Neelanjana Singh, RD
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि सैलून में आपके पेडीक्योर टब में क्या होता है? जब आपके पैरों में दर्द होता है या सूजन आती है, तो घर के बड़े-बुजुर्ग कौन-से नमक के पानी में पैर डालकर रखने के लिए कहते हैं? अगर आपको लगता है कि यह हर रोज खाने में उपयोग होने वाला नमक है या रॉक साल्ट है, तो आप गलत हैं। इस खास नमक को एप्सम सॉल्ट कहते हैं। हालांकि, इसे सेंध या सेंधा नमक के नाम से भी जाना जाता है, लेकिन यह रॉक सॉल्ट और व्रत में खाने वाला सेंधा नमक नहीं है। एप्सम साल्ट में मुख्य रूप से मैग्नीशियम सल्फेट पाया जाता है और व्रत वाले सेंधा नमक में सोडियम क्लोराइड होता है। इस लेख में हम एप्सम साल्ट के फायदे बताएंगे, जिसके बारे में शायद कम ही लोग जानते होंगे। इस आर्टिकल में हम एप्सम साल्ट के गुण के बारे में विस्तार से बताएंगे।

स्क्रॉल करें

लेख के शुरुआत में हम आपको बता रहे हैं कि एप्सम साल्ट क्या है।

एप्सम साल्ट क्या है? – What is Epsom Salt in Hindi

एप्सम साल्ट क्या होता है, अक्सर यह सवाल लोगों के दिमाग में उठता है। यह नमक नहीं बल्कि स्वाभाविक रूप से पाया जाने वाला एक मिनरल है, जो मैग्नीशियम और सल्फर से मिलकर बना है। इसे एप्सम सॉल्ट (Epsom salt) के नाम से भी जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम मैग्नीशियम सल्फेट है। एप्सम सॉल्ट का नाम इंग्लैंड के शहर एप्सम पर रखा गया है, जहां मैग्नीशियम सल्फेट की उच्च मात्रा प्राकृतिक रूप से पानी में मौजूद होती है। आसानी से घुलने वाला यह खनिज पानी में मिलते ही चार्ज होता है और सल्फेट व मैग्नीशियम आयन (ion) को रिलीज करता है (1)

एप्सम साल्ट क्या होता है, यह तो आप जान गए हैं। अब जानते हैं कि एप्सम साल्ट किस तरह काम करता है।

एप्सम साल्ट कैसे काम करता है?

जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि पानी में घुलते ही यह एप्सम सॉल्ट चार्ज हो जाता है। ऐसा होने पर यह पॉजिटिवली चार्ज मैग्नीशियम और नेगेटिवली चार्ज सल्फेट आयन रिलीज करता है। माना जाता है कि यह शरीर से संबंधित कई परेशानियों को कम करने व उनसे बचाव में मदद कर सकता है। आइए, नीचे विस्तार से जानते हैं कि एप्सम साल्ट के फायदे क्या-क्या हैं। हां, इसके फायदे के लिए एप्सम साल्ट कौन सा होता है, यह जानना भी जरूरी है। इन फायदों के लिए बाजार से एप्सम साल्ट बोलकर ही इसे खरीदें।

पढ़ते रहें आर्टिकल

आगे हम विस्तार से एप्सम साल्ट के फायदे और एप्सम साल्ट के गुण के बारे में बता रहे हैं।

एप्सम साल्ट के फायदे – Benefits of Epsom Salt in Hindi

एप्सम साल्ट के फायदे और नुकसान दोनों ही हो सकते हैं। बस यह इस बात पर निर्भर करता है कि इसका इस्तेमाल किस तरह से किया जा रहा है, क्योंकि इसके सेवन से ज्यादा इसे नहाने और पैर डुबाने के लिए सुरक्षित माना जाता है।एप्सम साल्ट के फायदे और सही इस्तेमाल के बारे में हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं। बस ध्यान दें कि यह किसी गंभीर बीमारी का इलाज नहीं बल्कि स्वस्थ रहने और शारीरिक समस्याओं से बचाव का एक तरीका मात्र है।

