Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

कभी कमर दर्द, कभी पैर दर्द तो कभी शरीर के अन्य अंगों में दर्द। ये दर्द तो जैसे कुछ लोगों के जीवन का हिस्सा बन गए हैं। कोई दिन ऐसा नहीं गुजरता जब शरीर के किसी अंग में दर्द न हो। हाथ में दर्द भी इसी लिस्ट में शामिल है। वैसे तो लोगों को हाथों में दर्द होना सामान्य ही लगता है, लेकिन हम स्टाइलक्रेज के जरिए सामान्य से दिखने वाले हाथ में दर्द को गंभीरता से लेने की सलाह दे रहे हैं। हाथ का दर्द भले ही सामान्य लगे, लेकिन कभी-कभी यह किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का कारण बन सकता है। यही कारण है कि इस लेख द्वारा हम न सिर्फ हाथ दर्द का कारण, बल्कि हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय और इसके अन्य इलाज की जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं। इसलिए, हाथ मे दर्द से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए जुड़े रहिए इस लेख के साथ।

लेख विस्तार से पढ़ें

सबसे पहले जानते हैं कि हाथ में दर्द आखिर क्या होता है।

हाथ में दर्द क्या है? – What is Hand Pain in Hindi

कई बार लोग किन्हीं वजहों से पूरे हाथ में या हाथ के किसी विशेष हिस्से में दर्द की शिकायत करते हैं। इसमें पूरे हाथ में ऐंठन, उंगलियों में या कलाई में जोरदार दर्द हो सकता है। यह दर्द हल्का या तीव्र होने के साथ-साथ अचानक भी हो सकता है। हाथ का दर्द कई कारणों से हो सकता है, जिसके बारे में आगे लेख में जानकारी दी गई है।

पढ़ते रहें

सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि हाथ दर्द का कारण क्या-क्या हो सकता है।

हाथ में दर्द के कारण और जोखिम कारक – Causes and Risk Factors of Hand Pain in Hindi

हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय या हाथ में दर्द का इलाज जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि हाथ दर्द का कारण या जोखिम कारक क्या हो सकते हैं। लेख के इस भाग में हम इसी बारे में जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं (1):

  • हाथ में दर्द होने का कारण ऑस्टियोअर्थराइटिस (एक प्रकार का गठिया) हो सकता है।
  • कार्पेल टनल सिंड्रोम (नस दबने की समस्या) के कारण भी दर्द हो सकता है।
  • गाउट (खून में यूरिक एसिड बढ़ने से होने वाली समस्या)।
  • टेंडनाइटिस (टेंडन यानी टिश्यू जो हड्डियों को मांसपेशियों से जोड़ते हैं), उनमें सूजन या चोट के कारण होने वाला दर्द।
  • हड्डी के टूटने से भी दर्द हो सकता है।
  • कलाई पर किसी प्रकार की चोट भी हाथ या हाथ की उंगलियों में दर्द का कारण हो सकती है।
  • लगातार टाइपिंग के कारण भी हाथ दर्द हो सकता है (2)।
  • हाथ दर्द का एक कारण हार्ट अटैक भी हो सकता है (3)।

अब बात करते हैं, हाथ में दर्द के लक्षण के बारे में।

हाथ में दर्द के लक्षण – Symptoms of Hand Pain in Hindi

देखा जाए तो हाथ में दर्द खुद में ही एक लक्षण है। ऐसे में इसके साथ होने वाली अन्य समस्याएं कुछ इस प्रकार है :

  • हाथ में दर्द के साथ-साथ हाथ में झुनझुनी महसूस हो सकती है। हाथ सुन्न हो सकता है, ऐसा कार्पेल टनल सिंड्रोम के कारण हो सकता है (4)।
  • चोट या फ्रैक्चर के कारण हाथ दर्द हो, तो साथ में चोट प्रभावित जगह और हाथ की उंगलियों में दर्द भी हो सकता है।
  • जोड़ों में सूजन या मांसपेशियों में भी दर्द हो सकता है।
  • अगर हाथ की नसों में दर्द हो, तो पूरे हाथ में दर्द हो सकता है।

अब जानते हैं कि हाथ में दर्द का इलाज घरेलू तरीके से कैसे किया जाए।

हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Hand Pain in Hindi

हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय कुछ इस प्रकार हैं :

1. आइस पैक या बर्फ से सिकाई

सामग्री :

  • एक आइस पैक या एक साफ कपड़ा
  • बर्फ के कुछ टुकड़े

उपयोग का तरीका :

