Dr. Suvina Attavar, MBBS, DVD
Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

सोचिए चेहरा चमकता हुआ हो और गर्दन काली हो, तो कैसा लगेगा? दोस्तों, देखा जाता है कि अत्यधिक लोग अपने चेहरे को तो साफ करके चमका लेते हैं, लेकिन गर्दन की सफाई पर पूरा ध्यान नहीं दे पाते। इस कारण गदर्न पर समय के साथ गंदगी जमा होने लगती है और गर्दन की त्वचा का रंग काला पड़ने लगता है। इसके अलावा भी काली गर्दन के कई कारण हैं, जिन्हें लेख में बताया जाएगा। अगर आप भी काली गर्दन से परेशान हैं, तो स्टाइलक्रेज के इस लेख में बताए जा रहे गर्दन का कालापन दूर करने के घरेलू उपाय अपना सकते हैं। यहां जानिए गर्दन काली होने के कारण और इससे आराम पाने के कुछ कारगर घरेलू नुस्खे।

स्क्रॉल करें 

आर्टिकल में सबसे पहले जानिए गर्दन काली होने के कारण।  

गर्दन काली होने के कारण क्या हैं? – Causes of Dark Neck in Hindi

गर्दन काली होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनके बारे में हम नीचे बता रहे हैं (1) :

  1. हाइपरपिगमेंटेशन – त्वचा के पिगमेंट की अधिकता के कारण गर्दन का रंग काला पड़ सकता है। हाइपरपिगमेंटशन के पीछे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं, जैसे (2) :
  • सूरज की हानिकारक किरणें
  • हार्मोन से जुड़ा रोग जैसे एडिसन (जब एड्रेनल ग्लैंड हार्मोन का उत्पादन नहीं करती हैं)
  • बर्थमार्क्स
  • शरीर में आयरन की अधिकता
  • कुछ दवाइयों का दुष्प्रभाव
  1. अकन्थोसिस निगरिकन्स (Acanthosis Nigricans) – यह एक त्वचा संबंधी विकार है, जो गर्दन और शरीर के अन्य हिस्सों के आसपास की त्वचा के साथ ही त्वचा में पड़ने वाली सिलवटों को काला कर सकता है (3)।
  1. डर्मेटाइटिस नेगलेक्टा – एक त्वचा स्थिति जो स्वच्छता की कमी के कारण होती है। इसके कारण हाइपरपिगमेंटशन की समस्या हो सकती है (4)।
  1. टिनिया वर्सीकोलर (Tinea versicolor) – यह एक प्रकार का फंगल संक्रमण होता है, जो स्किन के पिगमेंटशन में गड़बड़ी पैदा कर सकता है, जिसके कारण त्वचा पर पैच हो सकते हैं। ये पैच आसपास की त्वचा की तुलना में हल्के या गहरे रंग के हो सकते हैं (5)।

पढ़ना जारी रखें 

चलिए अब जान लेते हैं गर्दन के कालेपन से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाय।

गर्दन के कालेपन से कैसे छुटकारा पाएं? – Home Remedies to Get Rid of Dark Neck in Hindi

सामान्य गर्दन के कालेपन को घर में ही मौजूद कुछ सामग्री का उपयोग करके दूर किया जा सकता है। नीचे हम आपको बता रहे हैं गर्दन के कालेपन को दूर करने के कुछ आसान घरेलू उपायों के बारे में।

1. एलोवेरा

सामग्री :

  • एलोवेरा जेल (आवश्यकतानुसार)

कैसे करें इस्तेमाल :

  • एलोवेरा जेल को अपनी गर्दन पर लगाकर कुछ देर मालिश करें।
  • करीब 10 मिनट बाद पानी से गर्दन को धो लें।
  • यह उपाय रोजाना किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

ऐलोवेरा का उपयोग त्वचा के लिए कई प्रकार से किया जा सकता है। जिनमें रंजकता या पिगमेंटेशन के प्रभाव को भी कम करना भी शामिल है। एक अध्ययन में पाया गया कि एलोवेरा में एलोइसिन नामक तत्व पाया जाता है। एलोवेरा में पाया जाने वाला यह तत्व टायरोसिनेस (एक एंजाइम जो मेलेनिल के उत्पादन का काम करता है) गतिविधि को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जिससे हाइपरपिगमेंटेशन की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है (6)।

2. सेब का सिरका

सामग्री :

