Written by , (शिक्षा- एमए इन मास कम्युनिकेशन)

तेज गर्मी के बाद बारिश का मौसम किसे पसंद नहीं होता। कई लोग घर बैठकर सुहाने मौसम में चाय के साथ समोसे या पकोड़े खाना पसंद करते हैं। हालांकि, लोगों को बारिश के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इसका ख्याल रखना जरूरी है। दरअसल, मौसम में अचानक बदलाव बैक्टीरिया, वायरस के कारण बुखार, सर्दी, खांसी, दस्त, निमोनिया आदि जैसे रोगों का कारण बन सकता है (1)। इसके साथ ही गंदे पानी के जमाव से भी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं जैसे – कोलेरा, टाइफाइड बुखार, मलेरिया, डेंगू हो सकता है (2)। ऐसे में इनसे बचाव के लिए बारिश के मौसम में क्या नहीं खाना चाहिए, इस बात की जानकारी भी जरूरी है। तो स्टाइलक्रेज के इस खास लेख में पढ़ें बारिश के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इसकी संपूर्ण जानकारी।

स्क्रॉल करें

बारिश के मौसम में क्या खाएं, लेख की शुरुआत इसी जानकारी के साथ करते हैं।

बारिश के मौसम में क्या खाएं – Monsoon Foods to Eat In Hindi

बारिश का लुत्फ उठाने के साथ ही इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि बारिश के मौसम में क्या खाएं और क्या नहीं। ऐसे में यहां हम बारिश में खाने योग्य चीजों के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

1. ड्राई फ्रूट्स

बारिश के मौसम में खाने के लिए ड्राई फ्रूट्स यानी कि सूखे मेवे अच्छा विकल्प हो सकता है। ये न सिर्फ स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि सेहतमंद भी हैं। ये रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में सहायक हो सकते हैं (3)। साथ ही ये कई तरह के पोषक तत्वों जैसे – प्रोटीन, फाइबर, विटामिन, मिनरल से भरपूर होते हैं, जो व्यक्ति के सेहत के लिए लाभकारी हो सकते हैं (4)। इतना ही नहीं, एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर ड्राई फ्रूट्स मधुमेह, कैंसर, हृदय रोग जैसे गंभीर बीमारियों के जोखिम को भी कम कर सकते हैं (5)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि ड्राई फ्रूट्स के सेवन से न सिर्फ बारिश के मौसम में बीमारियों से बचाव हो सकता है, बल्कि अन्य दिनों में भी ये उपयोगी हो सकते हैं।

2. हर्बल चाय

बरसात के मौसम में चाय पीने का मजा ही कुछ और होता है। ऐसे में सामान्य चाय की जगह बरसात में हर्बल टी का सेवन भी फायदेमंद हो सकती है। दरअसल, बारिश के मौसम में बैक्टीरिया के कारण कई प्रकार के संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। वहीं, हर्बल टी में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होता है। हर्बल टी में मौजूद यह प्रभाव बैक्टीरिया और इसके कारण होने वाले संक्रमण से बचाव में मददगार हाे सकता है (1)। ग्रीन टी का सेवन भी बारिश में लाभकारी हो सकता है। दरअसल, ग्रीन टी में मौजूद एंटी वायरल गुण वायरल संक्रमण से बचाव में सहायक हो सकता है 6)।

3. गर्म पानी

वैसे तो गर्म पानी पीने से कई प्रकार की समस्याओं पर कुछ हद काबू पाया जा सकता है, लेकिन यदि गर्म पानी का सेवन बारिश के मौसम किया जाए, तो यह अधिक फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, बारिश के मौसम में नाक बंद होना और नाक बहना आम है (1)। वहीं, रिसर्च में पाया गया कि गर्म पानी का सेवन नाक बंद होने की समस्या के समाधान में सहायक माना गया है। दरअसल, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित, शोध में इस बात की पुष्टि होती है कि गर्म पेय पदार्थ गले में खराश, नाक बहने व छींक आने जैसी समस्याओं में राहत दे सकते हैं (7)।