1. तनाव कम करने के लिए एप्सम साल्ट के फायदे

एप्सम साल्ट के पानी से नहाने या फ्लोटेशन रेस्ट (Floatation-REST) थेरेपी लेने से तनाव काफी हद तक कम हो सकता है। इस थेरेपी के दौरान पीड़ित व्यक्ति को एप्सम साल्ट वाले गुनगुने पानी से भरे टैंक में लेटाया जाता है। एक शोध के दौरान इससे स्ट्रेस में ही नहीं बल्कि मांसपेशियों में होने वाले दर्द, अवसाद और चिंता में भी कमी पाई गई है (2)।  हफ्ते में दो से तीन बार एप्सम साल्ट से नहाने के फायदे को उठाया जा सकता है। इससे स्ट्रेस से काफी हद तक राहत मिल सकती है।

2. मांसपेशियों में खिंचाव, पैर दर्द और हल्की खरोंच के लिए एप्सम साल्ट के फायदे

एप्सम साल्ट से नहाने के फायदे में मांसपेशियों का खिंचाव और पैर दर्द से राहत भी शामिल है। गर्म पानी में एप्सम साल्ट डालकर उससे नहाने या पैर डुबोने से आराम मिल सकता है। इससे न सिर्फ पैर दर्द कम होगा बल्कि मांसपेशियों में खिंचाव, ऐंठन और दर्द से भी राहत भी मिल सकती है (3)माना जाता है कि यह ब्रूस (Bruise) यानी हल्की खरोंच व त्वचा के छिलने पर भी राहत दे सकता है। हालांकि, इस संबंध में अभी शोध की आवश्यकता है (4)

3. इंसुलिन उत्पादन और मधुमेह नियंत्रण के लिए एप्सम साल्ट के फायदे

कई बार शरीर में मैग्नीशियम की कमी भी डायबिटीज का कारण बन जाती है। डायबिटिक लोगों के शरीर से मैग्नीशियम यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है। ऐसा होने से टिश्यू इंसुलिन के प्रति असंवेदनशील हो जाते हैं, जिससे इंसुलिन हार्मोन का स्तर कम हो सकता है और डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। इसी वजह से माना जाता है कि एप्सम साल्ट से इंसुलिन प्रतिरोध और डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है (5) (6)। इसके लिए एप्सम साल्ट के सप्लीमेंट का सेवन किया जा सकता है (7)। ध्यान रहे कि इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर से अवश्य परामर्श लें, क्योंकि इसका अधिक सेवन विषाक्तता का कारण बन सकता है (8)

4. लैक्सेटिव गुण और कब्ज की समस्या

एप्सम साल्ट में लैक्सेटिव गुण होता है। यह गुण पेट साफ करने में मदद कर सकता है। एक रिसर्च में कहा गया है कि इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि एप्सम सॉल्ट पाचन हार्मोन और न्यूरोट्रांसमीटर को रिलीज करके शक्तिशाली लैक्सेटीव प्रभाव को दर्शाता है। इसी रिसर्च में यह भी बताया गया है कि यह कब्ज व पेट साफ करने में कितना फायदेमंद है, इसपर किसी तरह का ट्राइल नहीं किया गया है (9)

एक अन्य शोध में जिक्र है कि मैग्नीशियम का इस्तेमाल कब्ज के लिए किया जाता है, लेकिन लंबे समय तक ज्यादा मात्रा में उपयोग करने से विषाक्तता हो सकती है (8)। इसी वजह से एप्सम साल्ट का पानी पीने के फायदे में कब्ज को भी गिना जाता है।

5. टो नेल फंगस और इंफ्लेमेशन (सूजन) के लिए एप्सम साल्ट

पैर के नाखून में होने वाले संक्रमण से राहत पाने के लिए भी एप्सम सॉल्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह संक्रमण के कारण होने वाली सूजन और दर्द को कम कर सकता है (10)। गर्म पानी में एप्सम साल्ट डालकर प्रभावित अंग को करीब 30 मिनट तक डालने से आराम मिल सकता है। इससे त्वचा हाइड्रेट रहती है और त्वचा संबंधित सूजन से भी बचाव हो सकता है (11)

जारी रखें पढ़ना

6. पाचन

गलत खान-पान के कारण कई लोगों को पाचन से संबंधित समस्याएं होती हैं। पाचन शक्ति को सुधारने में एप्सम साल्ट का उपयोग किया जा सकता है। एक शोध के मुताबिक एप्सम साल्ट डाइजेस्टिव हार्मोन्स को रिलीज करता है। इसी वजह से माना जाता है कि एप्सम साल्ट का पानी पीने के फायदे में पाचन में मदद व सुधार भी शामिल है (9)

7. सिरदर्द और माइग्रेन

सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या आम है। माना जाता है कि मैग्नीशियम की कमी होने से माइग्रेन का दर्द हो सकता है। ऐसे में मैग्नीशियम की कमी को कुछ हद तक एप्सम सॉल्ट पूरा कर सकता है, जिससे सिरदर्द और माइग्रेन कम हो सकता है (12)। इसके लिए डॉक्टरी परामर्श पर एप्सम सॉल्ट के सप्लीमेंट लिए जा सकते हैं। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

एक अन्य अध्ययन में कहा गया है कि कई बार सिरदर्द की समस्या से आराम दिलाने के लिए मैग्नीशियम सल्फेट को इंजेक्शन के जरिए दिया जाता है (13)। ध्यान दें कि घर पर इसका इस्तेमाल इंजेक्शन की तरह नहीं बल्कि नहाने और सप्लीमेंट के रूप में किया जाना चाहिए। अगर इसका सेवन खाने के लिए करें, तो मात्रा पर गौर करें, जैसा कि हम ऊपर भी बता चुके हैं कि इसकी अधिकता टॉक्सिसिटी का कारण बन सकती है।

8. दर्द से राहत

दर्द से राहत दिलाने में भी एप्सम साल्ट मदद कर सकता है। मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द के लिए इसे फायदेमंद माना जाता है। हम ऊपर बता चुके हैं कि मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन के लिए भी एप्सम साल्ट लाभदायक हो सकता है। इसके अलावा, पेट दर्द होने पर भी लोग एप्सम साल्ट के पानी से सिकाई व नहाने से बेहतर महसूस कर सकते हैं (3)

9. त्वचा के लिए एप्सम साल्ट के लाभ

जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि एप्सम साल्ट त्वचा को हाइड्रेट कर सकता है। इसके लिए एप्सम साल्ट को पानी में घोलकर रूई की मदद से चेहरे पर लगाया जा सकता है या फिर नहाते हुए स्किन को एप्सम वाटर में सोक करके रख सकते हैं (11)। कुछ लोग त्वचा विकार के लिए भी एप्सम सॉल्ट की गुनगुनी सिकाई का इस्तेमाल करते हैं (14) (15)

इसके अलावा, एप्सम साल्ट का हल्का दरदरापन चेहरे को एक्सफोलिएट भी कर सकता है। इसके लिए इसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर मास्क के रूप में लगाया जा सकता है। हालांकि, इसका कोई सटीक वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है, लेकिन लोक मान्यता है कि यह स्किन के लिए फायदेमंद हो सकता है।

10. बालों के लिए एप्सम साल्ट

एप्सम साल्ट बालों के लिए भी गुणकारी हो सकता है। बताया जाता है कि मैग्नीशियम बालों की ग्रोथ के लिए जरूरी मिनरल्स में से एक है (16)। इसी वजह से लोग इसको घोल से बालों को साफ करते हैं। साथ ही इसे बालों के स्प्रे की तरह भी उपयोग करते हैं। माना जाता है कि बालों के रोम से मैग्नीशियम आसानी से शरीर में प्रवेश कर सकता है (14)

अंत तक पढ़ें

आगे हम बता रहे हैं कि एप्सम साल्ट का उपयोग।

एप्सम साल्ट का उपयोग – How to Use Epsom Salt in Hindi

एप्सम साल्ट के लाभ के बारे में तो आप जान चुके हैं। इसका फायदा शरीर को सही तरीके से पहुंचे इसके लिए एप्सम साल्ट का उपयोग करने की सटीक जानकारी भी जरूरी है। आइए जानते हैं इसके बारे में।

  1. पैरों को भिगोने के लिए एप्सम साल्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए चाहिए आधा कप एप्सम साल्ट और गर्म पानी। पानी उतना ही गर्म हो, जितना पैर सह सकें।
  2. एप्सम साल्ट से नहाने के फायदे के बारे में तो हम ऊपर बता ही चुके हैं। नहाने के लिए भी एप्सम साल्टका उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए सिर्फ एप्सम साल्ट और गर्म पानी का ही इस्तेमाल करें।
  3. इसका पेस्ट बनाकर बतौर स्किन मास्क इस्तेमाल किया जा सकता है।
  4. इसे दांतों की चमक बढ़ाने या मुंह की बदबू हटाने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।
  5. कुछ लोग मानते हैं कि एप्सम साल्ट खाने के फायदे भी होते हैं, तो उन्हें बता दें कि एप्सम साल्ट खाने के फायदे से जुड़ा कोई ठोस वैज्ञानिक शोध नहीं है। इसे खाने के बजाए इससे नहाने और इसमें हाथ-पैर को डुबोने की सलाह दी जाती है।

स्क्रॉल करें

अब हम एप्सम साल्ट को सुरक्षित रखने के तरीके पर बात करते हैं।

एप्सम साल्ट को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

एप्सम साल्ट को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए इसे एयरटाइट डिब्बे में बंद करके रखें। ऐसा न करने पर इसमें नमी आ सकती है और यह खराब हो सकता है।

आगे हम एप्सम साल्ट के अन्य फायदों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

एप्सम साल्ट के अन्य फायदे

एप्सम साल्ट के गुण की वजह से शरीर को इसके कई अन्य फायदे भी हो सकते हैं। आइए, जानते हैं एप्सम साल्ट के कुछ और फायदों के बारे में  (12) (17)

  • मैग्नीशियम की कमी की वजह से हड्डियों का घनत्व कम हो सकता है, जिस वजह से ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी संबंधी समस्या) हो सकता है। इसी वजह से माना जाता है कि मैग्नीशियम से समृद्ध एप्सम सॉल्ट इस समस्या से राहत दिला सकता है।
  • मैग्नीशियम की कमी को पूरा कर सकता है।
  • अवसाद और चिंता को दूर करने में मदद कर सकता है।
  • मैग्नीशियम की कमी की वजह से नींद की गुणवत्ता में भी कमी आती है। इसी वजह से माना जाता है कि एप्सम सॉल्ट से स्नान करने से नींद संबंधी परेशानी कम हो सकती है। हालांकि, इसमें अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

आगे पढ़ें

अब जानें एप्सम साल्ट को कहां से खरीदा जा सकता है।

एप्सम साल्ट कहां से खरीदें?

एप्सम साल्ट को पास के लोकल मार्केट व किराने की दुकान से खरीद सकते हैं। इसके अलावा, इसे ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है।

अंत तक पढ़ें

एप्सम साल्ट खाने के फायदे और नुकसान दोनों हो सकते हैं। इस नमक के उपयोग से होने वाले फायदे के बारे में तो आप जान चुके हैं, आइए अब नुकसान पर नजर डालें।

एप्सम साल्ट के नुकसान – Side Effects of Epsom Salt in Hindi

एप्सम साल्ट के ज्यादा उपयोग से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। नीचे हम कुछ संभावित एप्सम साल्ट के नुकसान के बारे में बता रहे हैं (8) (18)

  • अगर किसी को डायबिटीज है, तो एप्सम सॉल्ट के पानी में बिना डॉक्टर की सलाह के पैर नहीं डुबोने चाहिए। ऐसा करने से एप्सम साल्ट के नुकसान हो सकते हैं।
  • जैसा कि हम ऊपर बता चुके हैं कि इसमें लैक्सेटिव गुण होते हैं, इसलिए इसका ज्यादा सेवन डायरिया की वजह बन सकता है।
  • गर्भवती महिलाओं को एप्सम साल्ट का उपयोग करने से बचाना चाहिए या फिर डॉक्टर के परामर्श पर ही इस्तेमाल करना चाहिए।
  • इसका लंबे समय तक ज्यादा उपयोग करने से विषाक्तता हो सकती है।

अगर एप्सम साल्ट को सही तरीके से उपयोग किया जाए, तो एप्सम साल्ट के फायदे शरीर को कई तरह से हो सकते हैं। इसके नुकसानों को पढ़कर घबराने की जरूरत नहीं, क्योंकि किसी भी चीज का अत्यधिक उपयोग हानिकारक होता है। एप्सम साल्ट के गुण से फायदा तभी होगा जब इसका सही तरीके से उपयोग किया जाए। आगे हम एप्सम साल्ट से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब दे रहे हैं।

क्या गठिया को ठीक करने के लिए एप्सम साल्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है?

गठिया में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए एप्सम साल्ट का उपयोग किया जा सकता है। एप्सम साल्ट गठिया की वजह से होने वाली सूजन और दर्द से राहत दिला सकता है (4)

एप्सम साल्ट के विकल्प क्या हैं?

फुट सोक या नहाने के लिए समुद्री नमक एक सुरक्षित विकल्प है। अपनी त्वचा, पैर और स्कैल्प को स्वस्थ रखने के लिए ओटमील, सेब का सिरका या एसेंशियल ऑयल का उपयोग कर सकते हैं।

क्या एप्सम सॉल्ट को खाया जा सकता है?