  • दो चम्मच सेब का सिरका
  • चार चम्मच पानी
  • थोड़ी-सी रूई

कैसे करें इस्तेमाल :

  • पानी में सेब का सिरका मिला लें और रूई की मदद से इसे अपनी गर्दन पर लगाएं।
  • 10 मिनट तक इसे लगा छोड़ दें और फिर पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद : 

एप्पल साइडर विनेगर के फायदे सेहत के साथ ही त्वचा के लिए देखे गए हैं। रिचर्स में पाया गया कि इसमें पाया जाने वाला अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाकर स्वस्थ और नई त्वचा कोशिकाओं में मददगार हो सकता है। इसके एक्फोलिएटिंग गुण के कारण यह गर्दन के कालेपन से छुटकारा दिला सकता है। शोध में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि यह त्वचा के पीएच स्तर को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता (7)। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि सेब का सिरका काली गर्दन की समस्या में मददगार हो सकता है।

नोट: एप्पल साइडर विनेगर का उपयोग करने के बाद अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज करना न भूलें क्योंकि एप्पल साइडर विनेगर त्वचा को थोड़ा डीहाइड्रेट कर सकता है।

3. बादाम का तेल

सामग्री :

  • बादाम तेल या नारियल तेल की कुछ बूंदें
  • 1-2 बूंद टी ट्री ऑयल (वैकल्पिक)

कैसे करें इस्तेमाल :

  • गर्दन को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोकर सूखने दें।
  • अब बादाम के तेल या नारियल के तेल से अपनी गर्दन की मालिश करें।
  • चाहें, तो इसमें टी-ट्री ऑयल भी मिला सकते हैं।
  • इस तेल से 10 से 15 मिनट तक सर्कुलर मोशन में मालिश करें।
  • इसके बाद गुनगुने पानी से त्वचा साफ कर लें। तेल साफ करने के लिए रूई का इस्तेमाल कर सकती हैं।

कैसे है फायदेमंद :

गर्दन को साफ करने और कालेपन को हटाने के लिए बादाम के तेल का उपयोग किया जा सकता है। एक अध्ययन में इस बात की जानकारी दी गई है कि बादाम के तेल में एमोलिएंट (त्वचा को आराम पहुंचाने वाला गुण) गुण पाया जाता है। ये गुण त्वचा के रंग और स्किन टोन में सुधार करने के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। इससे कुछ हद तक काली गर्दन पर सुधार देखा जा सकता है (8)।

4. बेकिंग सोडा

सामग्री :

  • 2-3 बड़े चम्मच बेकिंग सोडा
  • पानी

कैसे करें इस्तेमाल :

  • बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर एक पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को अपनी गर्दन पर लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें।
  • पेस्ट के सूखने के बाद हाथों पर पानी लगाएं और धीरे-धीरे स्क्रब करना शुरू करें और फिर पानी से गर्दन को साफ कर लें।
  • गर्दन सूखने के बाद मॉइस्चराइजर लगा लें।

कैसे है फायदेमंद :

जैसा कि हमने बताया कि फंगल संक्रमण के कारण भी गर्दन का रंग काला पड़ सकता है। ऐसे में बेकिंग सोडा का उपयोग फंगल संक्रमण को दूर कर इससे होने वाली काली गर्दन की समस्या से बचाव का काम कर सकता है (9)। इसके अलावा, बेकिंग सोडा एक्सफोलिएटिंग गुण भी प्रदर्शित कर सकता है, जिससे त्वचा से मृत कोशिकाओं को दूर कर गर्दन की त्वचा को साफ करने में मदद मिल सकती है। फिलहाल, इससे जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है।

5. जैतून का तेल और नींबू का रस

सामग्री :

  • नींबू का रस
  • जैतून का तेल

कैसे करें इस्तेमाल :

  • नींबू के रस और जैतून के तेल को बराबर मात्रा में मिला लें।
  • इसे रात को सोने से पहले अपनी गर्दन पर लगाएं।

कैसे है फायदेमंद :

ऑलिव ऑयल यानी की जैतून के तेल के फायदे भी गर्दन की त्वचा को चमकदार बनाने में फायदेमंद हो सकते हैं। दरअसल, इसमें विटामिन-ई पाया जाता है, जो टायरोसिनेस गतिविधि को नियंत्रित कर हाइपरपिगमेंटेशन की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है (10)। इसके अलावा, नींबू में मौजूद  विटामिन-सी त्वचा को सूरज की हानिकारक पराबैंगनी किरणों के प्रभाव से बचा सकते हैं (11)। एक अन्य शोध के अनुसार, नींबू के रस में मौजूद विटामिन-सी त्वचा को निखारने में मददगार हो सकता है (12)।  