वहीं, बलगम (Mucus) के कारण नाक बंद होने की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी गर्म पेय पदार्थ का सेवन कारगर माना गया है। साथ ही यह श्वसन तंत्र में होने वाले इंफेक्शन से भी बचाने में मदद कर सकता है (8)। इसके अलावा गर्म पानी से गरारे करने और भाप लेने से गले की खराश में आराम मिल सकता है (1)। इसलिए बारिश के मौसम में पूरे दिन में कम से कम एक या दो बार गर्म पानी पीएं, या चाहें तो गर्म पानी से गरारे या भाप भी लेना उपयोगी हो सकता है।

4. गर्म सूप

बारिश का मौसम हो और पीने के लिए गरमा गरम सूप मिल जाए तो कहना ही क्या। सूप का सेवन करना स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद माना गया है। दरअसल, गर्म सूप बारिश के मौसम में दूषित भोजन और पानी के कारण होने वाले हेपेटाइटिस ए की समस्या में लाभदायक माना गया है। इसके अलावा, गर्म सूप वायरल इंफेक्शन के कारण होने वाले सामान्य सर्दी-जुकाम की समस्या में बंद नाक, दमा की समस्या से बचाव, निर्जलीकरण को रोकने और नाक और गले की सूजन को कम करने के लिए भी उपयोगी माना गया है (9)। बता दें कि बरसात के मौसम में दूषित पानी के कारण हेपेटाइटिस ए का जोखिम बढ़ सकता है (10)। ऐसे में इस जोखिम को कम करने के लिए गर्म सूप को डाइट में जरूर शामिल करें। जिन्हें मांसाहारी पसंद है वो चिकन सूप और जिन्हें शाकाहारी पसंद है वो हरी सब्जियों का सूप पिएं।

5. फलों का सेवन

बारिश के मौसम में फलों के सेवन पर भी खास ध्यान दें। अनार, सेब और चेरी जैसे मौसमी फलों का सेवन बेहतर है। आंवला और खट्टे फलों में विटामिन सी होता है और ये इम्युनिटी बेहतर करने में उपयोगी हो सकते हैं (11)। लिवर को स्वस्थ रखने के लिए संतरा या संतरे के जूस को डाइट में शामिल कर सकते हैं (9)। वहीं, रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए सिट्रस फलों का सेवन भी लाभकारी हो सकता है (12)। तो बारिश के मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ में फलों को जरूर शामिल करें।

6. स्प्राउट्स

स्प्राउट्स या अंकुरित अनाज हेल्दी फूड के रूप में जाना जाता है। स्प्राउट्स अलग-अलग तरह से तैयार किए जाते हैं। उन्हीं में से एक है ब्रसेल्स स्प्राउट्स (Brussels sprouts)। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे विटामिन, मिनरल, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन ए, पोटेशियम, फोलेट और विटामिन के पाए जाते हैं। ब्रसेल्स स्प्राउट्स इम्यून सिस्टम, रक्त और हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर रखने में मददगार हो सकते हैं। साथ ही कैंसर और रक्त के थक्कों के बनने के जोखिम को कम कर सकते हैं (13)। इसके अलावा, बीन स्प्राउट्स का सेवन भी लाभकारी हो सकता है। इसमें एंटी ट्यूमर गुण मौजूद होता है। वहीं, अल्फाल्फा स्प्राउट में मौजूद सैपोनिन हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक हो सकता है (14)।

7. हल्दी वाला दूध

हल्दी वाले दूध का सेवन भी कई बीमारियों को दूर रखने के साथ ही शरीर के लिए फायदेमंद माना गया है। हल्दी के दूध के फायदे बरसात के मौसम में होने वाली बीमारी, जैसे – सामान्य सर्दी-जुकाम से राहत देने के लिए भी देखे गए हैं। इससे जुड़ी जानकारी से यह पता चलता है कि 2 कप गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी का सेवन सर्दी-जुकाम की समस्या से बचाव या शुरुआती लक्षणों को कम करने में सहायक हो सकता है (1)। दरअसल, दिनभर में एक कप हल्दी दूध के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर कर बीमारियों से बचाव किया जा सकता है (15)।