  • कुछ बर्फ के टुकड़े लें और उसे आइस पैक में डाल लें।
  • बर्फ के टुकड़े कपड़े में भी लपेट सकते हैं।
  • फिर इसे दर्द से प्रभावित जगह पर रखें।
  • अगर बर्फ न हो तो ठंडे पानी की बोतल भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

अगर हाथ में चोट या सूजन की वजह से दर्द हो रहा है, तो आइस पैक दर्द से राहत के लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। दरअसल, आइस पैक के उपयोग से दर्द से प्रभावित जगह सुन्न पड़ सकती है। इससे थोड़ी देर के लिए दर्द महसूस होना बंद हो सकता है और साथ ही सूजन भी कम हो सकती है (5)।

2. एसेंशियल ऑयल

अपनी पसंद का कोई भी एसेंशियल ऑयल लें और उससे दर्द वाली जगह पर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें। ऐसा करने से थोड़ी देर के लिए दर्द से राहत मिल सकती है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, एसेंशियल ऑयल में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक (दर्दनिवारक) गुण होते हैं, जो गठिया के कारण होने वाले दर्द से राहत दिला सकते हैं। ऐसे में दर्द से थोड़ी देर की राहत के लिए एसेंशियल ऑयल उपयोगी हो सकता है (6)।

3. सेंधा नमक

सामग्री :

  • एक बाल्टी गुनगुना पानी
  • तीन से चार चम्मच सेंधा नमक

उपयोग का तरीका :

  • गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालें।
  • फिर उस पानी से नहाएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

सेंधा नमक के फायदे की बात की जाए, तो यह दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है। दरअसल, सेंधा नमक से संबंधित एक शोध में यह बात सामने आई है कि सेंधा नमक मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द व ऐंठन से राहत दिला सकता है। इसके साथ ही यह सूजन के लिए भी प्रभावकारी हो सकता है (7)। ऐसे में हल्के-फुल्के दर्द से राहत के लिए सेंधा नमक पानी से नहाना उपयोगी हो सकता है।

4. शिमला मिर्च या शिमला मिर्च पाउडर

सामग्री :

  • एक शिमला मिर्च या एक या दो चम्मच शिमला मिर्च पाउडर
  • आवश्यकतानुसार पानी

उपयोग का तरीका :

  • शिमला मिर्च या शिमला मिर्च पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को दर्द से प्रभावित जगह पर लगाएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

शिमला मिर्च को रेड पेपर या चिली पेपर नाम से भी जाना जाता है। इसे न सिर्फ खाने में, बल्कि कई तरह की दवाइयों में भी उपयोग किया जाता है। इसे खासतौर से गठिया के दौरान होने वाले दर्द से आराम के लिए उपयोग किया जाता है। दरअसल, शिमला मिर्च में मौजूद मुख्य घटक कैप्साइसिन (capsaicin) दर्द को दूर करने में सहायक हो सकता है। अगर शिमला मिर्च का उपयोग न कर सकें, तो बाजार में मौजूद कैप्साइसिन युक्त दर्दनिवारक क्रीम, ऑइन्टमेंट या स्प्रे का उपयोग भी कर सकते हैं (8)।

5. मालिश या मसाज

सामान्य तेल या किसी भी एसेंशियल ऑयल से दर्द से प्रभावित जगह पर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें। मालिश से मांसपेशियों के दर्द या ऐंठन की समस्या से राहत मिल सकती है। यह न सिर्फ मांसपेशियों को आराम दे सकता है, बल्कि मजबूती भी दे सकता है (9)। इतना ही नहीं शोध में भी यह बात सामने आई है कि मसाज थेरेपी दर्द से आराम दिलाने में सहायक हो सकती है (10)। ध्यान रहे कि मालिश धीरे-धीर करें और बेहतर है किसी विशेषज्ञ की देखरेख में करें।

बने रहें हमारे साथ

आगे जानते हैं हाथ दर्द के इलाज के बारे में।

हाथ में दर्द का इलाज – Treatment of Hand Pain in Hindi

अगर बात करें हाथ दर्द के मेडिकल ट्रीटमेंट के बारे में, तो नीचे हम इसी बारे में बता रहे हैं (11) :