6. आलू का रस

सामग्री :

  • एक छोटा आलू

कैसे करें इस्तेमाल :

  • आलू को घिस लें और इसका रस निकाल लें।
  • इस रस को गर्दन पर लगाएं और 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • अब गुनगुने पानी से गर्दन को धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

आलू के फायदे सेहत और त्वचा के लिए भी देखे गए हैं। शोध में पाया गया कि आलू में विटामिन-सी की अच्छी मात्रा पाई जाती हैं (13)। वहीं, जैसा कि हमने ऊपर बताया कि विटामिन-सी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने और त्वचा का रंग साफ करने में मदद कर सकता है (14)। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि आलू का उपयोग गर्दन के कालेपन को दूर करने में मददगार हो सकता है।

जारी रखें पढ़ना   

7. ओटमील स्क्रब

सामग्री :

  • एक चौथाई कप ओट्स।
  • एक चम्मच टमाटर का रस।
  • गुलाब जल या जैतून का तेल।

कैसे करें इस्तेमाल :

  • ओट्स को पीसकर पाउडर बना लें।
  • इस पाउडर में टमाटर का रस और गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को अपनी गर्दन पर लगाकर 20 मिनट तक छोड़ दें।
  • अब इसे हाथों से रगड़ते हुए स्क्रब करें।
  • स्क्रब करने के बाद त्वचा को ठंडे पानी से धो लें और सूखने दें।

कैसे है फायदेमंद :

काली गर्दन से बचाव के लिए ओटमिल का उपयोग भी किया जा सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध के अनुसार, ओटमील में त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने के गुण पाए जाते हैं, जिससे काली गर्दन की समस्या से बचाव हो सकता है (15)। इसके अलावा, ओटमील का उपयोग क्लींजिंग एजेंट के रूप में भी किया जा सकता है, जो त्वचा की सफाई कर गंदगी के कारण होने वाली काली गर्दन की समस्या को दूर करने में मदद कर सकता है (16)। 

8. उबटन

सामग्री :

  • दो चम्मच बेसन
  • एक चुटकी हल्दी
  • आधा चम्मच नींबू का रस
  • गुलाब जल या योगर्ट

कैसे करें इस्तेमाल :

  • ऊपर बताई गई सभी सामग्रियों को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को अपनी गर्दन पर लगाकर 15 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें।
  • अब गुनगुने पानी से इसे धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

उबटन को त्वचा पर निखार लाने और गर्दन का कालापन दूर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उबटन त्वचा की अशुद्धियों को दूर कर उसे साफ कर सकता है। साथ ही इसमें एसपीएफ गुण यानी सन प्रोटेक्शन फार्मूला भी होता है, जो त्वचा पर पड़ने वाले सूर्य की हानिकारक किरणों के प्रभाव को कम कर सकता है (17)। 

9. विटामिन-ई कैप्सूल

सामग्री :

  • तीन से चार विटामिन-ई कैप्सूल

कैसे करें इस्तेमाल :

  • विटामिन-ई के कैप्सूल में किसी पिन से सुराख करके उसमें से तेल निकालकर कटोरी में डाल लें।
  • इस तेल को अपनी गर्दन पर लगाकर कुछ देर मालिश करें।
  • इसे रात भर गर्दन पर लगा रहने दें और सुबह उठकर धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

विटामिन ई के स्रोत त्वचा के रंग को निखारने के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि विटामिन-ई टायरोसिनेस गतिविधि को नियंत्रित कर हाइपरपिगमेंटेशन की समस्या से बचाव व इसे कम करने में मदद कर सकता है (10)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि विटामिन-ई कैप्सूल का उपयोग काली गर्दन की समस्या में फायदेमंद साबित हो सकता है।  

10. योगर्ट

सामग्री :

  • एक से दो चम्मच योगर्ट
  • एक चम्मच नींबू का रस

कैसे करें इस्तेमाल :

  • योगर्ट और नींबू के रस को अच्छी तरह मिलाकर अपनी गर्दन पर लगा लें।
  • इसे गर्दन पर 20 मिनट तक लगा रहने दें।
  • फिर पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

