Neelanjana Singh, RD
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

कई लोग अपने दिन की शुरुआत लेमन टी के साथ करते हैं। इसके स्वास्थ्य फायदों को देखते हुए इसकी लोकप्रियता भी बढ़ी है। इसलिए, स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको नींबू की चाय पीने के विभिन्न शारीरिक लाभ बताने जा रहे हैं। आपको बता दें कि लेमन टी के फायदे लेख में बताई जा रहीं स्वास्थ्य समस्याओं से कुछ हद तक बचाव और इनके लक्षणों को कम करने का काम कर सकते हैं, लेकिन यह किसी भी बीमारी का सटीक उपचार साबित नहीं हो सकते। स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए डॉक्टरी इलाज को नजरअंदाज न करें। इसके अलावा, लेमन टी के नुकसान भी हो सकते हैं। आर्टिकल के अंत में हम इस विषय के संबंध में भी जरूरी जानकारी देंगे।

शुरू करते हैं लेख

आइए, अब नींबू की चाय के फायदे के बारे में जानते हैं।

लेमन टी (नींबू की चाय) के फायदे – Benefits of Lemon Tea in Hindi

लेमन टी के फायदे के बारे में आपको नीचे पूरी जानकारी दी जा रही है।

1. वजन घटाने के लिए

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च के अनुसार, नींबू में शरीर को डिटॉक्स करने का गुण पाया जाता है। साथ ही इसे लो-कैलोरी माना गया है, जिस कारण यह वजन को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, नींबू शरीर में वसा कम करने में मदद कर सकता है। इससे इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ाने और हृदय संबंधी रोग के जोखिम कारकों को कम करने में मदद हो सकती है (1)

2. एंटीबैक्टीरियल

लेमन टी का सेवन अगर कोई कर रहा है, तो इसकी एंटीबैक्टीरियल एक्टिविटी उनके लिए लाभदायक हो सकती है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार, लेमन टी में एंटीबैक्टीरियल गतिविधि पाई जाती है और एंटीबैक्टीरियल गतिविधि बैक्टीरियल संक्रमण से बचाने में मदद कर सकती है (2)

3. ब्लड प्रेशर

ब्लड प्रेशर को बेहतरीन तरीके से संचालित रखने के लिए भी लेमन टी फायदेमंद हो सकती है। यह तो हम सभी को पता है कि लेमन टी बनाने में नींबू का प्रयोग होता है और नींबू में पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है, जो ब्लड प्रेशर को बेहतरीन तरीके से संचालित करने में मदद कर सकता है (3)। वहीं, अगर कोई रक्तचाप से संबंधित दवा का सेवन कर रहा है, तो वह लेमन टी का सेवन के बारे में एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

4. रोग-प्रतिरोधक क्षमता

रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए भी लेमन टी का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार, लेमन टी बनाने में उपयोग किए जाने वाले नींबू में इम्युनिटी बढ़ाने का गुण पाया जाता है। यह न केवल इम्युनिटी को बढ़ा सकता है, बल्कि संक्रमण से भी बचाने में मदद कर सकता है (4)

5. स्लो एजिंग के लिए

लेमन टी का उपयोग एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करने के लिए भी काम कर सकता है। दरअसल, नींबू में एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है, जिस कारण यह एजिंग प्रक्रिया को धीमा कर सकता है। हालांकि, इस स्थिति में एक बार डॉक्टर की भी सलाह ली जा सकती है (5)।

6. कॉमन कोल्ड और फ्लू के उपचार हेतु

कॉमन कोल्ड और फ्लू के असर को कम करने के लिए भी नींबू की चाय फायदेमंद हो सकती है। ऐसा इसलिए मुमकिन हो सकता है, क्योंकि नींबू चाय में प्रयोग होने वाले नींबू के रस में ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिसका सेवन करने से यह कॉमन कोल्ड और फ्लू की समस्या को ठीक करने में मदद कर सकता है (6)। हालांकि, यह किस प्रकार लाभ पहुंचा सकता है, इस पर अभी अधिक वैज्ञानिक प्रमाण की आवश्यकता है। इसलिए, सर्दी और फ्लू के उपचार में इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

7. एंटीकैंसर गुण

सबसे पहले तो हम यह बताना चाहेंगे कि कैंसर की स्थिति में केवल मेडिकल ट्रीटमेंट के जरिए ही सुधार किया जा सकता है। घरेलू उपचार सिर्फ इससे बचाव और मेडिकल ट्रीटमेंट के प्रभाव को बढ़ाने में कुछ हद तक मददगार हो सकते हैं। नींबू की चाय का सेवन भी कुछ इसी बात पर निर्भर करता है।

दरअसल, नींबू एंटी-कैंसर एजेंट के रूप में कार्य कर सकता है। नींबू जैसे सिट्रस फ्रूट में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा भी पाई जाती है, जो शरीर को कैंसर से बचाने में मदद कर सकता है। साथ ही यह कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोकने में मदद कर सकता है (7)।

