How To Potty Train AChild with Autism, PG Diploma In Dietetics & Hospital Food Services
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

फलों के लाभ कई हैं, जिस कारण सभी इनका सेवन करते हैं। बेशक, आप सभी फलों से परिचित होंगे, लेकिन यहां हम जिस फल की बात कर रहे हैं, उसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। इस फल का नाम है ड्रैगन फ्रूट। इसके रंग रूप को देखते हुए इसे यह नाम दिया गया है। ड्रैगन फ्रूट का उपयोग शरीर से जुड़े कई विकारों से आराम पाने के लिए किया जा सकता है। यकीन मानिए ड्रैगन फ्रूट की जानकारी मिलने के बाद आप खुद को इसे खाने से रोक नहीं पाएंगे। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम ड्रैगन फ्रूट के फायदे और इसके उपयोग के बारे में विस्तार से जानेंगे। यह हमें स्वस्थ रखने के साथ-साथ कुछ शारीरिक समस्याओं से उबरने में भी मदद कर सकता है। वहीं, अगर कोई गंभीर रूप से बीमार है, तो उसे डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

आगे पढ़िए विस्तार से

ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स जानने से पहले जरूरी होगा कि ड्रैगन फ्रूट क्या है, इस बारे में थोड़ा अच्छे से जान लें।  

ड्रैगन फ्रूट क्या है? – What is Dragon Fruit in Hindi

ड्रैगन फ्रूट का वैज्ञानिक नाम हिलोकेरेस अंडटस है। यह दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। यह एक किस्म की बेल पर लगने वाला फल है, जो कैक्टेसिया फैमिली से संबंधित है। इसके तने गूदेदार और रसीले होते हैं। ड्रैगन फ्रूट दो प्रकार का होता है – सफेद गूदे वाला और लाल गूदे वाला। खास यह है कि इसके फूल बहुत ही सुगंधित होते हैं, जो रात में ही खिलते हैं और सुबह होने तक झड़ जाते हैं। इसके गुणों और फायदों को देखते हुए अब इसे पटाया, क्वींसलैंड, पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स में भी उगाया जाने लगा है। इसका उपयोग सलाद, मुरब्बा, जेली और शेक बनाकर किया जा सकता है (1)।

नीचे तक करें स्क्रॉल

ड्रैगन फ्रूट क्या है, इस बारे में जानने के बाद आगे लेख में हम बात करेंगे ड्रैगन फ्रूट के फायदे के बारे में।

ड्रैगन फ्रूट के फायदे – Benefits of Dragon Fruit in Hindi

नीचे हमने ड्रैगन फ्रूट के फायदे के बारे में विस्तार से बताया है जो कई शारीरिक विकारों से निपटने में मदद कर सकते हैं। ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म तो नहीं करते, लेकिन विभिन्न लक्षणों को कम करके आराम जरूर दिला सकते हैं। नीचे विस्तार से जानिए ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे हिंदी में :

1. डायबिटीज में ड्रैगन फ्रूट के फायदे

ड्रैगन फ्रूट में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव के साथ-साथ फ्लेवोनोइड, फेनोलिक एसिड, एस्कॉर्बिक एसिड और फाइबर होता है। ये सभी तत्व ब्लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। वहीं, जिन लोगों को डायबिटीज नहीं है, उनके लिए ड्रैगन फ्रूट्स का सेवन डायबिटीज से बचने का अच्छा तरीका हो सकता है (2)।

2. हृदय के लिए ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स

डायबिटीज दुनिया के सबसे खतरनाक रोगों में से एक है। कुछ मामलों में यह हृदय रोग का कारण भी बन सकती है। डायबिटीज के कारण हृदय रोग होने के पीछे शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का बढ़ता प्रभाव भी एक वजह होता है। ऐसे में एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर फल और सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है और ऐसे ही फलों में ड्रैगन फल का नाम भी शामिल है। ड्रैगन फ्रूट्स बीटालायंस, पॉलीफेनोल्स और एस्कॉर्बिक एसिड जैसे प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट से युक्त होता है, जिस कारण यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का प्रभाव कम करके हृदय को सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके अलावा, ड्रैगन फ्रूट में पाए जाने वाले छोटे-छोटे काले बीज ओमेगा-3 और ओमेगा-9 फैटी एसिड के अच्छे स्रोत हैं, जो हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते है (3)।

3. कैंसर में बेनिफिट्स ऑफ ड्रैगन फ्रूट

शोधकर्ताओं के मुताबिक, ड्रैगन फ्रूट के फायदे कैंसर में आराम पाने में देखे गए हैं। इसमें एंटीट्यूमर, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण देखे गए हैं। साथ ही इस पर किए गए प्रयोग में भी पाया गया कि ड्रैगन फ्रूट में पाए जाने वाले ये खास गुण महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाने में मदद कर सकते हैं (4)। कैंसर एक खतरनाक बीमारी है और ड्रैगन फ्रूट का उपयोग इसका उपचार नहीं है। इस समस्या के लिए डॉक्टर से परामर्श करके सही ट्रीटमेंट लेना जरूरी है।

4. कोलेस्ट्रॉल करे नियंत्रित

ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखना भी शामिल है। बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल शरीर में कई गंभीर बीमारियों की वजह बन सकता है, जिसमें दिल का दौरा और स्ट्रोक भी शामिल है (5)। इसके लिए ड्रैगन फ्रूट का उपयोग करना फायदेमंद हो सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) द्वारा प्रकाशित एक शोध में यह बताया गया है कि लाल ड्रैगन फ्रूट का सेवन टोटल कोलेस्ट्रॉल (TC), ट्राइग्लिसराइड (TG) और कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (LDL-C) को कम कर सकता है। वहीं, यह अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है (6)।

5. पेट संबंधी समस्याओं में लाभदायक

ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स पेट संबंधित समस्याओं से आराम पाने में भी मिल सकते हैं। दरअसल, इसमें मौजूद ओलिगोसैकराइड (एक तरह का केमिकल कंपाउंड) में प्रीबायोटिक गुण पाए जाते हैं, जो आंत में हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। इससे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है। ये पेट और आंत के अच्छे माइक्रोबायोम को बढ़ावा देते हैं। इससे पेट और आंत से जुड़े विकारों को दूर रखने में और पेट व आंत को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिल सकती है (7)। इसके साथ ही ड्रैगन फ्रूट्स फाइबर और कई विटामिन से युक्त होता है, जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है (8)।

6. गठिया में ड्रैगन फ्रूट के फायदे

गठिया या अर्थराइटिस ऐसी शारीरिक समस्या है, जो जोड़ों को प्रभावित करती है। इसमें जोड़ों में दर्द होता है, सूजन आती है और उन्हें हिलाने में समस्या होती है (9)। यह कई कारणों से हो सकता है और इनमें एक कारण शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का बढ़ जाना भी है, जिसे कम करने के लिए एक अच्छे एंटीऑक्सीडेंट का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। बताया जाता है कि ड्रैगन फ्रूट एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होता है और गठिया से आराम दिलाने में मदद कर सकता है (8)।

7. इम्यूनिटी के लिए ड्रैगन फल के फायदे

इम्यूनिटी को रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कहा जाता है। यह हमें कई रोगों से बचाने में मदद कर सकती है। इम्यूनिटी सिस्टम शरीर के कुछ खास अंग, सेल और केमिकल से मिल कर बनी होता है और संक्रमण को खत्म करने में मदद करता है (10)। इस क्षमता को बढ़ाने में भी ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे देखे गए हैं। मन जाता है कि ड्रैगन फ्रूट में मौजूद विटामिन-सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनता है। इससे शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाया जा सकता है (11)।

8. डेंगू में लाभकारी

ड्रैगन फ्रूट का उपयोग डेंगू का उपचार करने में सहायक साबित हो सकता है। इसके लिए ड्रैगन फ्रूट के बीज का उपयोग किया जा सकता है। इन बीजों के फाइटोकेमिकल में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीवायरल गुण पाए जाते हैं, जो डेंगू के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते है (12)। साथ ही, इसमें मौजूद विटामिन-सी शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, जिससे बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। (13)। फिलहाल, इस संबंध में और वैज्ञानिक शोध किया जा रहा है कि ड्रैगन फ्रूट कैसे डेंगू में फायदा कर सकता है।

9. हड्डियों और दांत के लिए लाभदायक

ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे हड्डियों और दांतों को मजबूती प्रदान करने में सहायक साबित हो सकते हैं। इसकी मुख्य वजह है, इसमें पाई जाने वाली कैल्शियम और फास्फोरस की मात्रा। कैल्शियम और फास्फोरस का अच्छा स्रोत होने के कारण इसका इस्तेमाल हड्डियों और दांतों के लिए लाभकारी साबित हो सकता है (13)। वहीं, ड्रैगन फ्रूट में मौजूद मैग्नीशियम भी हड्डियों और दांतों के लिए लाभदायक हो सकता है।

10. शारीरिक कोशिकाओं की मरम्मत

ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस शरीर को कई तरीकों से नुकसान पहुंचाता है। यहां तक कि यह शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। इसमें मौजूद गैलिक एसिड एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है, जिसमें एंटी-एपोप्टोटिक प्रभाव पाया जाता है। यह कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाने में मदद कर सकता है। साथ ही स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाए बिना कैंसर सेल को कम करने में भी सहायक हो सकता है (11)।

11. अस्थमा में ड्रैगन फल के फायदे

अस्थमा एक क्रोनिक (लंबे समय तक चलने वाली) बीमारी है, जिसमें सांस लेने में तकलीफ होती है। इसके साथ सीने में दबाव व खांसी आदि समस्या हो सकती है। ऐसा विभिन्न कारणों से हो सकता है, जिसमें एलर्जी, किसी दवा कर प्रभाव, आनुवंशिकता आदि शामिल है (14)। इससे आराम पाने में ड्रैगन फ्रूट का उपयोग किया जा सकता है। एक शोध में यह बताया गया है कि ड्रैगन फ्रूट का नियमित उपयोग अस्थमा और उसके कारण जैसे खांसी से आराम पाने में मदद कर सकता है (13)। इसकी कार्यप्रणाली पर अभी वैज्ञानिक और शोध कर रहे हैं।

12. गर्भावस्था में लाभदायक

लोगों के मन में यह सवाल आता होगा कि ड्रैगन फ्रूट प्रेगनेंसी में खाना चाहिए या नहीं, तो हम बता दें कि गर्भवती महिला के लिए भी ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे देखे गए हैं। गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में एनीमिया के कारण खून की कमी होना आम समस्या है। ऐसा शरीर में आयरन की कमी से हो सकता है। ऐसे में शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाती है, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं। गर्भावस्था में एनीमिया कई गंभीर समस्याओं जैसे गर्भपात, जन्म के समय शिशु की मृत्यु, समय से पहले प्रसव और अन्य समस्याओं का कारण बन सकता है। वहीं, ड्रैगन फ्रूट में आयरन की मात्रा पाई जाती है, जो गर्भवती महिलाओं में एनीमिया की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है (15) (16)। ड्रैगन फ्रूट का उपयोग सामान्य समय में भी आयरन की कमी को पूरा करने और एनीमिया से राहत पाने के लिए किया जा सकता है (15)।

13. कंजेनिटल ग्लूकोमा में है मददगार

कंजेनिटल ग्लूकोमा एक जन्म दोष है, जिसमें आंखों के अंदर का भाग पूरी तरह विकसित नहीं हो पाता। यह कई बार आनुवंशिक भी होता है। इसमें आंखों के आगे सफेद परत-सी छाई रहती है। इससे एक आंख बड़ी/छोटी या दोनों आंखें बड़ी होने लगती हैं। साथ ही इससे आंखें लाल हो जाती है और लाइट के आगे संवेदनशील भी हो जाती हैं (17)। कंजेनिटल ग्लूकोमा से आराम पाने में ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे भी काम आ सकते हैं। ऐसा इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव के कारण होता है, लेकिन इसकी कार्यप्रणाली पर अभी और शोध की आवश्यकता है (18)। इसके अलावा, आंखों की रोशनी को बेहतर बनाने के लिए भी ड्रैगन फ्रूट का उपयोग किया जा सकता है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन बी-3 और कैरोटनोइड्स तत्व आंखों की रोशनी बढ़ाने और स्वस्थ बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है (19)।

14. भूख बढ़ाने में ड्रैगन फ्रूट्स के फायदे

ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स में भूख बढ़ाना भी शामिल है। लेख में पहले ही बताया जा चुका है कि ड्रैगन फ्रूट में पाए जाने वाले फाइबर और विटामिन पेट संबंधी विकारों जैसे- पाचन क्रिया जैसी समस्याओं को दूर करने में कारगर सिद्ध होते हैं (8)। वहीं इसमें पाया जाने वाला विटामिन-बी2 शरीर में मल्टीविटामिन की तरह काम करता है, जो भूख की कमी को ठीक करने में सक्षम साबित हो सकता है (13)।

15. मस्तिष्क के लिए ड्रैगन फ्रूट के फायदे

ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस शरीर को कई तरीकों से नुकसान पहुंचा सकता है। यह सिर्फ शारीरिक ही नहीं, बल्कि मानसिक नुकसान भी पहुंचा सकता है। इसके कारण ब्रेन डिसफंक्शन जैसे अल्जाइमर रोग, पार्किन्सन रोग व मिर्गी आदि जैसे रोग हो सकते हैं। इस तरह के डीजेनेरेटिव रोगों से आराम पाने में ड्रैगन फ्रूट के फायदे मिल सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण होने वाले कई विकारों से आराम दिला सकते हैं। इसमें ब्रेन डिसफंक्शन भी शामिल है (8)।

16. त्वचा के लिए बेनिफिट ऑफ ड्रैगन फ्रूट

आर्गेनिक फेस पैक बनाने में भी ड्रैगन फ्रूट का उपयोग किया जा सकता है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन-बी3 ड्राई स्किन को नमी प्रदान कर उसे चमकदार बनाने में मददगार साबित हो सकता है (12)। इसके साथ ही ड्रैगन फ्रूट में मौजूद फैटी एसिड त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं जैसे एक्जिमा और सोरायसिस से आराम पाने में भी मदद कर सकता है (11)।

17. बालों के लिए ड्रैगन फ्रूट के बेनिफिट

ड्रैगन फ्रूट के बेनिफिट न सिर्फ स्वास्थ और त्वचा के लिए, बल्कि बालों के लिए भी देखे जा सकते हैं। एक शोध में इस बात का जिक्र किया गया है कि ड्रैगन फ्रूट कई पोषक तत्वों से समृद्ध हैं, जिनमें फैटी एसिड भी शामिल है। ये फैटी एसिड बालों से जुड़ी समस्या जैसे रूसी को कम करने में सहायक हो सकता है (11)।

नीचे तक करें स्क्रॉल

ड्रैगन फ्रूट खाने से क्या फायदा होता है, यह जानने के बाद जानिए इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।

ड्रैगन फ्रूट के पौष्टिक तत्व – Dragon Fruit Nutritional Value in Hindi

ड्रैगन फ्रूट की जानकारी के अगले भाग में हम ड्रैगन फल में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में बता रहे हैं (20) :

पोषक तत्वमात्रा प्रति 28 ग्राम (एक फल)
ऊर्जा73.9 kcal
प्रोटीन1 ग्राम
फैट0 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट्स23 ग्राम
फाइबर0.504 ग्राम
शुगर23 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम30 मिलीग्राम
सोडियम10.9 मिलीग्राम
विटामिन
विटामिन – सी1.79 मिलीग्राम

अंत तक पढ़ें लेख

लेख के अगले भाग में जानिए ड्रैगन फ्रूट कैसे खाया जाता है।

ड्रैगन फ्रूट खाने का तरीका – How to Eat Dragon Fruit in Hindi

ड्रैगन फ्रूट कैसे खाएं इस बारे में बात की जाए, तो इसके सेवन के कई तरीके हैं (1):

  • इसे सीधे काटकर खाया जा सकता है।
  • इसे ठंडा करके भी खाया जा सकता है।
  • इसे फ्रूट चाट या सलाद के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • मुरब्बा, कैंडी या जेली बनाकर भी इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • इसका शेक बनाकर भी सेवन किया जा सकता है।

मात्रा – ड्रैगन फ्रूट कैसे खाएं यह जानने के बाद अब बारी आती है इसे कितना खाना चाहिए। वैसे एक बार में 500 ग्राम (एक मध्यम आकार का ड्रैगन फ्रूट) तक की मात्रा में ड्रैगन फ्रूट खाया जा सकता है (15)। लेकिन हर व्यक्ति की शारीरिक क्षमता अलग-अलग होती है। इसलिए, यह खाने से पहले आहार विशेषज्ञ से पूछ लेना सही होगा।

समय – सुबह नाश्ते में इसका शेक या शाम को स्नैक्स टाइम में फ्रूट चाट के रूप में इसका उपयोग किया जा सकता है।

बने रहें हमारे साथ

ड्रैगन फ्रूट खाने का तरीका जानने के बाद अब इसके सुरक्षित रखने के तरीके के बारे में बात करते हैं।

ड्रैगन फ्रूट का चयन कैसे करें और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

आइए, अब ड्रैगन फ्रूट के संरक्षण और इसके चयन से जुड़ी कुछ अहम बातें जान लेते हैं (1)।

  • ड्रैगन फ्रूट का चुनाव – ड्रैगन फ्रूट का चयन करते समय फल के रंग का विशेष ध्यान रखना चाहिए। साथ ही यह भी देखना चाहिए कि फल पर किसी प्रकार का कोई दाग या धब्बा न हो। कारण यह है कि ड्रैगन फ्रूट को कई तरह के कीट और फसल संबंधित बीमारियां नुकसान पहुंचा सकती हैं।
  • सुरक्षित कैसे करें – ड्रैगन फ्रूट को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए इसे ठंडे स्थान पर रखना चाहिए। विशेषज्ञों के मुताबिक 7 से 10 डिग्री सेल्सियस और 90% से 98% आर्द्रता वाले स्थान पर रख कर इसे करीब 3 महीने के लिए सुरक्षित किया जा सकता है।

आगे है और जानकारी

ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे हिंदी में समझने के बाद अब हम इसे खरीदने के संबंध में जानकारी साझा कर रहे हैं। 

ड्रैगन फ्रूट कहां से खरीदें?

ड्रैगन फ्रूट आपको आसानी से किसी भी सुपरमार्केट या किसी फल वाले की बड़ी दुकान से मिल सकता है। इस फल के बारे में ज्यादा लोग न जानते हैं और न ही इसे खरीदते हैं। यही वजह है कि यह किसी भी फल के ठेले पर उपलब्ध नहीं हो पाता।

पढ़ते रहें

लेख के अगले भाग में आप ड्रैगन फ्रूट खाने के नुकसान के बारे में जानेंगे।

ड्रैगन फ्रूट के नुकसान – Side Effects of Dragon Fruit in Hindi

हालांकि, अभी तक ड्रैगन फ्रूट से संबंधित कोई खास नुकसान सामने नहीं आए हैं, फिर भी हर चीज के दोनों पहलू होते हैं। ऐसा ही कुछ हमारे चमत्कारी गुणों वाले ड्रैगन फ्रूट के साथ भी है। आइए, कुछ बिन्दुओं के माध्यम से ड्रैगन फ्रूट के नुकसान थोड़ा विस्तार से समझते हैं।

  • हालांकि, ड्रैगन फ्रूट को वजन घटाने में मददगार माना जाता है (जैसा आपको लेख में पहले बताया जा चुका है), लेकिन इसमें अधिक मात्रा में शुगर पाई जाती है। इसलिए, इसका जरूरत से ज्यादा उपयोग आपके वजन घटाने के रास्ते में रुकावट बन सकता है (20) (21)।
  • इस फल की बाहरी परत (स्किन) को खाने से बचना चाहिए, क्योंकि इसमें कीटनाशक पाए जाते हैं। यह कीटनाशक आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। बता दें यह कीटनाशक ड्रैगन फ्रूट को कीटों से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए डाले जाते हैं (1)।

फलों को अपने आहार में शामिल करना हमेशा फायदेमंद होता है और ड्रैगन फ्रूट का यह लेख पढ़कर आप इस बात को अच्छी तरह समझ गए होंगे कि ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे क्या हो सकते हैं। साथ ही विभिन्न किस्म की बीमारियों से बचने के लिए ड्रैगन फ्रूट का उपयोग करने के बारे में भी आप जान चुके हैं। ध्यान रखें कि इसे सीमित मात्रा में ही लें, वरना ड्रैगन फ्रूट के नुकसान भी हो सकते हैं। तो आज ही से ड्रैगन फ्रूट खाने का तरीका अपनाकर इसका उपयोग अपने दैनिक जीवन में लाएं। आशा करते हैं कि लेख में दिए गए ड्रैगन फ्रूट बेनेफिट्स आपके बेहतर स्वास्थ्य के लिए मददगार साबित होंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मैं ड्रैगनफ्रूट रोज खा सकता हूं?

जी हां, आप ड्रैगन फ्रूट रोज खा सकते हैं।

क्या ड्रैगन फ्रूट किडनी के मरीजों के लिए लाभदायक है?

जी हां, लाल ड्रैगन फ्रूट का उपयोग किडनी (रीनल फंक्शन) को उच्च कार्बोहाइड्रेट्स और उच्च फैट वाली डाइट के प्रभाव से बचाने में मदद कर सकता है (22)। वहीं, किडनी के मरीजों के बारे में बात करें, तो इस अवस्था में ड्रैगन फ्रूट का प्रभाव किस तरह से किडनी पर पड़ता है, इस बारे में कहना मुश्किल है।

क्या ड्रैगन फ्रूट का छिलका स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है?

जी हां, ड्रैगन फ्रूट का छिलका स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभदायक होता है। यह फाइबर का समृद्ध स्रोत होता है और यह एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट भी होता है (24)।

ड्रैगन फ्रूट की तासीर कैसी होती है?

ड्रैगन फ्रूट की तासीर ठंडी होती है।

एक दिन में कितना ड्रैगन फ्रूट खाया जा सकता है?

एक दिन में लगभग 500 ग्राम की मात्रा में यानी एक मध्यम आकार का ड्रैगन फ्रूट खाया जा सकता है (15)।

ड्रैगन फ्रूट इतना महंगा क्यों होता है?

भारत में ड्रैगन फ्रूट की खेती की लागत अन्य फलों से ज्यादा है। इस कारण ड्रैगन फ्रूट की कीमत भी ज्यादा है।

क्या ड्रैगन फ्रूट को खाली पेट खाया जा सकता है?

खाली पेट ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे के बारे में कोई शोध उपलब्ध नहीं है। इस कारण यह कहना मुश्किल है कि ड्रैगन फ्रूट खाली पेट खाया जा सकता है या नहीं।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Pitaya: dragon fruit
    https://nt.gov.au/environment/home-gardens/growing-vegetables-at-home/pitaya-dragon-fruit
  2. Effect of dragon fruit on glycemic control in prediabetes and type 2 diabetes: A systematic review and meta-analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5590977/
  3. Effect of dragon fruit extract on oxidative stress and aortic stiffness in streptozotocin-induced diabetes in rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3140125/
  4. Pitaya Extracts Induce Growth Inhibition and Proapoptotic Effects on Human Cell Lines of Breast Cancer via Downregulation of Estrogen Receptor Gene Expression
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5518493/
  5. Cholesterol
    https://medlineplus.gov/cholesterol.html
  6. White Pitaya (Hylocereus undatus) Juice Attenuates Insulin Resistance and Hepatic Steatosis in Diet-Induced Obese Mice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4767368/
  7. Prebiotic oligosaccharides from dragon fruits alter gut motility in mice
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30951951/
  8. A comparative study on foliage and peels of Hylocereus undatus (white dragon fruit) regarding their antioxidant activity and phenolic content
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6383028/
  9. Arthritis
    https://medlineplus.gov/ency/article/001243.htm
  10. Immune system explained
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ConditionsAndTreatments/immune-system
  11. Phytochemical Properties and Health Benefits of Hylocereusundatus
    https://www.academia.edu/28005402/Phytochemical_Properties_and_Health_Benefits_of_Hylocereusundatus
  12. IN SILICO DRUG DESIGNING STUDIES ON DENGUE NS5 PROTEIN
    https://www.academia.edu/37893559/IN_SILICO_DRUG_DESIGNING_STUDIES_ON_DENGUE_NS5_PROTEIN
  13. Dragon fruit: An exotic super future fruit of India
    http://www.phytojournal.com/archives/2018/vol7issue2/PartO/7-1-435-453.pdf
  14. Asthma
    https://www.nhp.gov.in/disease/respiratory/lungs/asthma
  15. EFFECT OF CONSUMING RED DRAGON FRUIT (HYLOCEREUS COSTARICENSIS) JUICE ON THE LEVELS OF HEMOGLOBIN AND ERYTHROCYTE AMONG PREGNANT WOMEN
    https://www.researchgate.net/publication/331217309_EFFECT_OF_CONSUMING_RED_DRAGON_FRUIT_HYLOCEREUS_COSTARICENSIS_JUICE_ON_THE_LEVELS_OF_HEMOGLOBIN_AND_ERYTHROCYTE_AMONG_PREGNANT_WOMEN
  16. Contribution of anthocyanin pathways to fruit flesh coloration in pitayas
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7394676/
  17. Glaucoma
    https://medlineplus.gov/ency/article/001620.htm
  18. Effect of growth regulators on rooting and shooting of stem cuttings in dragon fruit [Hylocereus undatus (Haworth) Britton & rose]
    http://www.phytojournal.com/archives/2018/vol7issue5/PartAB/7-4-727-508.pdf
  19. Dragon fruit: An exotic super future fruit of India
    https://www.researchgate.net/publication/323966688_Dragon_fruit_An_exotic_super_future_fruit_of_India
  20. DRAGON FRUIT
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/411576/nutrients
  21. Adverse effects of dietary fructose
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16366738/
  22. Effects of red pitaya juice supplementation on cardiovascular and hepatic changes in high-carbohydrate, high-fat diet-induced metabolic syndrome rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4064814/
  23. Effect of Drum Drying on Physico-chemical Characteristics of Dragon Fruit Peel (Hylocereus polyrhizus)
    https://www.academia.edu/16678027/Effect_of_Drum_Drying_on_Physico_chemical_Characteristics_of_Dragon_Fruit_Peel_Hylocereus_polyrhizus_
  24. Adverse effects of dietary fructose
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16366738/
  25. Effects of red pitaya juice supplementation on cardiovascular and hepatic changes in high-carbohydrate, high-fat diet-induced metabolic syndrome rats
  26. Effect of Drum Drying on Physico-chemical Characteristics of Dragon Fruit Peel (Hylocereus polyrhizus)
    https://www.academia.edu/16678027/Effect_of_Drum_Drying_on_Physico_chemical_Characteristics_of_Dragon_Fruit_Peel_Hylocereus_polyrhizus_

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
How To Potty Train AChild with Autism
How To Potty Train AChild with AutismPG Diploma In Dietetics & Hospital Food Services