काली गर्दन की समस्या में योगर्ट का उपयोग भी फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, योगर्ट में लैक्टिक एसिड मौजूद होता है (18)। वहीं, लैक्टिक एसिड डिपिगमेंटेशन को बढ़ावा दे सकता यानी त्वचा के गहरे रंग को हल्का करने में मदद कर सकता है (19)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि काली गर्दन से निजात पाने में योगर्ट का उपयोग फायदेमंद साबित हो सकता है।

11. हल्दी

सामग्री :

  • एक से दो चम्मच सादा योगर्ट
  • एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर

कैसे करें इस्तेमाल :

  • योगर्ट में हल्दी पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें।
  • इस पेस्ट को गर्दन पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब गर्म पानी से इसे धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

हल्दी का उपयोग करने पर भी गर्दन के कालेपन को दूर किया जा सकता है। दरअसल, एक शोध के अनुसार हल्दी हाइपरपिगमेंटेशन के प्रभाव को कम कर सकती है। शोध में इस बात का जिक्र किया गया है कि हल्दी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट गुण फेशियल हाइपरपिगमेंटेशन को नियंत्रित कर सकता है। हाइपरपिगमेंटेशन के कारण गर्दन पर होने वाले कालेपन को हल्दी के इस्तेमाल से दूर किया जा सकता है (20)। कुछ लोगों को हल्दी से ऐलर्जी हो सकती है, इसलिए पैच टेस्ट जरूर करें।

12. शिया बटर

सामग्री :

  • शिया बटर

कैसे करें इस्तेमाल :

  • शिया बटर को अपनी गर्दन पर लगाएं।
  • इससे गर्दन की तीन से चार मिनट तक मालिश करें।
  • इसे धोएं नहीं।

कैसे है फायदेमंद :  

शिया बटर का उपयाेग त्वचा की देखभाल के लिए लाभदायक माना गया है। इससे जुड़े एक अध्ययन के अनुसार, शिया बटर में त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने के गुण पाए जाते हैं (21)। वहीं, काली गर्दन का एक कारण त्वचा पर पड़ने वाली सूर्य की हानिकारक किरणों का प्रभाव भी है। ऐसे में हम कह सकते हैं कि शिया बटर का उपयोग काली गर्दन की समस्या से बचने के लिए किया जा सकता है।  

आगे है कुछ और खास

आर्टिकल के इस हिस्से में जानिए गले का कालापन दूर करने का इलाज।

गले का कालापन दूर करने का इलाज

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि काली गर्दन की समस्या के पीछे कई कारण जिम्मेदार होते हैं। इसलिए, इसका इलाज भी इसके कारणों पर निर्भर करता है। अगर आम कारणों की वजह से हाइपरपिगमेंटेशन की समस्या है, तो डॉक्टरी सलाह पर स्किन लाइटनिंग क्रीम का उपयोग किया जा सकता है।

इसके अलावा, डॉक्टर त्वचा की स्थिति के अनुसार भी क्रीम, ऑइंटमेंट, दवाइयां, केमिकल पील या लेजर ट्रीटमेंट कराने  की भी सलाह दे सकते हैं (2)। वहीं, इसके पीछे अगर अकन्थोसिस निगरिकन्स और डर्मेटाइटिस नेगलेक्टा जैसे कारण हैं, तो डॉक्टर इनके इलाज के लिए आगे कदम बढ़ाएंगे।

पढ़ते रहें

अंत में जानते हैं गले का कालापन दूर करने के कुछ और जरूरी टिप्स।

गले का कालापन दूर करने के कुछ खास टिप्स – Tips for Dark Neck in Hindi

गले के कालेपन को दूर करने के लिए नीचे दिए गए टिप्स को अपनाया जा सकता है :

  • मुंह धोने के साथ-साथ अपनी गर्दन को धोना न भूलें।
  • बाहर जाने से पहले गर्दन पर भी सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाएं।
  • अच्छे ग्लो के लिए महीने में एक बार बादाम के तेल से मालिश कर सकते हैं।
  • ऐसी धातु की चीजें गले में बिल्कुल न पहनें, जिससे स्किन एलर्जी हो या जिससे त्वचा काली पड़े
  • प्रदूषण वाले स्थान पर जाने के पहले अपने चेहरे और गर्दन को अच्छी तरह से कवर कर लें।
  • किसी भी रासायनिक क्रीम का उपयोग करने के पहले अपने ब्यूटी स्पेशलिस्ट की सलाह जरूर लें।