8. त्वचा के लिए

यहां एक बार फिर से एंटीऑक्सीडेंट गुण का जिक्र होगा, जो लेमन टी में उपयोग किए जाने वाले नींबू में पाया जाता है (7)। वहीं, एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने में मदद कर सकता है (8)। हालांकि, इस पर अभी और वैज्ञानिक शोध की आवश्यकता है कि लेमन टी सीधे तौर पर किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयोगी हो सकता है।

पढ़ते रहें लेख

आइए, अब लेख के अगले भाग में जानते हैं कि लेमन टी में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं।

लेमन टी के पौष्टिक तत्व – Lemon Tea Nutritional Value in Hindi

लेमन टी में मौजूद पौष्टिक तत्व के संबंध में नीचे हमने एक टेबल दी है, जिसमें पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में भी बताया है (9)

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
ऊर्जा25kcal
कार्बोहाइड्रेट6.67g
शुगर, कुल6.25g
सोडियम4mg

नोट- लेमन टी में शुगर की मात्रा कम ज्यादा हो सकती है। लेमन टी बनाते वक्त उसमें कितनी चीनी का इस्तेमाल कर रहे हैं, यह इस पर निर्भर करता है।

लेख में आगे बढ़ें

लेख के इस भाग में आपको लेमन टी के उपयोग की जानकारी दी जा रही है।

लेमन टी (नींबू की चाय) का उपयोग – How to Use Lemon Tea in Hindi

लेमन टी का सेवन आप निम्न प्रकार कर सकते हैं।

  • लेमन टी को अन्य चाय की तरह गर्मा-गर्म पी सकते हैं।
  • इसके अलावा, गर्मियों में खुद को हाइड्रेट रखने के लिए इसे ठंडा करके भी पी सकते हैं।

लेमन टी कब पिएं : लेमन टी को सुबह/दोपहर/शाम/रात किसी भी समय पी सकते हैं। ध्यान रहे कि सर्दियों मे कोल्ड लेमन टी का सेवन न करें।

कितनी मात्रा में पिएं: लेमन टी की दिनभर में लगभग 2 से 3 कप मात्रा का सेवन किया जा सकता है। हालांकि, इसके सेवन की सही मात्रा की जानकारी के लिए एक बार आहार विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लें।

अंत तक पढ़ें

लेमन टी के सेवन से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जिसके बारे में आपको यहां जानकारी मिलेगी।

लेमन टी के नुकसान – Side Effects of Lemon Tea in Hindi

नींबू की चाय में नींबू महत्वपूर्ण होता है, लेकिन इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • सिट्रिक एसिड नींबू का अहम घटक होता है। इसको अत्यधिक मात्रा में लेने से दांतों को नुकसान पहुंच सकता है। इससे दांतों में सेंसिटिविटी बढ़ सकती है (10)
  • नींबू की चाय का एक दिन में अधिक सेवन पेट संबंधी समस्याओं का कारण बन सकता है। हालांकि, इस तथ्य की पुष्टि के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।
  • बच्चों को लेमन टी का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। बच्चों में इसका सेवन करना नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • अगर किसी तरह की दवा ले रहे हैं, तो लेमन टी का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

इस लेख में आपने जाना कि कैसे नींबू की चाय का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है और किस प्रकार आपको इससे नुकसान हो सकता है। इसके अतिरिक्त अगर आप किसी बीमारी का इलाज करवा रहे हैं, तो इसके सेवन से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। साथ ही आप इस बात के प्रति भी जागरूक रहें कि लेख में बताई गईं स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज सिर्फ लेमन टी के जरिए किया जाना संभव नहीं है। गंभीर अवस्था में डॉक्टर से इलाज करवाना भी जरूरी है। उम्मीद है कि इस लेख में दी गई जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी। यह लेख पसंद आया हो, तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ साझा करना न भूलें।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Lemon detox diet reduced body fat, insulin resistance, and serum hs-CRP level without hematological changes in overweight Korean women
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25912765/
  2. Comparative assessment of antibacterial efficacy of aqueous extract of commercially available black, green, and lemon tea: an in vitro study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5654184/?report=classic
  3. Antioxidant and anti-ageing activities of citrus-based juice mixture
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26471635/
  4. Comparative assessment of antibacterial efficacy of aqueous extract of commercially available black, green, and lemon tea: an in vitro study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5654184/
  5. Complementary Treatment of the Common Cold and Flu with Medicinal Plants – Results from Two Samples of Pharmacy Customers in Estonia
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3590151/
  6. Anticancer Potential of Citrus Juices and Their Extracts: A Systematic Review of Both Preclinical and Clinical Studies
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5491624/
  7. Impact of Vitamin C to Mature Facial Skin
    https://www.researchgate.net/publication/312318915_Impact_of_Vitamin_C_to_Mature_Facial_Skin
  8. Lemon Tea Nutritional Value
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/515601/nutrients
  9. Dental erosion
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6235510/

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the nutrition facility at PSRI Hospital, New Delhi. She has taught Nutrition and Health Education at the University of Delhi for over 7 years.

Read full bio of Neelanjana Singh