Neelanjana Singh, RD
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

अमरूद के फल से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में तो आपने खूब सुना होगा, लेकिन क्या आप इसके पत्ते के औषधीय गुणों के बारे में जानते हैं। जी हां, आप अमरूद की पत्तियों को किसी भी तरह से कम न समझें। इसके सेवन से कई सेहत संबंधी परेशानियां चुटकियों में दूर की जा सकती हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको अमरूद के पत्तों के फायदे, उपयोग और अन्य कई अहम बातों की जानकारी देंगे। अगर आप भी अमरूद के पत्तों के फायदों के बारे में जानना चाहते हैं, तो लेख को जरूर पढ़ें। इसे पढ़ने के बाद आप अमरूद के पत्ते इस्तेमाल करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

 चलिए, सबसे पहले बात करते हैं अमरूद के पत्तों के फायदे के बारे में। 

अमरूद के पत्ते के फायदे – Benefits of Guava Leaves in Hindi 

अमरूद के पत्ते औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। इनका इस्तेमाल कई तरह के रोगों से लड़ने और स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। अमरूद की पत्तियां ऐसा हर्बल उपचार है, जो शरीर को नुकसान पहुंचाए बिना ही आपको स्वास्थ्य लाभ देती हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, जीवाणुरोधी और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। साथ ही इन पत्तियों में मौजूद रसायन जैसे पॉलीफेनोल, कैरोटेनॉइड, फ्लेवोनोइड और टैनिन विभिन्न बीमारियों के इलाज में बेहद प्रभावी हो सकते हैं (1)। नीचे हम अमरूद के पत्तों के स्वास्थ्य से जुड़े लाभ और त्वचा एवं बालों से संबंधित फायदों के बारे में बात करेंगे।

सबसे पहले बात करते हैं सेहत के संबंध में अमरूद के पत्ते के फायदे के बारे में।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे – Health Benefits of Guava Leaves in Hindi

1. वजन घटाने में सहायक

अमरूद के पत्तों में कई बायोएक्टिव कंपाउंड होते हैं, जो आपके शरीर में कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को रोक सकते हैं। साथ ही ये शरीर में शुगर और कैलोरी की मात्रा को कम करते हैं, जिससे वजन को कम करने में मदद मिल सकती है (2) (3)

2. डायबिटीज

अमरूद की पत्तियों में मौजूद फेनोलिक यौगिक रक्त-शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। अमरूद के पत्तों के सेवन से लिपिड में भी कमी दर्ज की गई है। इसके सेवन से प्रोटीन ग्लाइकेशन को भी कम किया जा सकता है, यानी शरीर में मौजूद शुगर के स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि अमरूद के पत्तों में एंटीडायबिटिक गुण होते हैं (1)

3. कोलेस्ट्रॉल

अमरूद के पत्तों के सेवन से प्लाज्मा-कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। इसमें मौजूद तत्व हाइपरग्लाइसीमिया यानी शुगर की उच्च मात्रा को भी कम करने में मदद करते हैं, जिससे कोलेस्ट्रॉल को रोकने में मदद मिलती है। इसके अलावा, हाई कोलेस्ट्रॉल यानी हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया की वजह से होने वाले ऑक्सिडेंट स्ट्रेस को भी कम किया जा सकता है। इसके अलावा अमरूद के पत्तों में हाइपोलिपिडेमिक गुण भी होता है, जो शरीर में लिपिड (एक तरह का वसा) की मात्रा को कम कर सकता है (1)

4. डेंगू बुखार

अमरूद के पत्ते डेंगू के लिए भी लाभदायक माने जाते हैं। यह प्लेटलेट्स बढ़ाने में मदद करते हैं और रक्तस्राव से आपको बचाते हैं। दरअसल, अमरूद के पत्तों के काढ़े में क्वेरसेटिन होता है, जो वायरस के दौरान एंजाइम mRNA के गठन को रोकता है। ऐसे में डेंगू बुखार में अमरूद के पत्तों का सेवन फायदेमंद माना जा सकता है (4)

[ पढ़े: डेंगू के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय ]

5. डायरिया

अमरूद के पत्तों में डायरिया ठीक करने के गुण भी पाए जाते हैं। एक शोध के मुताबिक, डायरिया में अमरूद के पत्ती से निकला अर्क लाभदायक हो सकता है। यह ई. कोली बैक्टीरिया की वजह से हुई दस्त की समस्या को खत्म करने के साथ ही इससे होने वाली अन्य परेशानियों को भी नियंत्रित कर सकता है। इसका कारण इसमें मौजूद एंटी-हेल्मिंथिक गुण को माना जाता है, जो पेट से संबंधित सभी परेशानियों को खत्म करके हीमोग्लोबिन को बढ़ाने में मदद करता है (3)