8. ताजी सब्जियां

बारिश के मौसम में ताजे सब्जियों का उपयोग भी कई प्रकार के व्यंजनों और पकवानों में किया जाता है। सब्जियां कई प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जिनमें कैल्शियम, ऊर्जा, मैग्नीशियम, आयरन, कैरोटीनॉयड, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स शामिल हैं। सब्जियों में पाए जाने वाले ये पोषक तत्व न सिर्फ बीमारियों को दूर करने में मदद कर सकते हैं, बल्कि शरीर को ताकत प्रदान करने के साथ ही कुपोषण की समस्या को भी दूर रख सकते हैं (16)। वहीं, ताजी सब्जियों में ब्रोकोली का उपयोग लाभकारी हो सकता है। ब्रोकली या ब्रोकली स्प्राउट्स कैंसर, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर से बचाव में भी सहायक हो सकते हैं(14)।

9. मसाले

बारिश के मौसम में मसालों की भी अहम भूमिका होती है। दरअसल, मसालों का उपयोग न सिर्फ खाने में स्वाद का तड़का लगाने के लिए, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी हो सकता है। बारिश के मौसम में होने वाले श्वास संबंधी रोग, जैसे – सर्दी, फ्लू से लेकर खांसी और जुकाम तक से बचाव के लिए मसालों का उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा मसाले सिर दर्द, तनाव और बुखार की अवस्था में भी लाभदायक हो सकते हैं। अपने आहार में हल्दी, जीरा, काली मिर्च, लौंग जैसे मसालों को जरूर शामिल करें (17)।

पढ़ना जारी रखें

लेख के इस भाग में हम आपको बता रहे हैं कि बारिश में मौसम में क्या नहीं खाना चाहिए।

बारिश के मौसम में क्या नहीं खाना चाहिए? – Foods to avoid during Monsoon

बारिश के मौसम में बीमारियों को दूर रखने के लिए और स्वस्थ रहने के लिए कुछ खाद्य पदार्थों से परहेज कर लेना भी जरूरी है। ऐसे में यहां हम जानते हैं कि बारिश में मौसम में क्या नहीं खाना चाहिए (1) (18)।

  • हरी पत्तेदार सब्जियां।
  • सड़ चुकी सब्जियां और फलों को खाने से भी बचना चाहिए।
  • अल्कोहल के सेवन से बचें।
  • अधिक कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से भी बचें।
  • आइसक्रीम का सेवन नहीं करें।
  • जिन खाद्य पदार्थों की तासीर ठंडी है उनका ज्यादा सेवन न करें।
  • दूषित भोजन और पानी के उपयोग से बचें।
  • तैलीय, मसालेदार और सड़क किनारे खाने से बचें।

आगे जानते हैं बारिश के मौसम से जुड़ी सावधानियों के बारे में।

बारिश के मौसम में सावधानियां

सही डाइट के साथ बारिश के मौसम में कुछ सावधानियों को ध्यान में रखकर भी बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। ये सावधानियां कुछ इस प्रकार हैं:

  • हमेशा खाने से पहले हाथ धोएं।
  • सब्जियों और फलों को अच्छी तरह से धोकर खाएं।
  • फूड पॉइजनिंग से बचाव के लिए बाहर का खाना न खाएं।
  • नियमित गर्म पानी से गरारे या भाप लेते रहें।
  • साफ-सफाई रखें।
  • कहीं भी पानी को ज्यादा दिनों तक स्टोर न करें।
  • बासी भोजन न खाएं।

मौसम कोई भी हो पोषक तत्वों से युक्त भोजन करना कई बीमारियों को दूर रखने में मदद कर सकता है। ठीक वैसे ही बारिश के मौसम में भी खानपान को लेकर कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। तो इस लेख में दी गई उन्हीं कुछ जरूरी बातों को ध्यान में रखते हुए बारिश के मौसम में बीमारियों से बचा जा सकता है। उम्मीद है इस लेख से आपको पता चल ही गया होगा कि बारिश के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। तो इसे अन्य लोगों के साथ शेयर करके हर किसी को बारिश के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इस विषय की जानकारी दें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या हम मानसून में दूध पी सकते हैं?