  • दवा- अगर दर्द हल्का हो, तो डॉक्टर हाथ के दर्द की दवा दे सकते हैं। इससे कलाई या हाथ में दर्द की समस्या से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। वहीं, तीव्र दर्द के लिए भी डॉक्टर पहले ज्यादा जल्दी काम करने वाले पावरफुल दर्दनिवारक दे सकते हैं। हाथ दर्द की दवा के रूप में दर्दनिवारक ऑइन्टमेंट भी डॉक्टर दे सकते हैं।
  • थेरेपी – कुछ मामलों में डॉक्टर थेरेपी के रूप में इलाज कर सकते हैं। अगर नसों से जुड़ी किसी समस्या के कारण दर्द हो रहा हो, तो हल्के-फुल्के व्यायाम या एक्यूपंक्चर थेरेपी की सलाह भी दी जा सकती है। कई बार डॉक्टर हाथ दर्द की दवा के साथ-साथ थेरेपी लेने की भी सलाह दे सकते हैं। कुछ गंभीर मामलों में हाथ दर्द का इलाज फिजियोथेरेपी से भी किया जा सकता है। हल्के-फुल्के व्यायाम इस थेरेपी का हिस्सा हो सकते हैं। यह थेरेपी सर्जरी के बाद भी कराई जा सकती है।
  • स्प्लिंट (Splint) – यह एक प्रकार का उपकरण होता है, जिसका उपयोग शरीर के किसी अंग को सहारा देने के लिया किया जाता है (12)। अगर कलाई में फ्रैक्चर हुई हो, मोंच या खिंचाव हुआ हो, तो इसका उपयोग किया जा सकता है। स्प्लिंट हड्डियों की चोट को जल्द से जल्द ठीक करने में सहायक हो सकता है।
  • सेक लेना – कई बार डॉक्टर दवाइयों और थेरेपी के साथ-साथ दर्द के अनुसार ठंडा या गर्म सेक लेने की सलाह भी दे सकते हैं। यह एक घरेलू उपाय का ही हिस्सा है, जिससे काफी राहत मिल सकती है।
  • सर्जरी – अगर हाथ दर्द की दवा या थेरेपी से भी हाथ दर्द ठीक नहीं हो रहा हो, तो कुछ मामलों में सर्जरी भी एक विकल्प हो सकता है। सर्जरी का फैसला सिर्फ गंभीर मामलों में ही लिया जाता है। अगर हाथ फ्रैक्चर हुआ हो, कार्पल टनल सिंड्रोम के लक्षण गंभीर हैं, नसों से जुड़ी कोई जटिलता है, तो सर्जरी की सलाह दी जा सकती है।

बने रहें हमारे साथ

हाथ का दर्द का इलाज के बाद अब जानते हैं कि हाथ दर्द में डॉक्टरी सलाह कब लेनी चाहिए।

डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

नीचे बताए गए स्थितियों में हाथ दर्द में डॉक्टरी सलाह आवश्यक हो सकती है :

  • हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय के बाद भी दर्द से आराम न मिल रहा हो।
  • अगर कहीं चोट लगने के बाद हाथ की हड्डी में दर्द लगातार और तीव्र हो।
  • हाथ की उंगलियों में दर्द लगातार हो और उंगलियों को मोड़ने में भी असुविधा महसूस हो।
  • हाथ में दर्द के साथ सूजन भी हो।
  • अगर हाथ में दर्द के साथ गर्दन और कंधे में भी लगातार दर्द हो।
  • हाथ के दर्द की दवा के तौर पर ऑइन्टमेंट लगाने से भी कोई असर न हो रहा हो।

अब जानते हैं कि हाथ में दर्द से बचाव कैसे किया जा सकता है।

हाथ में दर्द से बचाव – Prevention Tips for Hand Pain in Hindi

नीचे बताए गए तरीकों को अपनाकर कुछ हद तक हाथ दर्द से बचाव किया जा सकता है :

  • हाथों की स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें, मुट्ठी और कलाई को घुमा-घुमाकर व्यायाम करें।
  • लगातार टाइपिंग या अन्य काम न करें। बीच-बीच में हाथों को आराम दें।
  • अगर हाथों में अकड़ महसूस हो, तो गर्म सेक लें। वहीं, अगर सूजन हो, तो ठंडी सिकाई कर सकते हैं।
  • अचानक से कुछ भारी न उठाएं।

ये थे सामान्य से दिखने वाले हाथ में दर्द के कुछ कारण। वैसे तो ज्यादातर मामलों में हाथ का दर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है, लेकिन फिर भी अगर किसी को हाथ में दर्द के उपाय के बारे में जानना है, तो यहां दिए गए हाथ में दर्द के लिए घरेलू उपाय उपयोगी साबित होंगे। वहीं, अगर किसी को घरेलू उपायों से भी फर्क नहीं पड़ रहा हो और हाथ में दर्द लगातार हो रहा हो, तो ऐसे में हाथ में दर्द को अनदेखा न करें। इस अवस्था में हाथ में दर्द का इलाज करवाने के लिए डॉक्टरी सलाह लें। इस लेख को दूसरों के साथ साझा करें और उन्हें भी इस बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी दें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या लगातार टाइपिंग से हाथ दर्द हो सकता है ?

हां, लगातार टाइपिंग से से हाथ दर्द हो सकता है (2)।

किसी काम को करते वक्त मेरे हाथ में दर्द क्यों होता है ?

अगर लंबे वक्त से ऐसा कुछ हो रहा है, तो यह किसी अन्य बीमारी के लक्षणों में से एक हो सकता है। ऐसे में बेहतर है कि आप इस बारे में डॉक्टरी सलाह लें।

हाथ दर्द को ठीक होने में कितना वक्त लग सकता है ?

यह इस पर निर्भर करता है हाथ में दर्द किस कारण से हो रहा है। अगर सामान्य हाथ दर्द है, तो कुछ घंटों में ठीक हो सकता है। वहीं, अगर किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या के कारण ऐसा हो रहा है, तो दर्द को ठीक होने में वक्त लग सकता है।

मैं अपने हाथों को कैसे आराम दे सकता हूं?

अगर आप लगातार टाइपिंग कर रहे हैं, तो टाइपिंग को थोड़े देर के लिए बंद कर हाथों को आराम दे सकते हैं। इसके अलावा, हल्की-फुल्की स्ट्रेचिंग कर भी हाथों को आराम दिया जा सकता है।

क्या दाहिने हाथ का दर्द हृदय से संबंधित है?

शोध में यह बात सामने आई है कि बांह या कंधे का दर्द दिल का दौरा पड़ने के लक्षणों में से एक है (3)। हालांकि, इसमें दाहिने या बाएं हाथ के बारे में पुष्टि नहीं की गई है। ऐसे में अगर व्यक्ति को लगातार हाथ में दर्द हो रहा हो, तो बेहतर है कि इस बारे में डॉक्टर से सलाह लें।

क्या योगासन या एक्सरसाइज करने से हाथ का दर्द कम हो सकता है?

हां, हाथ दर्द से राहत पाने के लिए योग या एक्सरसाइज लाभकारी हो सकते हैं (9) (14)। आजकल कई डॉक्टर दर्द की गंभीरता के अनुसार इलाज के रूप में योग और व्यायाम का सुझाव दे रहे हैं।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Wrist Pain
    https://medlineplus.gov/ency/article/003175.htm
  2. Preventative education and support for people with Repetitive Strain Injury
    http://www.rsi.deas.harvard.edu/spread.html#:~:text=These%20injuries%20are%20potentially%20very,wrists%20or%20forearms%2C%20or%20clumsiness.
  3. Knowledge of Signs and Symptoms of Heart Attack and Stroke among Singapore Residents
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4000924/
  4. Carpal tunnel syndrome
    https://medlineplus.gov/ency/article/000433.htm#:~:text=Carpal%20tunnel%20syndrome%20is%20a,in%20the%20hand%20and%20fingers.
  5. Ice Packs vs. Warm Compresses For Pain
    https://www.urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?contenttypeid=85&contentid=p00918
  6. Effects of a massage-like essential oil application procedure using Copaiba and Deep Blue oils in individuals with hand arthritis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30396617/
  7. Home Remedy Use Among African American and White Older Adults
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4631220/
  8. Capsicum
    https://medlineplus.gov/druginfo/natural/945.html
  9. Non-Drug Pain Management
    https://medlineplus.gov/nondrugpainmanagement.html
  10. The Effects of Massage Therapy on Pain Management in the Acute Care Setting
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3091428/
  11. Pain
    https://medlineplus.gov/pain.html#:~:text=Pain%20is%20not%20always%20curable,physical%20therapy%2C%20and%20sometimes%20surgery.
  12. How to make a splint
    https://medlineplus.gov/ency/article/000040.htm
  13. Calcium and bones
    https://medlineplus.gov/ency/article/002062.htm
  14. Alternative medicine – pain relief
    https://medlineplus.gov/ency/article/002064.htm
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Saral Jain
Saral Jainहेल्थ एंड वेलनेस राइटर
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ.

Read full bio of Saral Jain