताई गईं बातों को ध्यान में रख सकते हैं (3):

  • सबसे पहले अपने शिशु को लेकर एक ऐसी जगह बैठें जहां भरपूर रोशनी हो।
  • जब शिशु सो रहा हो, तो उनकी उंगली को अपने अंगूठे और तर्जनी (इंडेक्स फिंगर) से पकड़ें।
  • इसके बाद बच्चों के नाखून काटने की कैंची या बेबी नेल क्लिपर की मदद से नाखून को काटें।
  • नाखून काटते समय शिशु के फिंगरटिप की त्वचा को दबा कर नाखून से दूर करें और फिर नाखून काटें।
  • त्वचा के बिलकुल करीब से नाखून न काटें। इससे उन्हें चोट लग सकती है।
  • नाखून काटते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि नाखून को खुरदुरा या नुकीला न छोड़ें।

बच्चों के नाखून काटने का सही समय जानने के लिए पढ़ते रहिए यह लेख।

बच्चे के नाखून काटने का सही समय कब होता है?

शिशु को नहलाते समय  या नहलाने के बाद आप उसके नाखून साफ कर सकते हैं। इस समय उनके नाखून मुलायम हो जाते हैं और साफ करने में आसानी होती है (1)। इसके साथ ही, शिशु के नाखून काटते समय इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि वह शांत हो और ज्यादा हिले न, इसलिए जब शिशु सो रहा हो, तब आप उसके नाखून काट सकते हैं। उनके नाखूनों के बढ़ने की दर के अनुसार, आप उनके नाखून हफ्ते में एक या दो बार काट सकते हैं (3)

शिशु के नाखून समय पर न काटने से कुछ अनचाहे परिणाम सामने आ सकते हैं। इस बारे में जानिए लेख के अगले भाग में।

समय पर बच्चे के नाखून न काटने के क्या परिणाम हो सकते हैं?

नाखून को समय से काटना और उन्हें साफ रखना एक सामान्य हाइजीन प्रक्रिया है। यह सिर्फ बच्चों के लिए नहीं, बल्कि वयस्कों के लिए भी जरूरी है। ऐसा न करने से कई तरह के संक्रमण होने का खतरा बढ़ सकता है। वयस्कों की तुलना में शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है और वे किसी भी संक्रमण की चपेट में जल्दी आ सकते हैं (4)। यही कारण है कि बच्चों के नाखून समय पर काटना जरूरी है। बड़े नाखूनों में गंदगी आसानी से जमा हो जाती है और जब बच्चा अपना हाथ मुंह में लेता है, तो वो गंदगी बच्चे के शरीर में प्रवेश कर सकती है। इससे बच्चे को शारीरिक समस्या हो सकती है।

जैसा कि हम लेख में पहले भी बता चुके हैं कि बच्चों का अपने शरीर पर नियंत्रण नहीं होता। ऐसे में अगर बच्चों के नाखून समय पर न काटे गए, तो अनजाने में बच्चों को उनसे खरोंच या गहरा घाव हो सकता है।

साथ ही बच्चों के नाखून काटने की कैंची या बेबी नेल क्लिपर को भी साफ रखना जरूरी है, इसलिए इस्तेमाल करने से पहले उन्हें हमेशा स्टरलाइज करें। इससे उनमें मौजूद कीटाणु हट जाते हैं (5)। स्टरलाइज करने के लिए गर्म पानी में एक या दो ढक्कन एंटीसेप्टिक लिक्विड डालें और कैंची या नेल क्लिपर को उसमें डाल कर कुछ देर रख दें। कुछ देर बाद उन्हें पानी से निकालें और साफ टिश्यू से पोंछ कर उपयोग करें।

लेख के इस भाग में जानिए कि शिशु के नाखून काटते वक्त अगर कट लग जाए, तो क्या करना चाहिए।

अगर बच्चे की उंगली पर कट लगता है, तो क्या करें?

अगर शिशु के नाखून काटते समय उनकी उंगली पर कट लग जाए, तो घबराना नहीं चाहिए। लाख सावधानी बरतने के बाद भी ऐसा अक्सर हो सकता है। ऐसे में बाजार में उपलब्ध स्टेराइल गौज पैड (Sterile Gauze Pad) की मदद ली जा सकती है। कट लगने की स्थिति पर सबसे पहले साफ रूई की मदद से घाव को साफ करें और फिर स्टेराइल गौज पैड से उंगली को बांध दें। इसके बाद आप शिशु को डॉक्टर के पास ले जाएं और आवश्यक उपचार करवाएं। ध्यान रखें कि शिशु के घाव पर आम बैंडेज न बांधें। वे अक्सर हाथों को मुंह में लेते हैं और ऐसे में बैंडेज के साथ उनके मुंह में बैक्टीरिया जा सकते हैं। साथ ही बैंडज उनके गले में भी फंस सकता है (6)

आगे जानिए क्या है नवजात शिशु के नाखून काटने के लिए बेहतर टूल विकल्प।

बच्चे के नाखून काटने के लिए क्लिपर या कैंची, किसका इस्तेमाल करना चाहिए?

शिशु के नाखून काटने के लिए बच्चों के नाखून काटने की कैंची या क्लिपर, किसी का भी उपयोग किया जा सकता है। बच्चों के नाखून के लिए बनी इन खास कैंचियों और क्लिपर के कोने नुकीले नहीं होते हैं। इस कारण ये बच्चों के लिए सुरक्षित माने जाते हैं। कैंचियों के साथ-साथ बच्चों के नाखून के लिए खास फाइलर भी आते हैं, जिनसे आप बच्चों के नाखून को बराबर आकार दे सकते हैं। अगर शिशु के नाखून ज्यादा बड़े न हो, तो उन्हें काटने की जगह आप साफ करके सिर्फ फाइल कर सकते हैं। इनका उपयोग करने से पहले इन्हें स्टरलाइज करना न भूलें (6)

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या डॉक्टर बच्चों के नाखून काटते हैं?

जी नहीं, डॉक्टर बच्चों के नाखून नहीं काटते, लेकिन अगर यह आपका पहला शिशु है, तो इस काम के लिए आप हॉस्पिटल में मौजूद नर्स की मदद ले सकते हैं।

क्या मैं अपने दांतों से बच्चे के नाखून काट सकती हूं?

जी नहीं, दांतों से बच्चों के नाखून नहीं काटने चाहिए। ऐसा करने से बच्चों के नाखून ज्यादा कट सकते हैं और साथ ही संक्रमण का जोखिम भी बढ़ सकता है। इसके अलावा, बच्चे के नाखून में मौजूद गंदगी आपके शरीर में भी प्रवेश कर सकती है और बीमारी का कारण बन सकती है।

इस लेख के जरिए आप यह जान गए होंगे कि बच्चों के नाखून काटना कितना जरूरी है और ऐसा न करने के दुष्परिणाम क्या हो सकते हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए इस लेख में बच्चों के नाखून काटने के लिए टिप्स भी दिए गए हैं। अगर आप पहली बार माता-पिता बने हैं, तो अपने शिशु के नाखून काटते समय घबराना सामान्य बात है। ऐसे में आप घर के किसी बड़े व्यक्ति या हॉस्पिटल में नर्स की मदद ले सकते हैं। ऐसे ही अन्य विषयों की जानकारी के लिए जुड़े रहिए मॉमजंक्शन से।

References

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown