How To Potty Train AChild with Autism, PG Diploma In Dietetics & Hospital Food Services
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

जब शरीर को पर्याप्त पोषण देने की बात आती है, तो विशेषज्ञ नट्स यानी सूखे मेवे खाने की सलाह जरूर देते हैं। जिम जाने वाले बॉडी बिल्डर भी शरीर को पोषण देने के लिए कई तरह के नट्स का सेवन करते हैं। ब्राजील नट्स भी इन्हीं में से एक हैं, जो पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इसके 5 से 7 बीज पूरे दिन के लिए जरूरी पोषण देने का काम कर सकते हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम ब्राजील नट्स के फायदे और ब्राजील नट्स के नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

लेख विस्तार से पढ़ें

ब्राजील नट क्या है? – What is Brazil Nut in Hindi

ब्राजील नट्स के पेड़ सबसे पहले साउथ अमेरिका में पाए गए। मौजूदा समय की बात करें, तो कुछ गिने-चुने देशों में ही इसका उत्पादन होता हैं। इसका ज्यादातर निर्यात अमेरिका से ही होता है। इसके फल स्वाद में क्रीम की तरह लगते हैं। कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें ब्राजील नट्स का स्वाद पसंद नहीं आता। ऐसे में वो इसे भून कर भी खा सकते हैं। इसके सेवन से कई तरह की शारीरिक समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

नीचे स्क्रॉल करें

लेख के अगले भाग में हम ब्राजील नट्स के फायदों के बारे में जानते हैं।

ब्राजील नट्स के फायदे – Benefits of Brazil Nuts in Hindi

ब्राजील नट्स का उपयोग करने से कई तरह के शारीरिक और मानसिक फायदे हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

1. थायराइड स्वास्थ्य

थायराइड से बचने के लिए ब्राजील नट्स का उपयोग लाभदायक हो सकता है। दरअसल, यह सेलेनियम का अच्छा स्रोत होता है। सेलेनियम थायराइड हार्मोन के स्तर में सुधार करने का कार्य करता है। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि थायराइड हार्मोन की कमी के कारण होने वाली समस्याओं में ब्राजील नट्स सहायक साबित हो सकते हैं (1)।

दरअसल, सेलेनियम एक आवश्यक खनिज और एंटीऑक्सीडेंट है जो कि चयापचय और थायराइड के कार्य को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है। डॉक्टरों का मानना है कि इसकी थोड़ी मात्रा ही शरीर के लिए पर्याप्त होती है। इसलिए ब्राजील नट्स का सेवन भी थोड़ी मात्रा में ही करना चाहिए।

2. हृदय रोग

एक अध्ययन में पाया गया है कि रक्त में सेलेनियम की कमी के कारण हृदय रोग के जोखिम उत्पन्न होने का खतरा बढ़ जाता है। चूंकि, ब्राजील नट्स में सेलेनियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इस कारण यह हृदय रोग के जोखिमों को कम करने में सहायक साबित हो सकता है (2)। वहीं, सेलेनियम को एक प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट भी माना गया है, जो रक्तचाप को संतुलित रखने में मदद करता है (3)। साथ ही इसमें स्वस्थ वसा और फाइबर भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, इसलिए भी यह ह्रदय को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकता है।

3. सूजन से राहत

एक शोध के अनुसार, ब्राजील नट्स के सेवन करने से शरीर की सूजन में राहत पाई जा सकती है। सूजन को कम करने में ब्राजील नट्स में पाए जाने वाला सेलेनियम मुख्य भूमिका निभाने का काम करता है। दरअसल, सेलेनियम, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। इस कारण यह सूजन को कम करने के साथ-साथ रक्त संचार में भी सुधार करने में सहायक साबित होता है (4)।

4. कैंसर उपचार

जैसा कि आपको लेख में पहले भी बताया जा चुका है कि ब्राजील नट्स सेलेनियम का अच्छा स्रोत हैं। वहीं, सेलेनियम को कई गंभीर समस्याओं को दूर करने में सहायक माना जाता है। कैंसर भी इन्हीं में से एक है। विशेषज्ञों के मुताबिक, सेलिनियम कई प्रकार से कैंसर से छुटकारा दिलाने में सकारात्मक परिणाम दे सकता है (5)। इस कारण हम कह सकते हैं कि ब्राजील नट्स का उपयोग कैंसर के जोखिमों को दूर करने में भी लाभकारी साबित हो सकता है।

5. वजन घटाने के लिए

ब्राजील नट्स के फायदे वजन को कम करने के लिए भी हो सकते हैं। कारण यह है कि ब्राजील नट्स में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो वजन घटाने में आपकी मदद कर सकता है (6)। विशेषज्ञों के मुताबिक, फाइबर पाचन क्रिया में सुधार करता है। साथ ही भूख को लंबे समय तक शांत रखने में भी मददगार होता है (7)। इस कारण अन्य कुछ भी खाने का मन नहीं होता और वजन घटाने में मदद मिलती है।

6. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और रोग के कारण बनने वाले बैक्टीरिया को दूर करने में जिंक की भूमिका पाई गई है (8)। वहीं, ब्राजील नट्स जिंक का अच्छा स्रोत है (6)। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि ब्राजील नट्स का उपयोग प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए लाभदायक हो सकता है।

7. मस्तिष्क स्वास्थ्य

ब्राजील नट्स के फायदे मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए भी हो सकते हैं। ब्राजील नट्स में पॉलीफेनोल पाया जाता है (9), जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। एंटीऑक्सीडेंट ब्रेन को डैमेज होने से बचाने का कार्य कर सकता है। इसलिए, इसका उपयोग मस्तिष्क स्वास्थ्य बेहतर बनाने के लिए हो सकता है (10)।

8. पाचन क्रिया के लिए

पाचन क्रिया को सुचारू रूप से बनाए रखने के लिए फाइबर अहम भूमिका निभा सकता है। फाइबर मल को नर्म करके बाहर निकालने का काम करता है। इससे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखा जा सकता है (11)। वहीं, ब्राजील नट्स फाइबर का अच्छा स्रोत हैं (6)। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि ब्राजील नट्स पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

9. टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाएं

ब्राजील नट्स को टेस्टोस्टेरोन (मेल हॉर्मोन) में वृद्धि के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, ब्राजील नट्स में सेलेनियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है (12)। वहीं, सेलेनियम शरीर में फर्टिलिटी को विकसित करने में मदद करता है। साथ ही फर्टिलिटी में सहयोगी टेस्टोस्टेरोन हार्मोन और स्पर्म की मात्रा को बढ़ाने में सहायता करता है (13)।

10. यौन स्वास्थ्य में सुधार

जैसा कि आपको लेख में पहले भी बताया जा चुका है कि टेस्टोस्टेरोन वृद्धि में सेलेनियम मुख्य भूमिका अदा करता है। वैसे ही यौन स्वास्थ्य में सुधार के लिए भी सेलेनियम सहायक माना जाता है (13)। ऐसे में ब्राजील नट्स की सहायता से सेलेनियम की कमी पूरी कर स्पर्म की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है, जो यौन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है (12)।

11. मुंहासे से छुटकारा

ब्राजील नट्स में जिंक पाया जाता है, जो त्वचा को लाभ पहुंचाने का काम कर सकता है (6)। जिंक मुख्य रूप से मुंहासों को दूर करने का काम कर सकता है। इसलिए, ब्राजील नट्स के सेवन से मुंहासे को हटाने में सहायता मिल सकती है (14)। साथ ही चमकदार त्वचा के लिए भी इस नट्स को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

12. बालों की वृद्धि के लिए

बालों के विकास और उनकी मजबूती के लिए विटामिन-सी, विटामिन-बी, जिंक, आयरन, मैग्नीशियम और कैल्शियम की अधिक जरूरत होती है (15)। वहीं, ब्राजील नट्स में ये सभी तत्व प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते हैं (6)। इस कारण ब्राजील नट्स के सेवन से बालों की वृद्धि में मदद मिल सकती है।

पढ़ना जारी रखें

ऊपर बताए गए फायदे, इसके पोषक तत्वों के कारण ही संभव हैं। इस बारे में हम लेख के अगले भाग में बताएंगे।

ब्राजील नट के पौष्टिक तत्व – Brazil Nut Nutritional Value in Hindi

ब्राजील नट्स के पोषक तत्वों को आसानी से समझने के लिए यहां हम टेबल दे रहे हैं (6) :

पोषक तत्वमात्राप्रति 100 g
पानी3.42 g
ऊर्जा659 kcal
प्रोटीन14.32 g
टोटल लिपिड (फैट)67.10 g
कार्बोहाइड्रेट11.74 g
फाइबर, टोटल डाइटरी7.5 g
शुगर, टोटल2.33
मिनरल्स
कैल्शियम ,Ca160 gm
आयरन ,Fe2.43 mg
मैग्नीशियम , Mg376 mg
फास्फोरस ,P725 mg
पोटैशियम ,K659 mg
सोडियम ,Na3  mg
जिंक ,Zn4.06 mg
विटामिन्स
विटामिन सी , टोटल एस्कॉर्बिक एसिड0.7 mg
थाइमिन0. 617 mg
राइबोफ्लेविन0. 035 mg
नियासिन0.295 mg
विटामिन बी -60. 101 mg
फोलेट DFE22 µg
विटामिन ई5.65 mg
लिपिड
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड16.134 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोसैचुरेटेड23.879 g
फैटी एसिड, टोटल पोलीअनसैचुरेटेड24.399 g

आगे है और जानकारी

ब्राजील नट्स को किस तरह उपयोग कर सकते हैं, यह जानने के लिए पढ़ते रहें आर्टिकल।

ब्राजील नट्स का उपयोग – How to Use Brazil Nuts in Hindi

ब्राजील नट्स को कई तरह से खाया जा सकता है, जिससे स्वाद के साथ-साथ आप इसके लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं।

कैसे खाएं :

  • ब्राजील नट्स को बाकी नट्स की तरह सीधे खाया जा सकता है।
  • इसे पानी में कुछ समय भिगोकर रख कर भी खाया जा सकता है।
  • ब्राजील नट्स को भूनकर उसमें नमक मिलाकर भी खाया जा सकता है।
  • इसे अन्य ड्राई फ्रूट के साथ मिलाकर, मिक्स ड्राई फ्रूट की तरह भी सेवन कर सकते हैं।
  • ब्राजील नट्स को स्मूथी और मिल्कशेक में भी मिलाकर भी उपयोग किया जा सकता है।

कब खाएं :

  • इसके अंकुरित बीज को सुबह खाया जा सकता है।
  • ब्राजील नट्स को शाम में भुना हुआ या स्मूथी में मिलाकर भी ले सकते हैं।

कितना खाएं :

  • किसी भी खाद्य पदार्थ का फायदा तभी हो सकता है, जब आप उसका सीमित मात्रा में सेवन करें। इसलिए, दिन में 5 से 7 ब्राजील नट्स से अधिक नहीं खाना चाहिए।

लेख अभी बाकी है

जिस तरह ब्राजील नट्स खाने से फायदे पहुंचा सकता है, वैसे ही इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जिसके बारे में हम लेख के अगले हिस्से में जानेंगे।

ब्राजील नट्स के नुकसान – Side Effects of Brazil Nuts in Hindi

ब्राजील नट्स में सेलेनियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यही वजह है कि ब्राजील नट्स का सेवन अधिक मात्रा में करने से कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है। इससे होने वाले दुष्प्रभाव कुछ इस प्रकार से हो सकते हैं (2):

  • मतली
  • दस्त
  • त्वचा में रैशेज
  • बाल झड़ना
  • चिड़चिड़ापन
  • मुंह का स्वाद खराब होना
  • नर्वस सिस्टम की समस्या
  • सांस लेने में दिक्कत

नोट: सेलेनियम का जरूरत से ज्यादा सेवन कुछ गंभीर समस्याओं को भी जन्म दे सकता है, जैसे :

  • ट्रेमर (शरीर के अंगो में कंपन होना)
  • किडनी फेल होना
  • हार्ट अटैक
  • हार्ट फेल

इस लेख को पढ़ने के बाद यह तो स्पष्ट हो गया कि ब्राजील नट्स पोषक तत्वों का खजाना है। यह बात अलग है कि इसके सेवन के लिए आपको अपनी जेब पर अतिरिक्त बोझ डालने की जरूरत होगी, लेकिन स्वास्थ्य के नजरिए से देखें, तो दवाइयां खाने से बेहतर इसका सेवन करना है। अब आप बिना देरी किए इसे अपनी आहार लिस्ट में शामिल करें और शरीर को पर्याप्त पोषण दें। हम उम्मीद करते हैं कि स्वास्थ्य को बनाए रखने में यह लेख आपके काम आएगा।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. EFFECT OF SELENIUM SUPPLEMENTATION VIA BRAZIL NUT (BERTHOLLETIA EXCELSA, HBK) ON THYROID HORMONES LEVELS IN HEMODIALYSIS PATIENTS: A PILOT STUDY
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26545554/
  2. Selenium
    https://ods.od.nih.gov/factsheets/Selenium-Consumer/
  3. Selenium levels and hypertension: a systematic review of the literature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3990647/
  4. Brazil nut (Bertholletia excelsa, H.B.K.) improves oxidative stress and inflammation biomarkers in hemodialysis patients
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24504745/
  5. Selenium
    https://ods.od.nih.gov/factsheets/Selenium-HealthProfessional/
  6. Brazil nuts
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/1100514/nutrients
  7. Can eating fruits and vegetables help people to manage their weight?
    https://www.cdc.gov/nccdphp/dnpa/nutrition/pdf/rtp_practitioner_10_07.pdf
  8. Zinc and immune function: the biological basis of altered resistance to infection
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9701160/
  9. Effects of Consumption of Nut Components on Cognitive Function, Intestinal Microbial Communities and Markers of Health
    https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT03500601
  10. Polyphenols and Neurodegenerative Diseases
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.854.916&rep=rep1&type=pdf
  11. Effect of dietary fiber on constipation: A meta analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3544045/
  12. Maintaining Testosterone Levels Naturally
    https://www.fammed.wisc.edu/files/webfm-uploads/documents/outreach/im/handout_testosterone.pdf
  13. Selenium in the Environment, Metabolism and Involvement in Body Functions
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.923.1154&rep=rep1&type=pdf
  14. Zinc Sulfate in the Treatment of Rosacea: A Randomized, Controlled Trial
    https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00395226
  15. Nutrition of women with hair loss problem during the period of menopause
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4828511/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
How To Potty Train AChild with Autism

How To Potty Train AChild with AutismPG Diploma In Dietetics & Hospital Food Services