हां, मानसून में गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पिया जा सकता है (1)।

क्या मैं बारिश के मौसम में केला खा सकता हूं?

बारिश के मौसम में केला खाया जा सकता है या नहीं इस विषय पर कोई रिसर्च उपलब्ध नहीं है, लेकिन डॉक्टर की सलाह से इसका सेवन किया जा सकता है।

क्या मानसून में चिकन खाना सुरक्षित है?

हां, बारिश के मौसम में चिकन और इसके सूप का सेवन सुरक्षित हो सकता है (1)।

बरसात के मौसम में कौन सा जूस अच्छा होता है?

बारिश के मौसम में सिट्रस फलों के जूस का सेवन उपयोगी हो सकता है। दरअसल, सिट्रस फल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में और बीमारियों से बचाव में सहायक हो सकते हैं (13)।

क्या मानसून में खीरा अच्छा होता है?

हां, मानसून में खीरे का सेवन किया जा सकता है, हालांकि, इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह लेना फायदेमंद हो सकता है।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. HOMEOPATHY CARE FOR MONSOON AILMENTS,
    https://www.nhp.gov.in/homeopathy-care-for-monsoon-alments_mtl
  2. PREPARE FOR THE RAINY SEASON – DOH,
    https://doh.gov.ph/node/17435
  3. Food and Immunity: Correlation to combat against COVID-19,
    https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1626348
  4. Nuts and seeds,
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/HealthyLiving/Nuts-and-seeds#recommended-daily-serving-of-nuts
  5. Traditional and Unconventional Dried Fruit Snacks as a Source of Health-Promoting Compounds,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6770932/
  6. Health Benefits of Tea,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK92768/
  7. The effects of a hot drink on nasal airflow and symptoms of common cold and flu,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19145994/
  8. Effects of drinking hot water, cold water, and chicken soup on nasal mucus velocity and nasal airflow resistance,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/359266/
  9. Integrated Disease Surveillance Project,
    http://statehealthsocietybihar.org/idsp/alerts/monsoon_alerts.pdf
  10. Seasonality of Hepatitis: A Review Update,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4367015/
  11. Are You Ready for Monsoon?,
    https://www.tifr.res.in/~medical/articles/AreYouReadyForMonsoon.pdf
  12. Role of Citrus Fruits in Health,
    https://www.jpsr.pharmainfo.in/Documents/Volumes/vol6issue02/jpsr06021411.pdf
  13. Healthy food trends – Brussels sprouts,
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000725.htm
  14. Health Benefits of Sprouts ISGA Flyer,
    https://isga-sprouts.org/wp-content/uploads/2013/01/HealthBenefitsofSproutsISGAFlyer.pdf
  15. Ministry of AYUSH Ayurveda’s immunity boosting measures for self care during COVID 19 crisis,
    https://www.mohfw.gov.in/pdf/ImmunityBoostingAYUSHAdvisory.pdf
  16. CONVERSION OF Tagetes Erecta FLOWER A TEMPLE WASTE TO ORGANIC MANURE,
    https://www.researchgate.net/profile/Bindu-Gopalkrishnan/publication/317065295_Conversion_of_Tagetes_erecta_Flower_a_Temple_waste_to_organic_manure/links/5a130c5ca6fdcc717b52362c/Conversion-of-Tagetes-erecta-Flower-a-Temple-waste-to-organic-manure.pdf#page=103
  17. Role of Naturopathy in prophylaxis during Covid-19 pandemic,
    https://www.ayush.gov.in/docs/naturopathy-guidelines.pdf
  18. Keeping Healthy during monsoon with Ayurveda,
    https://www.nhp.gov.in/keeping-healthy-during-monsoon-with-ayurveda_mtl
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Anuj Joshi
Anuj Joshiचीफ एडिटर
.

Read full bio of Anuj Joshi