क्या आप अपने शिशु की त्वचा के बारे में ये चीजें जानती हैं?

Written by , MA (Mass Communication) Anuj Joshi MA (Mass Communication)
Last Updated on

हर नवजात शिशु की त्वचा बेहद संवेदनशील होती है। अगर उसकी देखभाल व साफ-सफाई में अनदेखी की जाए, तो त्वचा में संक्रमण होने के साथ-साथ रूखी व बेजान भी हो सकती है। इसके अलावा, रैशेज, घमौरियां, क्रैडल कैप व मुंहासे आदि का सामना करना पड़ सकता है। इतना ही नहीं बदलते मौसम के कारण भी शिशु की त्वचा प्रभावित होती है। जो महिलाएं पहली बार मां बनती हैं, उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती यही रहती है कि कैसे शिशु की त्वचा का ध्यान रखा जाए। साथ ही कई बार वह शिशु की त्वचा में हो रहे बदलाव को समझ नहीं पाती हैं। इस लेख में हम इसी मुद्दे पर चर्चा करेंगे और कुछ ऐसे जरूरी नुस्खे बताएंगे, जो आपके शिशु को त्वचा से जुड़ी हर प्रकार की परेशानी से दूर रखेंगे। साथ ही कुछ हर्बल बेबी प्रोडक्ट्स के बारे में भी बताएंगे, जो शिशु की त्वचा के लिए जरूरी हैं।

रूखी त्वचा : बड़ों की तरह नवजात शिशु की त्वचा भी रूखी होती है। ऐसा अमूमन सर्दियों में देखने को मिलता है। एक तो शुष्क मौसम और ऊपर से हर कोई अपने घर में हीटर का प्रयोग करता है। इस कारण से शिशु की त्वचा में मौजूद प्राकृतिक नमी खोने लगती है। हालांकि, ऐसा गर्मियों में भी देखने को मिल सकता है, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। यहां हम कुछ जरूरी नुस्खे बता रहे हैं, जिससे इस समस्या से शिशु को बचाया जा सकता है।

  • शिशु को हफ्ते में कम से कम तीन बार तो हल्के गुनगुने पानी से नहलाना चाहिए। ठंड से बचाने के लिए उसे फटाफट नहलाकर नर्म व मुलायम तौलिये में लपेट दें। नहलाने के लिए आप हिमालय मॉइस्चराइजिंग बेबी साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे उसकी त्वचा में नमी बरकरार रहेगी। इस साबुन में जैतून का तेल होता है, जो शिशु की त्वचा को कोमलता प्रदान करता है।

Himalaya

  • अक्सर नन्हे बच्चों के सिर पर क्रैडल कैप हो जाते हैं। यह त्वचा के रूखे होने व डैंड्रफ के कारण होते हैं। हालांकि, शुरुआती दो हफ्तों तक शिशु के सिर को सिर्फ गुनगुने पानी से हल्के-हल्के हाथों की मदद से साफ करने की सलाह दी जाती है, ताकि किसी प्रकार की गंदगी जमा न हो। वहीं, जब सिर पर बाल उग आते हैं, तो नैचुरल व माइल्ड शैंपू इस्तेमाल किया जा सकता है। इस मामले में हिमालय जेंटल बेबी शैंपू सबसे बेहतर है। यह आंखों व सिर में बिना किसी प्रकार की जलन के बालों की जड़ों को अच्छी तरह से साफ करके उन्हें पोषण देता है।

Himalaya

  • बेशक, साबुन और शैंपू अच्छी क्वॉलिटी का इस्तेमाल करें, लेकिन नहलाने के बाद मालिश भी जरूरी होती है। कभी-कभी नहलाने से पहले भी मालिश की जा सकती है। मालिश के लिए हिमालय बेबी मसाज ऑयल का प्रयोग कर सकते हैं। इसमें जैतून का तेल और विंटर चेरी शामिल होती है, जिससे शिशु को पर्याप्त रूप से नमी मिलती है।

घमौरियां : गर्मियों में नवजा शिशु को खुजली और घमौरी होने की आशंका ज्यादा होेती है। घमौरियां होने पर बड़ों की तरह नन्हे शिशु को भी परेशानी होती है, लेकिन वह बोलकर अपनी तकलीफ के बारे में बता नहीं पाते। अगर आप चाहते हैं कि गर्मियों में भी आपका शिशु हंसता और खेलता रहे, तो हिमालय प्रिक्ली हीट बेबी पाउडर का इस्तेमाल जरूर करें। इस पाउडर में नीम है, जो एंटीमाइक्रोबियल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता हैं, जिससे लाल धब्बे और सूजन खत्म हो जाती है। साथ ही इसमें जिंक होता है, जो घावों को भरने में मदद करता है। इस पाउडर को लगाने से शिशु को ठंडक का अहसास होता है।

Himalaya

रैशेज : नन्हे शिशु की त्वचा बेहद कोमल और संवेदनशील होती है, जिस कारण उसे रैशेज होना आम बात है। कई बार बच्चे का डायपर जल्दी गीला होे जाता है। अगर समय रहते उसे न बदला जाए, तो गीले डायपर की वजह से बच्चे को रैशेज हो सकते हैं। इससे निपटने का सबसे बेहतर तरीका यही है कि समय-समय पर डायपर बदलते रहें और जब भी डायपर बदलें, तो पहले शिशु की त्वचा को अच्छी तरह साफ कर लें। साथ ही कुछ देर के लिए उसे प्राकृतिक तरीके से सूखने दें। इसके बाद ही डायपर पहनाएं। अगर फिर भी रैशेज होते हैं, तो हिमालय डायपर रैश क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस क्रीम में यशद भस्म होती है, जो बच्चों की कोमल त्वचा के लिए फायदेमंद है।

यह तो स्पष्ट है कि शिशु को जितनी जरूरत आपके प्यार और अच्छे खान-पान की होती है, उतनी ही जरूरत सही देखभाल और साफ-सफाई की भी होती है। इस मामले में कई तरह की सावधानियां बरतने के साथ-साथ हर्बल युक्त, सुरक्षित, प्रमाणित और विश्वसनीय बेबी केयर प्रोडक्ट्स का प्रयोग करना भी जरूरी है। इस मामले में हिमालय के उत्पाद सभी कसौटियों पर खरे उतरते हैं। इसलिए, जब आप अगली बार अपने शिशु के लिए कोई प्रोडक्ट खरीदने बाजार जाएं, तो उसकी कोमल, मुलायम व संवदेनशील त्वचा को जरूर ध्यान में रखें।

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Anuj Joshi
Anuj Joshiचीफ एडिटर
.

Read full bio of Anuj Joshi
Latest Articles