6. स्पर्म

अमरूद की पत्तियों की मदद से स्पर्म काउंट को भी बेहतर किया जा सकता है। साथ ही प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में भी अमरूद के पत्तों को सक्षम माना गया है। एक अध्ययन में सामने आया है कि अमरूद के पत्तों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण शुक्राणु (स्पर्म) विषाक्तता पर लाभकारी असर डालते हैं, जिससे पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बेहतर करने में मदद मिल सकती है (5) (2)

7. घाव और इंफेक्शन

अमरूद के पत्तों में मौजूद औषधीय गुणों की वजह से ये घाव को भरने में भी मदद कर सकते हैं। दरअसल, इसमें मौजूद रोगाणुरोधी गुण घाव और स्किन इंफेक्शन से संबंधित बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। इसके परिणामस्वरूप घाव को जल्दी भरने में मदद मिलती है (3)

8. पाचन

अमरूद के पत्तों को पाचन तंत्र के लिए भी अच्छा माना जाता है। इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गतिविधी आपको रोगाणुओं और अन्य जीवाणुओं से बचाने में मदद करती है। अमरूद की पत्तियां ऐसी गैस्ट्रिक एंजाइमों को बनाती हैं, जो पाचन की क्रिया में मदद करती हैं और शरीर में पोषक तत्वों में सुधार करती हैं। अमरूद के पत्ते गैस्ट्रिक अल्सर को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। दरअसल, अमरूद के पत्तों में मौजूद फ्लेवोनाइड्स गैस्ट्रिक पीएच को बढ़ाकर पेट में अल्सर को होने से बचाते हैं (2) (3)

9. ब्रोंकाइटिस

अमरूद की पत्तियों का इस्तेमाल ब्रोंकाइटिस के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, ब्रोंकाइटिस के दौरान श्वासनलि में जलन और सूजन आ जाती है। ऐसे में अमरूद की पत्तियों में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण आपको अस्थमा के दौरे, खांसी व फंगस के कारण होने वाले रोगों के साथ ही ब्रोंकाइटिस से भी बचाते हैं (5)। अमरूद की पत्तियों की चाय पीने से आपको बार-बार खांसी नहीं आती है, जिससे ब्रोंकाइटिस में कुछ आराम मिल सकता है (2)

10. दांत दर्द, गले में खराश और मसूड़ों के लिए

अमरूद के पत्तों में मौजूद एनाल्जेसिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुणों की वजह से दांत दर्द को भी ठीक करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, बंद गले और जबड़े की सूजन में भी आराम आ सकता है (6)

11. कैंसर

अमरूद के पत्तों में एंटी-कैंसर गुण भी पाया जाता है। अगर आप नियमित रूप से 100 ग्राम अमरूद के पत्तों से बना काढ़ा पीते हैं, तो पेट और फेफड़ों के कैंसर से बचा जा सकता है। इसके अलावा, अमरूद के पत्ते से कैंसर के मरीजों में डीएनए और अन्य कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाया जा सकता है (7) (3)

12. एलर्जी

अमरूद के पत्तों में एंटी-एलर्जिक गुण पाए जाते हैं। यह गुण शरीर में होने वाली एलर्जी को कम करने में मदद करता है। एक शोध के मुताबिक, इसमें मौजूद एंटी-एलर्जिक गुण एंटी इंफ्लामेटरी साइटोकाइन (एक तरह के प्रोटीन) को बनने से रोकता है (3)

चलिए, अब त्वचा और बालों से संबंधित अमरूद के पत्ते के फायदे पर प्रकाश डालते हैं।

त्वचा और बालों के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे – Skin and Hair Benefits of Guava Leaves in Hindi          

1. मुंहासे और काले धब्बे का उपचार

त्वचा पर होने वाले मुंहासे और काले धब्बों से अक्सर लोग परेशान रहते हैं। इनसे छुटकारा पाने के लिए भी आप अमरूद के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें विटामिन-सी पाया जाता है, जो आपके चेहरे के दाग-धब्बे यानी हाइपरपिगमेंटेशन को दूर करता है (8) (9)। साथ ही इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण आपके मुंहासों को ठीक करते हैं (10)

कैसे इस्तेमाल करें:
  • अमरूद के 10-12 पत्तों को पानी की कुछ बूंदों के साथ ब्लैंडर में पीस लें।
  • अब इस पेस्ट को आप अपने चेहरे पर लगा लें।
  • पेस्ट के सूखने के बाद इसे धो लें।
  • आप रोजाना इस प्रक्रिया को दोहरा सकती हैं।

2. खुजली

इंफेक्शन होने पर त्वचा पर खुजली होने लगती है (11)। वहीं, हम ऊपर लेख में बता ही चुके हैं कि अमरूद के पत्तों में एंटी-इंफेक्टिव प्रभाव मौजूद होते हैं (12), जाे इंफेक्शन को होने से रोकने में मदद कर सकते हैं। ऐसे में इसके लेप के इस्तेमाल से आपको त्वचा पर होने वाली खुजली से राहत मिल सकती है

कैसे इस्तेमाल करें:
  • आप आवश्यकतानुसार अमरूद के पत्तों को पानी के साथ महीन पीस लें।
  • इसका लेप तैयार होने के बाद इसे खुजली से प्रभावित जगहों पर लगाएं।
  • खुजली ठीक न होने तक इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

3. एंटी-एजिंग

अमरूद के पत्तों को स्किन टॉनिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह त्वचा संबंधी परेशानियों से छुटकारा दिलाने में मदद करता है (13)। इसमें ज्यादा मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं (14)। ये मुक्त कणों से आपकी त्वचा को बचाते हैं, जो आपकी त्वचा पर समय से पहले झुर्रियां आने का कारण बनते हैं (15)। साथ ही इसमें विटामिन-सी भी होता है, जो त्वचा पर एंटी-एजिंग की तरह काम करता है (16)

कैसे इस्तेमाल करें:
  • सबसे पहले इसका पेस्ट बनाने के लिए एक जार में अमरूद के मुट्ठी भर पत्ते और पानी डाल लें।
  • अब इसे एक ब्लैंडर में डालकर पीस लें।
  • आप इस पेस्ट को रोजाना अपने चेहरे पर लगा सकते हैं।
  • इसके अलावा, आप इसे फेस टोनर के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आप अमरूद के पत्तों को उबालकर काढ़ा भी बना सकते हैं।
  • इसके ठंडा होने के बाद रूई की मदद से इसे चेहरे पर लगा लें। कुछ समय के बाद चेहरे को साफ कर लें।

4. ब्लैकहेड्स

आप अपने चेहरे के ब्लैकहेड्स को हटाने के लिए भी अमरूद के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। अमरूद के पत्तों को दरदरा पीसकर, इसके पेस्ट से स्क्रब किया जा सकता है

कैसे इस्तेमाल करें:
  • अमरूद के पत्तों और थोड़े-से पानी को ब्लैंडर में डालकर और पीस लें।
  • इसे इस कदर पीसें कि यह दरदरा रहे।
  • अब आप इससे सुबह और शाम चेहरे पर स्क्रब कर सकते हैं।

5. झड़ते बालों के लिए

माना जाता है कि झड़ते बालों के लिए भी अमरूद के पत्ते असरदार साबित हो सकते हैं। कई लोग इसके काढ़े का इस्तेमाल बालों को बढ़ाने के लिए करते हैं। यहां तक कि कुछ उत्पादों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है (17)

कैसे इस्तेमाल करें:
  • आप अमरूद के पत्तों को पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें।
  • इस काढ़े को छानकर आप बालों की मालिश करें।
  • इसके अलावा, आप काढ़े से बालों को धो भी सकते हैं।

अमरूद के पत्तों के फायदे के बाद अब जान लेते हैं इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।

अमरूद के पत्ते के पौष्टिक तत्व – Guava Leaves Nutritional Value in Hindi

अमरूद के पत्ते के फायदे तो आप जान गए हैं। चलिए, अब एक नजर अमरूद के पत्ते में मौजूद पोषक तत्वों और उनकी मात्रा पर भी डाल लेते हैं (8)

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट7mg
स्टार्च6.3mg
प्रोटीन16.8mg
एमिनो एसिड8mg
विटामिन सी103.0mg
विटामिन बी14.80mg
कैल्शियम1660.0mg
आयरन13.50mg
मैग्नीशियम440mg
फास्फोरस360mg
पोटैशियम417mg

अमरूद के पत्तों के पोषक तत्व के बाद आइए बात करते हैं कि अमरूद के पत्ते का उपयोग कैसे किया जाता है।

अमरूद के पत्ते का उपयोग – How to Use Guava Leaves in Hindi

अमरूद के पत्ते का इस्तेमाल आप त्वचा और स्वास्थ्य के लिए कर सकते हैं। यह तो आप ऊपर दिए गए अमरूद के पत्तों के फायदे से जान ही चुके हैं। अब बात करते हैं कि इन फायदों के लिए अमरूद के पत्ते का उपयोग किस तरह से करना है।