जैसा की आपने इस लेख में पढ़ा कि गर्दन के कालेपन के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें हमारी लापरवाही भी शामिल है। ऐसे में, त्वचा का ध्यान रखकर और लेख में बताए गए काली गर्दन के घरेलू उपाय अपनाकर इस समस्या को कम किया जा सकता है। अगर घरेलू उपचार काम न आएं, तो एक बार त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क जरूर करें, क्योंकि इससे पीछे की त्वचा संबंधी बीमारी भी हो सकती है। हम उम्मीद करते हैं कि गले का कालापन कैसे दूर करें? इस सवाल का जवाब इन घरेलू उपचार से मिल गया होगा। अब हम नीचे पाठकों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या काली गर्दन मधुमेह का संकेत है?

इससे जुड़ा कोई सटीक शोध उपलब्ध नहीं है। अच्छा होगा इस विषय में एक बार डॉक्टर से बात करें।

क्या वजन कम करने के बाद गर्दन का कालापन दूर हो जाता है?

वजन बढ़ने से अकन्थोसिस निगरिकन्स (acanthosis nigricans) नामक त्वचा विकार हो सकता है, जो काली गर्दन का कारण बन सकता है (3)। ऐसे में डॉक्टरों का मानना है कि वजन कम करने से एसेंथोसिस निगरिकन्स को कम करने में मदद मिल सकती है। ऐसे में अगर  अकन्थोसिस निगरिकन्स के कारण गर्दन का कालापन है, तो वजन कम करने से गर्दन का कालापन दूर हो सकता है।

क्या मोटापा डार्क स्किन का कारण बनता है?

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मोटापे के कारण अकन्थोसिस निगरिकन्स नामक त्वचा विकार हो सकता है, जिससे स्किन डार्क हो सकती है।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Acquired hyperpigmentations
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3938350/
  2. Abnormally dark or light skin
    https://medlineplus.gov/ency/article/003242.htm
  3. Acanthosis nigricans
    https://medlineplus.gov/ency/article/000852.htm
  4. Dermatitis Neglecta — A Dirty Dermatosis: Report of Three Cases
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4372914/
  5. Tinea versicolor
    https://medlineplus.gov/ency/article/001465.htm
  6. Mechanisms Regulating Skin Pigmentation: The Rise and Fall of Complexion Coloration
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2769151/
  7. Formulation and evaluation of herbal face mist
    http://www.jipbs.com/VolumeArticles/FullTextPDF/471_JIPBSV7I102.pdf
  8. Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5796020/
  9. Antifungal activity of sodium bicarbonate against fungal agents causing superficial infections
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22991095/
  10. Vitamin E in dermatology
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4976416/
  11. Vitamin C in dermatology
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3673383/
  12. BASKETFUL BENEFIT OF CITRUS LIMON
    https://www.irjponline.com/admin/php/uploads/2498_pdf.pdf
  13. Bioactive Compounds in Potato Tubers: Effects of Farming System, Cooking Method, and Flesh Color
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4854395/
  14. Discovering the link between nutrition and skin aging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583891/
  15. Oatmeal in dermatology: a brief review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22421643/
  16. Safety and efficacy of personal care products containing colloidal oatmeal
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3508548/
  17. Evaluation of Ubtan – A traditional indian skin care formulation
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27416804/
  18. Lactic acid
    https://www.sciencedirect.com/topics/immunology-and-microbiology/lactic-acid#:~:text=Lactic%20acid%20is%20a%20natural,such%20as%20meat%20and%20beer.
  19. Lactic Acid Bacteria and Lactic Acid for Skin Health and Melanogenesis Inhibition
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31916515/
  20. Are Natural Ingredients Effective in the Management of Hyperpigmentation? A Systematic Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5843359/
  21. Effects of Oral and Topical Use of the Oil from the Nut of Vitellaria paradoxa
    https://www.researchgate.net/publication/280620957_Effects_of_Oral_and_Topical_Use_of_the_Oil_from_the_Nut_of_Vitellaria_paradoxa
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Dr. Suvina Attavar
Dr. Suvina Attavar - I have a thirst for learning and a passion for Dermatology, Cosmetology and hair transplantation. I am well versed with lasers, chemical peels, and other minor dermatologic procedures. I have been doing hair transplants since 2018.

Read full bio of Dr. Suvina Attavar