बिना डॉक्टरी परामर्श के इसे खाने की सलाह नहीं दी जाती है। इसे खाने से डायरिया, उल्टी, जी-मिचलाना या पेट दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं (19)

क्या गर्भावस्था में एप्सम सॉल्ट का इस्तेमाल सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में मैग्नीशियम बेहद जरूरी खनिज होता है। इसलिए डॉक्टर डायट मैग्नीशियम युक्त चीजों को डाइट में शामिल करने की सलाह देते हैं। लेकिन एप्सम साल्ट में मैग्नीशियम सल्फेट होता है (17)। वहीं, इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह पर ही किया जाना चाहिए अन्यथा इसके नकारात्मक परिणाम भी हो सकते हैं।

क्या लंबे समय तक एप्सम सॉल्ट में पैर भिगोए जा सकते हैं?

नहीं, ज्यादा देर तक एप्सम सॉल्ट में पैर भिगोए रखने की सलाह नहीं दी जाती है।

क्या एप्सम सॉल्ट का पानी पिया जा सकता है?

कब्ज की समस्या से राहत पाने के लिए कम मात्रा में इसे पिया जा सकता है। इसे पीते ही अधिक से अधिक पानी भी पीना चाहिए (18)। हां, इसका सेवन ज्यादा बार और अधिक मात्रा में करना वर्जित है। इसकी खुराक से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

एप्सम साल्ट में आयोडीन होता है या नहीं?

जैसा कि हम ऊपर बता चुके हैं कि एप्सम साल्ट मैग्नीशियम और सल्फेट से बना होता है। इसी वजह से इसमें आयोडीन नहीं होता है। जिस नमक को हम घर में खाना बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं उसमें आयोडीन होता है।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. EPSOM SALT USE IN HOME GARDENS AND LANDSCAPES
    https://www.researchgate.net/publication/333516299_EPSOM_SALT_USE_IN_HOME_GARDENS_AND_LANDSCAPES
  2. Examining the Short-Term Anxiolytic and Antidepressant Effect of Floatation-REST
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29394251/
  3. Home Remedy Use Among African American and White Older Adults
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4631220/
  4. Effectiveness of application of hot water with Epsom salt v/s plain hot water on knee joint pain among geriatric women
    http://www.thepharmajournal.com/archives/2019/vol8issue6/PartH/8-5-169-652.pdf
  5. [Magnesium and Glucose Metabolism]
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/8091358/
  6. Implications of Magnesium Deficiency in Type 2 Diabetes: A Review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19629403/
  7. Effects of Administration of Oral Magnesium on Plasma Glucose and Pathological Changes in the Aorta and Pancreas of Diabetic Rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16120185/
  8. The Osmotic and Intrinsic Mechanisms of the Pharmacological Laxative Action of Oral High Doses of Magnesium Sulphate. Importance of the Release of Digestive Polypeptides and Nitric Oxide
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/8878010/
  9. Current management strategies and therapeutic targets in chronic constipation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3036964/
  10. Ingrown toenail removal – discharge
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000946.htm
  11. The Importance of Magnesium in Clinical Healthcare
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5637834/
  12. Magnesium and Human Health: Perspectives and Research Directions
    https://www.hindawi.com/journals/ije/2018/9041694/
  13. Intravenous Magnesium Sulfate Rapidly Alleviates Headaches of Various Types
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/8984087/
  14. Permeation of Topically Applied Magnesium Ions Through Human Skin Is Facilitated by Hair Follicles
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27624531/
  15. MAGNESIUM SULFATE
    https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/source/hsdb/664
  16. Nutrition of women with hair loss problem during the period of menopause
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4828511/
  17. Myth or Reality—Transdermal Magnesium?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579607/
  18. EPSOM SALT- magnesium sulfate granule, for solution
    https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/fda/fdaDrugXsl.cfm?setid=a78d991a-ba21-4bc4-b8f9-f8dafbddc28f&type=display
  19. Magnesium Sulfate-Rich Natural Mineral Waters in the Treatment of Functional Constipation–A Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7400933/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the nutrition facility at PSRI Hospital, New Delhi. She has taught Nutrition and Health Education at the University of Delhi for over 7 years.   She has authored several books on nutrition: Our Kid Eats Everything (Hachette), Why Should I Eat...read full bio