  • अमरूद के पत्ते का आप काढ़ा बनाकर पी सकते हैं।
  • अमरूद का प्रयोग चाय बनाने के लिए किया जा सकता है।
  • अमरूद के पत्तों को आप पेस्ट बनाकर त्वचा में लगा सकते हैं।
  • अमरूद के पत्ते के पेस्ट को तेल में मिलाकर आप इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अमरूद के पत्तों को पकाने के बाद ठंडा करके फेस टॉनिक के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है
  • आप इसका इस्तेमाल किसी भी वक्त कर सकते हैं।

अमरूद के पत्तों के फायदे और उपयोग जानने के बाद अब बात करते हैं अमरूद के पत्ते के नुकसान की।

अमरूद के पत्ते के नुकसान – Side Effects of Guava Leaves in Hindi

अमरूद के पत्तों में भरपूर औषधीय गुण होने की वजह से इसके नुकसान काफी कम है। बस ध्यान रखें कि आप इसका सेवन अत्यधिक मात्रा में न करें, क्योंकि अधिक मात्रा हर किसी चीज की हानिकारक होती है।

  • अमरूद के पत्तों में हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है, जो उच्च रक्तचाप के स्तर को कम करने में मदद करता है (18)ऐसे में इसके अधिक सेवन से आपका रक्तचाप जरूरत से ज्यादा कम हो सकता है और आपको कमजोरी महसूस हो सकती है
  • गर्भवतियां इसका सेवन कर सकती हैं या नहीं यह स्पष्ट नहीं है, इसलिए गर्भवतियों को इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

अमरूद के पत्तों के फायदे तो आप पढ़ ही चुके हैं। अब अगर ऐसा कहा जाए कि अमरूद से ज्यादा गुण इसके पत्तों में है, तो गलत नहीं होगा। आप अमरूद के पत्तों को बिना किसी हिचक के अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं, क्योंकि पौष्टिक तत्वों से भरपूर अमरूद के पत्ते में न के बराबर नुकसान होता है। आप लेख में दिए गए तरीकों का इस्तेमाल कर अमरूद के पत्तों से स्वास्थ्य लाभ उठाएं। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में दी गई जानकारी आपके काम आएगी। इस लेख को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करना न भूलें।

References

Articles on thebridalbox are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Health Effects of Psidium guajava L. Leaves: An Overview of the Last Decade
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5412476/
  2. Antimicrobial Activities of Leaf Extracts of Guava (Psidium guajava L.) on Two Gram-Negative and Gram-Positive Bacteria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3817707/
  3. Potential anti-dengue medicinal plants: a review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3765846/
  4. Spermatoprotective activity of the leaf extract of Psidium guajava Linn
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18163132/
  5. Antimicrobial Activities of Leaf Extracts of Guava (Psidium guajava L.) on Two Gram-Negative and Gram-Positive Bacteria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3817707/
  6. Psidium guajava: A Single Plant for Multiple Health Problems of Rural Indian Population
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5628524/
  7. Biochemical and mineral analysis of the undervalued leaves
    http://webcache.googleusercontent.com/search?q=cache:gSfMNPSC0BkJ:www.allsciencejournal.com/download/128/2-2-49-436.pdf+&cd=3&hl=en&ct=clnk&gl=in
  8. Vitamin C in dermatology
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3673383/
  9. Antimicrobial Activities of Leaf Extracts of Guava (Psidium guajava L.) on Two Gram-Negative and Gram-Positive Bacteria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3817707/
  10. Skin Infections
    https://medlineplus.gov/skininfections.html
  11. Anti-infective efficacy of Psidium guajava L. leaves against certain pathogenic bacteria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6468707/
  12. Psidium guajava: A Single Plant for Multiple Health Problems of Rural Indian Population
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5628524/
  13. Antioxidant power of phytochemicals from Psidium guajava leaf
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15101101/
  14. Free radicals and aging of the skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/1450595/
  15. The Roles of Vitamin C in Skin Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579659/
  16. Guava
    https://dpi.wi.gov/sites/default/files/imce/school-nutrition/pdf/fact-sheet-guava.pdf
  17. Hypoglycemic and hypotensive effects of Psidium guajava Linn. (Myrtaceae) leaf aqueous extract
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16395418/

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the nutrition facility at PSRI Hospital, New Delhi. She has taught Nutrition and Health Education at the University of Delhi for over 7 years.

Read full bio of Neelanjana Singh